General Knowledge

वैज्ञानिकों ने सूरज की एक्सपायरी डेट बता दी है, ठंडा पड़ जाएगा सूर्य, जीवन ख़त्म हो जाएगा

वैज्ञानिकों ने सूरज की एक्सपायरी डेट बता दी है, ठंडा पड़ जाएगा सूर्य, जीवन ख़त्म हो जाएगा
x
When Sun Will Die: अरबों साल से अस्तित्व में है लेकिन इस संसार में हर चीज़ की एक्सपायरी डेट होती है, एक वक़्त ऐसा आएगा जब सूरज ठंडा पड़ जाएगा और इसी के साथ पृथ्वी से भी जीवन का नामोनिशान मिट जाएगा

When Sun Will Die: सूर्य हमारे सौर्य मंडल का मुखिया है, सूर्य है तो जीवन है, सूरज भी इस ब्रम्हांड का एक तारा है जो अरबो साल पहले वजूद में आया, लेकिन इस संसार में जो भी जन्म लेता है उसकी एक्सपायरी डेट भी होती है, यानी के एक दिन ऐसा वक़्त भी आएगा जब सूर्य का तेज ठंडा पड़ जाएगा और इसी से साथ पृथ्वी में भी जीवन समाप्त हो जाएगा।

साल 2021 के अंत में वैज्ञानिकों ने सूर्य के अंत की भी तारिख बता दी है, साइंटिस्ट्स का कहना है कि एक समय ऐसा आएगा जब सूर्य जल कर राख हो जाएगा और ठंडा पड़ने लगेगा। वैज्ञानिकों ने सूर्य की एक्सपायरी डेट का अनुमान न्यूक्लियर रिएक्शन (Nuclear Reaction) से लगाया है।

कैसे कौन किसने पता किया

स्मिथसोनियन एस्ट्रोफिजिकल ऑब्जर्वेटरी (Smithsonian Astrophysical Observatory), हार्वर्ड कॉलेज ऑब्जर्वेटरी (Harvard College Observatory) और द सेंटर फॉर एस्ट्रोफिजिक्स (the Centre for Astrophysics) के वैज्ञानिकों रिसर्च में पाया है कि आने वाले 5 बिलियन सालों में अपना सूरज खत्म हो जाएगा. उन्होंने ये भी कैलकुलेट किया कि सूरज असल में अभी अपनी मध्यावस्था में है. यानी के अपनी आधी उम्र सूरज जी चुका है।

कैसे ख़त्म होगा सूरज

इस प्रॉजेक्ट पर रिसर्च कर रहे एक वैज्ञानिक पाओला टेस्टा ने बताया कि, न्यूक्लियर रिएक्शन के आधार पर ये कैलकुलेशन किया गया है. उन्होंने कहा कि विज्ञान की दुनिया में ब्रम्हांड के बारे में अभी भी कई सारी बातें सामने नहीं आई है. उन्होंने आगे कहा कि 1930 से पहले ये माना जाता था सूरज की शक्ति ग्रैविटेशनल फ़ोर्स से आती है. लेकिन अब न्यूक्लियर शक्ति के बारे में मालूम हुआ है. सूरज अपनी न्यूक्लियर एनर्जी से जलता है और जिस दिन ये खत्म हो जाएगा उस दिन सूरज भी नष्ट हो जाएगा।

तो पृथ्वीवासियों का क्या होगा

जब सूरज ठंडा पड़ जाएगा तो उसकी चमक पृथ्वी तक नहीं पहुंच पाएगी, हमारे सौर्य मंडल के सभी ग्रहों तक रौशनी नहीं पहुंचेगी और सौर्यमंडल अन्धकार में समा जाएगा, सूर्य के नष्ट होने के कुछ ही देर बाद पृथ्वी का तापमान तेज़ी से गिरने लगेगा, समुद्रन, नदी तालाब बर्फ में तब्दील हो जाएंगे, इतनी ठंड पड़ेगी के मिटटी भी जम जाएगी, पेड़ सुख जाएंगे और पृथ्वी का कोई भी प्राणी उस ठंड को बर्दाश्त नहीं कर पाएगा। इसी के साथ पृथ्वी एक बर्फ का गोला बन जाएगी। लेकिन आपको इस बारे में चिंता करने की कोई जरूरत नहीं है, सूर्य का अंत 5 बिलियन साल बाद होगा तबतक आपको करोड़ों पुश्तें भी ज़िंदा नहीं रहेंगी। लेकिन जो भी उस मंजर को देखेगा वो काफी भयावह होगा

Next Story