2021/Election voting in 475 seats in 5 states, voters have good trend, fate of 5,857 candidates imprisoned in EVM.jpg

Election : 5 राज्यों की 475 सीटों पर हुआ मतदान, मतदाताओं में रहा अच्छा रूझान, 5,857 प्रत्याशी का भाग्य ईव्हीएम में कैद

RewaRiyasat.Com
Viresh Singh Baghel
06 Apr 2021

चुनाव (Election) : चार राज्यों और एक केंद्र शासित प्रदेश की 475 सीटों पर मंगलवार को मतदाताओ ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया है। इन सीटों पर 5,857 प्रत्याशी मैदान में हैं। बंगाल और असम में तीसरे चरण का मतदान हुआ है। इसके साथ ही असम में चुनाव पूरा हो गया है। वहीं तमिलनाडु, केरल और पुडुचेरी में पहले दौर की वोटिग हुई है।

असम में हुआ सबसे ज्यादा मतदान

शाम 5ः30 बजे तक यानी साढ़े 10 घंटे में बंगाल में 77.68 प्रतिशत वोटिंग हुई है, तो वही असम में 78.94 प्रतिशत मतदान हुआ है। तमिलनाडु में 63.47 प्रतिशत, केरल में 69.96 और पुडुचेरी में 77.90 प्रतिशत वोट पड़े।

2016 में तृणमूल को मिला था बहुमत

2016 में हुए विधानसभा चुनावों में इन 31 में से 29 सीट तृणमूल ने जीती थीं। सबसे ज्यादा 11 प्रत्याशी डायमंड हार्बर सीट से मैदान में थें। 8,840 पोलिंग स्टेशन बनाए गए थे। सुरक्षा बलों की 832 कंपनियां तैनात की गई थी। दक्षिण 24 परगना में 307, हुगली में 167 और हावड़ा में 144 कंपनी तैनात की गई थी। 

बंगाल में पहले चरण का मतदान 27 मार्च को हुआ था। दूसरे चरण का 1 अप्रैल को तथा तीसरे चरण का 6 अप्रैल को मतदान हो चुका है। अब चौथे चरण की वोटिंग 10 अप्रैल को होगी।

केरल में 140 सीटो पर मतदान

केरल की सभी 140 सीटों पर चुनाव हो रहे हैं। इन पर 957 प्रत्याशी मैदान में हैं। यहां कम्युनिस्ट पार्टी की सरकार है। राज्य में पाट्री का काफी दबदबा है, लेकिन भाजपा ने भी इस चुनाव में अपनी पूरी ताकत झोंक दी है। 

तमिलनाडु में 234 सीटों पर मतदान

तमिलनाडु में 234 सीटों पर चुनाव हो रहा है। इसके लिए 3,998 उम्मीदवार मैदान में हैं। राज्य में 6.28 करोड़ मतदाता हैं। इनमें 3.08 करोड़ पुरुष और 3.18 करोड़ महिलाएं शामिल हैं। तमिलनाडु में भाजपा, कांग्रेस के साथ ही 10 छोटी पार्टियां मिलकर चुनाव लड़ रही हैं। कमल हासन भी यहां चुनाव लड़ रहे हैं।

पुडुचेरी की सभी 30 सीटों मतदान

राष्ट्रपति शासन झेल रहे पुडुचेरी की सभी 30 सीटों पर भी आज चुनाव हो रहे हैं। इन सीटों पर 324 प्रत्याशी मैदान में हैं। कांग्रेस शासित वी नारायणस्वामी की सरकार गिरने के बाद यहां फरवरी में राष्ट्रपति शासन लगा था।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER