Delhi

दिल्ली जहांगीरपुरी हिंसा: हनुमान जन्मोत्स्व शोभा यात्रा के दौरान क्या-क्या हुआ पूरा मामला समझ लीजिये

दिल्ली जहांगीरपुरी हिंसा: हनुमान जन्मोत्स्व शोभा यात्रा के दौरान क्या-क्या हुआ पूरा मामला समझ लीजिये
x
Delhi Jahangirpuri Violence: पहले देश के कई राज्यों में रामनवमी की यात्रा पर पथराव हुआ और अब दिल्ली में हनुमान जयंती पर पत्थरबाजी और फायरिंग हुई

Delhi Jahangirpuri Violence: शनिवार रात राजधानी दिल्ली के जहांगीरपुरी इलाके में हनुमान जनमोत्स्व पर शोभा यात्रा निकाल रहे हिन्दुओं पर पथराव हुआ. शाम 4:15 बजे शोभायात्रा जहांगीरपुरी से शुरू हुई जो महेंद्र पार्क में समाप्त होनी थी. शोभायात्रा धूमधाम से बिना किसी विवाद के चल रही थी. शाम 6 बजे जैसे ही शोभायात्रा जामा मस्जिद के पास पहुंची तो मुसलमानों ने हिंसा शुरू कर दी. जिससे भगदड़ मच गई. देश के कई राज्यों में इससे पहले रामनवमी के पर्व में यही नज़ारा देखने को मिला था. जहां मुसलमानों द्वारा त्यौहार मना रहे हिन्दुओं पर हमला किया गया था, उनपर पत्थर फेंके थे. एमपी में तो खरगौन SP को गोली मार दी थी।

दिल्ली के जहांगीरपुरी हिंसा का पूरा मामला क्या है

पुलिस ने अपनी FIR में लिखा है कि शाम 6 बजे जैसे ही शोभायात्रा जामा मस्जिद के पास पहुंची तो अंसार नाम का एक आरोपी अपने 4-5 मुस्लिम गुंडों के साथ यात्रा में शामिल लोगों से बहस करने लगा, बहस ज़्यादा बढ़ गई. इसके बाद अचानक से यात्रा में मौजूद लोगों पर पत्थर बरसने लगे. जिसके कारण शोभायात्रा में भगदड़ मच गई.

पुलिस वहीं मौजूद थी

जिस जगह पर हिंसा हुई वहां पुलिस मौजूद थी, लेकिन पुलिस पर भी हमला हुआ, पहले पुलिस ने विवाद सुलझा दिया लेकिन इसके बाद फिर से नारेबाजी शुरू हुई और पथराव होने लगा. पुलिस ने मदद के लिए फ़ोर्स बुलाई। 40-50 आंसू गैस के गोले दागे, मुस्लिम भीड़ ने पुलिस पर हमला कर दिया। जहांगीरपुरी SI मेदालाल को हाथ में गोली लग गई. इस पथराव में आधा दर्जन से ज़्यादा पुलिसकर्मी और आम नागरिकों को गंभीर चोटें आईं.

अगजनी हुई

उपद्रवियों ने एक स्कूटी में आग लगाई, 4-5 गाड़ियों में तोड़-फोड़ की, शोभायात्रा में हमला तो हुआ साथ अन्य लोगों की निजी सम्पत्तियों को आग के हवाले कर दिया गया. FIR दर्ज करने वाले सब इंस्पेक्टर राजीव रंजन को भी चोट पहुंची।

DCP नार्थ वेस्ट ऊषा रंगनानी ने बताया है कि लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की गई है. उपद्रवियों ने तलवार, पत्थर, बंदूक से हमला किया है. कई निजी सम्पतियों को आग के हवाले किया है. घटना वाली जगह में RAF तैनात की गई है.

अबतक 14 लोग गिरफ्तार

पुलिस ने मुख्य आरोपी अंसार के साथ 14 अन्य लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया है. इस घटना की जांच शुरू हो गई है. दोबारा से हिंसा न हो इसी लिए इस इलाके में पुलिस की 10 टीमों को तैनात किया गया है.

इसका वीडियो जारी हुआ है

जहांगीरपुरी इलाके में हुई हिंसा का एक वीडियो सामने आया है. जहां साफ़ दिखाई दे रहा है कि सड़के खाली थीं. लेकिन जैसे ही हनुमान शोभायात्रा निकली वैसे ही मुसलमानों की भीड़ यात्रा के सामने आकर खड़ी हो गई और यात्रा में शामिल लोगों पर पथराव और कांच की बोतले फेंकी जाने लगी. पथराव के बीच लोगों की दुकानें लूटी गईं, निजी सम्पतियों में आग लगाई गई.

बजरंग दल वालों ने भद्दी-भद्दी बातें कहीं !

ऐसा दावा किया जा रहा है कि बजरंग दल वाले यहां सुबह से जुलूस निकाल रहे थे. जब जुलूस जामा मस्जिद के पास पहुंचा तो बजरंग दल वालों ने वहां जुलूस रोककर मुसलमानों के खिलाफ भद्दी-भद्दी बातें कहीं। मस्जिद की बगल में दुकान लगाने वाले सैफी मीडिया से कहा कि वो लोग मुसलमानों को भद्दी-भद्दी बातें कह रहे थे, तभी 2 लोग भगवा झंडा लेकर मस्जिद के अंदर घुसने लगे थे.

यह हमला सुनियोजित था

जाहिर है शोभायात्रा निकलना तय था, कहां-कहां से यात्रा निकलनी थी यह भी प्रशासन-पुलिस और सभी लोगों को मालूम था. जामा मस्जिद के पास जैसे ही यात्रा पहुंची तो पथराव शुरू हो गया. सवाल ये है कि अचानक से इतने पत्थर आए कहां से. पुलिस इस मामले की जांच कर रही है. और ये पता लगा रही है कि यह हिंसा मौके से ही शुरू हुई या मुसलमानों ने पहले से पथराव करने की प्लानिंग की थी. क्योंकि इससे पहले रामनवमी में भी मुसलमानों ने हिन्दू लोगों पर पथराव किया था.

इस घटना पर दिल्ली सीएम और सरकार का क्या कहना है

अरविन्द केजरीवाल ने कहा पथराव की घटना निंदनीय

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा का कहना है यह बांग्लादेशी घुसपैठियों ने किया है


Next Story