General Knowledge

Gautam Adani Success Secrets: कॉलेज छोड़ कैसे बने गौतम अडानी 7050 करोड़ डॉलर के मालिक ?

Suyash Dubey
26 Oct 2021 2:18 PM GMT
Gautam Adani Success Secrets: कॉलेज छोड़ कैसे बने गौतम अडानी 7050 करोड़ डॉलर के मालिक ?
x
Gautam Adani Success Secrets: क्या आपको पता है? भारत समेत दुनियां के सबसे अमीर लोगो में से एक गौतम अडानी कॉलेज ड्राप आउट है। जानिए उनकी जिंदगी से जुड़े रोचक किस्से..

Gautam Adani Success Secrets: भारत के नामी उद्योगपति गौतम शांतिलाल अडानी (Gautam Shantilal Adani) विश्व के 22वें सबसे अमीर व्यक्ति हैं और भारत के दूसरे सबसे अमीर व्यक्ति हैं अदानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी अपने बचपन से ही सबसे अमीर होने के सपने देखते मगर पढ़ाई में बिल्कुल भी दिल नहीं लगता था भारत के लोगों की यही मानसिकता है कि जो पढ़ाई लिखाई में अव्वल है केवल वही अमीर या सफल हो सकता है मगर इन सारी मानसिकताओं को तोड़ने वाले उदाहरण के रूप में गौतम अडानी सबसे ऊपर माने जाते हैं।

Gautam Adani भी है कॉलेज ड्रॉप आउट


गौतम अडानी (Gautam Adani) के जीवन पर लिखी गई पुस्तक 'द राइज ऑफ़ गौतम अदानी' ('The Rise of Gautam Adani') में हमें यह व्याख्यान मिलता है कि जब वे गुजरात यूनिवर्सिटी (Gujarat University) से बी.कॉम (B COM) की शिक्षा ग्रहण कर रहे थे तब उन्हें अक्सर ये ख्याल आता था कि वह कॉलेज छोड़ दें क्योंकि उनकी शिक्षा प्रति बिल्कुल भी इच्छा नहीं थी वह अपना बिजनेस शुरू करना चाहते थे फिर उन्होंने अपने जीवन में एक बड़ा कदम उठाया और अपने सपने को एक मौका देते हुए सेकंड ईयर में कॉलेज की पढ़ाई छोड़ दी जिसके बाद उन्होंने अपने पिताजी का हाथ बटाना शुरू किया, उनके पिताजी की कपड़ों को लपेटने वाली प्लास्टिक बनाने की फैक्ट्री थी।

धीरूभाई अंबानी (Dhirubhai Ambani) से थे प्रेरित


1980 के दशक में धीरूभाई अंबानी (Dhirubhai Ambani) भी विश्व में बिजनेस की दुनिया में जाना माना नाम बन गए थे और गौतम अडानी उनसे बहुत प्रेरित भी थे उन पर लिखी पुस्तक के अनुसार उन्हें देखकर काफी कुछ सीखना चाहते थे गौतम अडानी (Dhirubhai Ambani) के भाग्य में धीरूभाई अंबानी से मिलना तय था और वह संयोग भी हुआ जब गौतम अडानी ने धीरूभाई अंबानी को अपना ग्राहक बना लिया था। एक वेबसाइट के अनुसार गौतम अडानी ने अपने पिता की फैक्ट्री को रिलायंस (Reliance) का ऑर्डर दिलाया था। गौतम दिनभर धीरूभाई अंबानी के घर के बाहर खड़े रहते थे। वे ये पता लगाने का प्रयास करते थे कि अन्य प्रतिस्पर्धी मार्केट में क्या रेट दे रहे हैं। जिसको देखते हुए उन्होंने इसे ध्यान में रखते हुए उन्हे कम रेट ऑफर किया और रिलायंस को अपना ग्राहक बना लिया।

अडानी एक इंटरव्यू में बताते हैं कि,''मैं बचपन में कांडला पोर्ट घूमने जाया करता था लेकिन मैंने कभी नहीं सोचा था कि वह बच्चा एक दिन इसी पोर्ट का मालिक बन जाएगा।"

कॉलेज के बाद अडानी ने काफी समय तक अपने पिताजी के साथ काम किया और बिजनेस को सफल भी बनाया मगर उसके बाद में मुंबई के हीरा कारोबारी (महिंद्रा ब्रदर्स) के साथ काम करने चले गए और महज 2 वर्षों के भीतर उन्होंने जावेरी मार्केट में अपना हीरा व्यापार स्टार्ट कर लिया।

आर्टिकल: आयुष आनंद

Next Story
Share it