General Knowledge

जानिए क्या है भारत और ब्रिटेन के बीच में मुक्त व्यापार समझौता

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:26 AM GMT
जानिए क्या है भारत और ब्रिटेन के बीच में मुक्त व्यापार समझौता
x
जानिए क्या भारत और ब्रिटेन के बीच में मुक्त व्यापार समझौतावीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित संयुक्त आर्थिक एवं व्यापार समिति

जानिए क्या है भारत और ब्रिटेन के बीच में मुक्त व्यापार समझौता

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित संयुक्त आर्थिक एवं व्यापार समिति (Joint Economic and Trade Committee-JETCO) की 14वीं बैठक के दौरान भारत और ब्रिटेन ने आर्थिक संबंधों को मज़बूत करने के उद्देश्य से मुक्त व्यापार समझौते (Free Trade Agreeme-FTA) के प्रति साझा प्रतिबद्धता की पुष्टि की है।

10 बेस्ट DECORATION का सामान जो Amazon पर सस्ते में मिल रहा है… अभी देखे

प्रमुख बिंदु

  • गौरतलब है कि भारत और ब्रिटेन दोनों देशों के बीच हाल ही में आयोजित 14वीं संयुक्त आर्थिक एवं व्यापार समिति (JETCO) की बैठक के दौरान इस विषय पर चर्चा की गई। वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल और ब्रिटेन की अंतर्राष्ट्रीय व्यापार मंत्री एलिज़ाबेथ ट्रस ने संयुक्‍त तौर पर इस बैठक की अध्यक्षता की।

Sushant Singh Rajput की Oreo से बनी तस्वीर खूब हो रही Viral, देखिये Viral Video

14वीं संयुक्त आर्थिक एवं व्यापार समिति- मुख्य निर्णय

  • संयुक्त आर्थिक एवं व्यापार समिति (JETCO) की 14वीं बैठक के दौरान भारत और ब्रिटेन दोनों ही देशों के प्रतिनिधियों ने मुक्त व्यापार समझौते (FTA) पर अपनी प्रतिबद्धता व्यक्त करते हुए दोनों देशों के बीच मौजूद व्यापार बाधाओं को समाप्त करने पर सहमति व्यक्त की। बैठक के दौरान निर्णय लिया गया कि मुक्त व्यापार समझौते (FTA) की दिशा में प्रारंभिक उपायों के तौर पर दोनों पक्ष चरणबद्ध तरीके से सीमित व्यापार समझौते करेंगे।

Rakhi & Rakhi Hampers starting INR 180

  • बैठक में यह भी तय किया गया है कि मुक्त व्यापार समझौते (FTA) के संबंध में बातचीत को आगे बढ़ाने के लिये पीयूष गोयल और एलिज़ाबेथ ट्रस के नेतृत्त्व में आगामी दिनों में एक बैठक का आयोजन किया जाएगा।वाणिज्य एवं उद्योग मंत्रालय द्वारा जारी आधिकारिक सूचना के अनुसार, वाणिज्य एवं उद्योग राज्य मंत्री हरदीप सिंह पुरी और ब्रिटेन में उनके समकक्ष रानिल जयवर्धने इस संबंध में वार्ता को आगे बढाने के लिये मासिक बैठकों का आयोजन भी करेंगे।

RAKHI-रक्षा बंधन 2020 के लिए शीर्ष 10 उपहार

मुक्त व्यापार समझौता और भारत

  • सामन्यतः FTAs का प्रयोग दो या दो से अधिक देशों के बीच व्यापार को सरल बनाने के उद्देश्य से किया जाता है। FTA के तहत दो अथवा दो से अधिक देशों के बीच वस्तुओं एवं सेवाओं के आयात-निर्यात पर सीमा शुल्क, नियामक कानून, सब्सिडी और कोटा आदि को सरल बनाया जाता है।

Upto 70% off on Flipflops

  • गौरतलब है कि FTA के अंतर्गत बौद्धिक संपदा अधिकार (IPR), निवेश, सार्वजनिक खरीद तथा प्रतिस्पर्द्धा संबंधी नीतियों को भी कवर किया जाता है। बीते कुछ दिनों में भारत की मुक्त व्यापार संबंधी नीति में परिवर्तन दिखाई दे रहा है और भारत अमेरिका, यूरोपीय संघ (EU) तथा ब्रिटेन जैसे देशों के साथ व्यापार समझौतों पर नए सिरे से ध्यान केंद्रित कर रहा है, जो कि भारतीय निर्यातकों के लिये एक प्रमुख बाज़ार हैं।

vivo V17 | Upto 18 months NCE

  • बीते दिनों विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने कहा था कि FTAs ने भारत के क्षमता निर्माण में कुछ खास मदद नहीं की है। हालाँकि उन्होंने स्पष्ट किया था कि सभी FTAs एक समान नहीं है।

टॉप 10 Amazon पर सस्ते kitchen प्रोडक्ट्स, जो आपके day-to-day लाइफ में बहुत मदद करेंगे

भारत और ब्रिटेन- आर्थिक संबंध

  • भारत विश्व की सबसे तेज़ी से विकसित होती अर्थव्यवस्था है और भारत में एक बड़ी संख्या में मौजूद मध्य वर्ग ब्रिटिश निर्यातकों के लिये एक मुख्य आकर्षण है। आँकड़ों के अनुसार, पिछले वर्ष भारत और ब्रिटेन के बीच कुल 24 बिलियन पाउंड (Pound) का द्विपक्षीय व्यापार हुआ था। बीते दिनों ब्रिटेन सरकार के तहत अंतर्राष्ट्रीय व्यापार विभाग (DIT) द्वारा जारी आँकड़ों में सामने आया था कि वित्तीय वर्ष 2019-20 में भारत, ब्रिटेन में विदेशी प्रत्यक्ष निवेश (FDI) का दूसरा सबसे बड़ा स्रोत बन गया था।

Upto 30% off on The Man Company products

  • ध्यातव्य है कि भारत और ब्रिटेन एक मज़बूत और ऐतिहासिक संबंध साझा करते हैं।
  • ब्रिटेन, भारत के प्रमुख व्यापारिक भागीदारों में है।
  • और वित्तीय वर्ष 2016-17 के दौरान शीर्ष 25 व्यापारिक भागीदारों की सूची में 15वें स्थान पर था।

दुनिया के सबसे भाग्यशाली लोग जो मौत के मुँह से बच निकले… देखें Video

वायरल न्यूज़ के लिए AJEEBLOG.COM विजिट करते करिये

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

Facebook, Twitter, WhatsApp, Telegram, Google News, Instagram

Next Story
Share it