Walking is a good exercise, but it also requires caution.jpg

टहलना एक अच्छा व्यायाम है, लेकिन इसमें भी सावधानी की आवश्यक...

RewaRiyasat.Com
Sandeep Tiwari
05 Mar 2021

किसी भी व्यायाम को करने से पहले हमें उसके सही तरीके के बारे में जानना चाहिए। आज हम बात कर रहे हैं टहलने के लिए। कहा जाता है कि प्रतिदिन मात्र 20 से 30 मिनट टहलना स्वास्थ्य के लिए पर्याप्त होता है। टहलने से दिल के साथ शरीर की मांसपेशियों में मजबूती आती है। दिल की बिमारी, टाइप 2 मधुमेह, ऑस्टियोपोरोसिस और कई तरह के कैंसर पर लाभ होता है।

आमतौर पर भी देखा गया कि एक बीमार व्यक्ति भी जब धीरे-धीरे ठीक होने लगता है तो उसे डाक्टर भी थेडा बहुत टहलने की सलाह देते हैं। तो वही स्वस्थ आदमी तो हर सुबह तथा मौका मिले तो साम को भी टहलना चाहता है।
टहलना स्वास्थ्य के लिए सबसे सरल और सहज व्यायाम में से एक है। यह एक व्यायाम है जिसे व्यक्ति अपने शरीर के बल और स्थिति के आनुसार उपयोग कर अपने को स्वस्थ और तरोताजा रख सकता है। लेकिन क्या अपको पता है कि किसे कितना और किस तरह टहलना चाहिए। 

आज भागदौड की जिंदगी में लेाग हर काम करना तो चाहते हैं लेकिन उसके नियमों को फालो नहीं करना चाहते। ऐसे में स्वास्थ्य लाभ के लिए किया जाने वाला कार्य भी हमें गलत परिणाम देता है। फिर कहा जाता है कि इस व्यायाम से लाभ नही मिल रहा है। 

टहलने का तरीका है कि हमे टहलते समय सीधे खडे़ होने की पोजीसन पर रहना चाहिये। चलते-चलते कभी झुकना या झुकर बिलकुल नहीं चलना चाहिए। इससे पीठ में तकलीफ होने की संभावना रहती है। अगर टहलने के दौरान कमर में जकडन लगे तो थोडी देर रुकर धीरे-धीरे कमर को झुकाना और सीधा होने की क्रिया करनी चाहिए। 

टहलते समय हांथ को खोलकर चलना चाहिए उसे शारीर के बगल में स्थिर कर नहीं चलना चाहिए। एक जानकारी के अुसार उम्र के आधार पर कितना टहलना है इसे निश्चित करना चाहिए। ऐसा करने से बहुत लाभ मिलता है।
 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER