Delhi

Air Pollution in Delhi-NCR : दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण पहुंचा खतरनाक स्‍तर तक, केंद्र सरकार द्वारा कर्मचारियों को दिए गए कुछ महत्वपूर्ण निर्देश

Air Pollution in Delhi-NCR : दिल्ली एनसीआर में प्रदूषण पहुंचा खतरनाक स्‍तर तक, केंद्र सरकार द्वारा कर्मचारियों को दिए गए कुछ महत्वपूर्ण निर्देश
x
दिल्‍ली एनसीआर (Air Pollution in Delhi-NCR) के बहुत से इलाकों में प्रदूषण अपने खतरनाक स्‍तर तक पहुँच चुका है.

दिल्‍ली एनसीआर (Air Pollution in Delhi-NCR) के बहुत से इलाकों में प्रदूषण अपने खतरनाक स्‍तर तक पहुँच चुका है, जिसके चलते लोगों को बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। केंद्र सरकार ने यह निर्देश दिया है कि राष्ट्रीय राजधानी के क्षेत्र में कार्य करने वाले सभी कर्मचारियों को अधिकतर सार्वजनिक परिवहन का इस्तेमाल करना चाहिए। ऐसा करने से दिल्ली एनसीआर की सड़कों पर गाड़ियों की संख्या में कमी होगी। यह कदम प्रदूषण के स्तर को काफु हद तक कम कर सकेगा। सरकार ने सबसे अपील की है कि सार्वजनिक परिवहन का ज्यादा से ज्यादा इस्‍तेमाल करें या अपने वाहनों को पूल करें।

सरकार ने कर्मचारियों को दी मास्क पहनने की सलाह

आपको बता दे कि कार्मिक मंत्रालय ने दिल्ली एनसीआर में तैनात अपने सभी कर्मचारियों को कोविड के सभी दिशा निर्देशों का अनुसरण सख्ती से करने के लिए कहा। इतना ही नहीं सरकार की ओर से एक निर्देश जारी किया गया है जिसमें कर्मचारियों से हमेशा मास्क पहनने की सलाह दी गई है और सरकार के निर्देश में इस बात का जिक्र भी किया गया है कि सरकारी कर्मचारी यदि जरूरत न हो तो यात्रा न करें।

क्या कहना है पर्यावरण मंत्री का?

ज्ञात हो कि दिल्ली के पर्यावरण मंत्री श्री गोपाल राय की तरफ से भी कुछ आपातकालीन उपायों की घोषणा की गई है जिससे प्रदूषण के स्तर को काफी हद तक कम किया जा सकेगा। उनका कहना है कि दिल्ली एनसीआर में स्थित सभी सरकारी विभागों में 21 नवंबर तक वर्क फ्राम होम की प्रक्रिया चलेगी। गोपाल राय ने इस बात का भी जिक्र किया कि 21 नवंबर तक दिल्ली में निर्माण कार्य नहीं किये जाएंगे। और राजधानी के सभी स्कूल और कॉलेज भी बंद कर दीये गए है।

इन सभी आदेशों का पालन कराने की जिम्मेदारी परिवहन विभाग और पुलिस विभाग को सौपी गई है। इतना ही नहीं परिवहन विभाग की तरफ से बहुत पुरानी गाड़ियों की लिस्ट भी पुलिस को दी जा चुकी है।

Next Story