General Knowledge

अमेरिकी प्रेसिडेंट, देश के राष्ट्रपति और पीएम मोदी से लेकर विधायकों को कितनी सैलरी मिलती है ये जान कर बुद्धि हिल जाएगी

Abhijeet Mishra
23 Oct 2021 10:33 AM GMT
अमेरिकी प्रेसिडेंट, देश के राष्ट्रपति और पीएम मोदी से लेकर विधायकों को कितनी सैलरी मिलती है ये जान कर बुद्धि हिल जाएगी
x
भारतवासी जो टैक्स देते हैं उसी से नेताओं को तनख्वाह बांटी जाती है

क्या आपने कभी सोचा है कि देश की बागडोर सँभालने वाले भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्रमोदी को सरकार कितनी तनख्वाह देती है या फिर अमेरिका के प्रेसिडेंट जो बाइडेन को कितनी सैलरी मिलती है। आज हम चुन चुन के ये जानकारी आपके लिए लेकर आये हैं। भारत के राष्ट्रपति से लेकर विधानसभा के विधायकों को मिलने वाली सैलरी और सुविधाओं के बारे में आपको हम बताने जा रहे हैं और ये भी बताएंगे की विश्वशक्ति अमेरिका के प्रेसिडेंट को कितनी तनख्वाह मिलती है।

राष्ट्रपति की सैलरी तो बड़ी सॉलिड है

वैसे सरकारी नौकरी हो तो राष्ट्रपति की जिनको खाना पीना, घूमना, रहना, सब तो फ्री ही रहता है, खुद की बुलेटप्रूफ लक्सरी कार्स और खुद का विशाल ऐरोप्लेन, z+ सुरक्षा और क्या चाहिए भाई। आपको बता दें कि देश के राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद को हर महीने 5 लाख रुपए की सैलरी मिलती है। हाँ भाई 5 लाख रुपए। और जब राष्ट्रपति सेवानिवृत हो जाएंगे तब उन्हें पेंशन के रूप में 1.5 लाख रुपए हर महीने मिलेंगे और उनकी पत्नी को 30 हज़ार रुपए सेक्रेटियल सहायता के रूप में मिलेगें।

उप राष्ट्रपति की तनख्वाह कोई कम नहीं है

भारत में उप राष्ट्रपति को राष्ट्रपति की तरह कई भत्ते मिलते हैं। इन्हे भी बुलेट प्रूफ कार, हेलीकाप्टर, जेट, z+ सुरक्षा मिलती है। देश के वर्तमान उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू हैं जिन्हे हर महीने 4 लाख रुपए बतौर तनख्वाह के रूप में मिलते हैं।

प्रधानमंत्री को बाकि दोनों से काफी कम मिलता है

देश के प्रधानमंत्री को राष्टपति और उप राष्ट्रपति की तुलना में काफी कम वेतन मिलता है। देश के पीएम नरेंद्र मोदी को हर माह सिर्फ 1.60 लाख रुपए मिलते हैं। वैसे देखा जाए तो देश में सबसे बड़ा पद भले की राष्ट्रपति का हो लेकिन सरकार प्रधानमंत्री के ज़िम्मे होती है। हालांकि पीएम मोदी की बहुकलबाज़ी के आगे बाकी नेताओं का स्टेटस कुछ भी नहीं है। इसके अलावा पीएम को अन्य सरकारी भत्ते भी मिलते हैं।

राजयपाल को तो पीएम से ज़्यादा मिलता है

देश के प्रदेशों के गवर्नर यानी के राजयपालों को प्रधानमंत्री से ज़्यादा वेतन मिलता है। एक गवर्नर को हर महीने 3.5 लाख रुपए मिलते हैं। मतलब पीएम की तनख्वाह के दोगुना से भी ज़्यादा।

मुख्यमंत्री को कितना मिलता है

देश के अलग अलग प्रदेशों के मुख्यमंत्रियों को अलग अलग वेतन मिलता है, जैसे कि दिल्ली के CM अरविन्द केजरीवाल को महीने का 3.90 लाख रुपए मिलते हैं। जबकि यूपी के CM योगी आदित्यनाथ को 3.65 हज़ार और सिक्किम, केरल के मुख्यमंत्रियों को 1.90 लाख के आसपास मासिक वेतन मिलता है। एमपी के CM शिवराज सिंह चौहान को 2 लाख रुपए मिलते हैं।

सांसदों की सैलरी थोड़ा कम है

देश की लोकसभा सीटों को जीतने वाले जिले के सांसदों को महीने का सिर्फ 50 रुपए बेसिक सैलेरी के रूप में दिया जाता है। हालाँकि इसके बाद इतने भत्ते मिलते हैं कि सैलरी 80 से 90 हज़ार पहुँच ही जाती है। वहीँ फ्री गाडी, फ्री घर मुफ्त में बिजली, नौकर चाकर ये सब तो मिलता ही है।

विधायकों को कितनी सैलरी मिलती है

जैसे मुख्यमंत्री की सैलरी अलग अलग रहती है वैसे विधायकों की तनख्वाह भी राज्य के हिसाब से मिलती है। भारत के तेलंगना के विधायकों को हर महीने 2.50 लाख रुपए मिलते हैं। मध्यप्रदेश में 1.10 हज़ार सैलरी मिलती है। सबसे कम सैलरी त्रिपुरा के MLAs को मिलती है सिर्फ 34 हज़ार।

अमेरिकी प्रेसिडेंट को कितना मिलता है

अमेरिका के प्रेसिडेंट जो बाइडन को इतना पैसा मिलता है की जान कर आपकी बुद्धि खुल जाएगी। उन्हें प्रति वर्ष 4 लाख डॉलर मतलब की लगभग 3 करोड़ रुपए मिलते हैं। इसके अलावा 50 हज़ार डॉलर एक्सपेंस के लिए ,1 लाख डॉलर का नॉन टैक्सेबल ट्रेवल अकाउंट,और 19000 हज़ार डॉलर का एंटरटेनमेंट भत्ता मिलता है।

Next Story
Share it