इंदौर

इंदौर: उत्तेजना बढ़ाने वाले ड्रग्स के साथ पकड़ा गया सावधान इंडिया का एक्टर

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 5:56 AM GMT
इंदौर: उत्तेजना बढ़ाने वाले ड्रग्स के साथ पकड़ा गया सावधान इंडिया का एक्टर
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

सावधान इंडिया, माता की चौकी, क्राइम पेट्रोल सीरियल सहित फिल्म सत्याग्रह के एक्टर को एसटीएफ ने ड्रग्स सहित पकड़ा।

इंदौर. सावधान इंडिया, माता की चौकी, क्राइम पेट्रोल सीरियल सहित फिल्म सत्याग्रह के एक्टर को एसटीएफ ने ड्रग्स सहित पकड़ा। वह दोस्तों के साथ मुंबई से लौट रहा था। उसका कहना है, खुद के इस्तेमाल के लिए ड्रग्स मुंबई से खरीदी थी। एसटीएफ डीएसपी डीके सिंह ने बताया, गुरुवार रात एक एसयूवी कार में युवक के ड्रग्स लेकर जाने की सूचना पर मांगलिया में कार रोकी गई। एएसआई सुरेंद्र शर्मा, टीसी कोटले, हेड कांस्टेबल दीपक चाचर, सिपाही विनोद यादव ने तलाशी ली तो पुष्पेंद्र उर्फ सोहमसिंह ठाकुर (32) निवासी भोपाल के पास 7.72 ग्राम मैथाड्रान (एमडी) मिला। इसकी कीमत 20 हजार रुपए है।

यह भी पढ़ें : रीवा की श्रुति के बाद ड्रग्स के मामले में अब भोपाल की अदिति की भी हुई गिरफ्तारी

पुष्पेंद्र के साथ पांच दोस्त भी थे। ये सभी मुंबई से लौट रहे थे। पुष्पेंद्र माता की चौकी, क्राइम पेट्रोल, सावधान इंडिया सीरियल में काम कर रहा है। फिल्म सत्याग्रह व अन्य में भी काम कर चुका है। करीब १० साल से मुंबई में सक्रिय है। वह इवेंट मैनेजमेंट का काम देखने के अलावा शादियों में कोरियाग्राफी करता है। भोपाल में विट्ठल मार्केट में बियर बार चलाता था, जो पिछले साल बंद कर दिया। उसका परिवार भोपाल में रहता है। वह भोपाल से दोस्तों को शूटिंग दिखाने मुंबई ले गया था। मुंबई से खुद के इस्तेमाल के लिए ड्रग्स खरीदी थी। दोस्तों को इसकी जानकारी नहीं थी। पुष्पेंद्र ने भी इसकी पुष्टि की। जब्त की गई कार पुष्पेंद्र के दोस्त शशांक की है। पुष्पेंद्र को एनडीपीएस एक्ट में केस दर्ज कर शुक्रवार को कोर्ट में पेश किया, जहां से पांच दिन का रिमांड मिला है। एसटीएफ टीम पुष्पेंद्र को मुंबई ले जाकर पता लगाएगी कि वह किससे ड्रग्स खरीदता रहा है।

रेव पार्टी में इस्तेमाल

मैथाड्रान का इस्तेमाल रेव पार्टी में किया जाता है। ये उत्तेजना बढ़ाता है। इसे पन्नी या कागज पर रखकर गर्म कर सूंघा जाता है। ड्रग्स लेने के बाद व्यक्ति को कोई होश नहीं रहता।

पिता रह चुके टीआई

पुष्पेंद्र के पिता भोपाल में पुलिस की फिंगर प्रिंट शाखा में टीआई रहे। चार साल पहले ब्रेन हेमरेज से उनकी मौत हो गई। पुष्पेंद्र के छोटे भाई को उनकी जगह विभाग में नौकरी मिली। फिलहाल वह भोपाल में पदस्थ है। पुष्पेंद्र की पत्नी भोपाल में परिवार के साथ रहती है।

Next Story