छत्तीसगढ़

CG: आकाशीय बिजली से झुलसा युवक, ग्रामीणों ने अंधविश्वास के चक्कर में गोबर से लपेटा, फिर जो हुआ..

Sandeep Tiwari
20 May 2021 5:41 PM GMT
CG: आकाशीय बिजली से झुलसा युवक, ग्रामीणों ने अंधविश्वास के चक्कर में गोबर से लपेटा, फिर जो हुआ..
x
अंबिकापुर/ Ambikapur। ताउते नामक चक्रवाती तूफान कोरोना काल में आग में घी का काम कर रहा है। एक ओर कोरोन से लोगों से लोगों के घर परिवार उजड़ रहे हैं।

अंबिकापुर/ Ambikapur। ताउते नामक चक्रवाती तूफान कोरोना काल में आग में घी का काम कर रहा है। एक ओर कोरोन से लोगों से लोगों के घर परिवार उजड़ रहे हैं।

वही इस ताउते तूफान की वजह से बिगडे मौसम के मिजाज में छत्तीसगढ के अंबिकापुर के एक घर में आकाशीय बिजली गिरने से युवक की मौत हो गई। घटना की जानकारी होने पर एम्बुलेंस को फोन किया गया।

वहीं गांव के लोगों ने देशी टोटका करते हुए झुलसे युवक को गोबर में गाड दिया। लेकिन उसकी जान नही बच सकी। अस्पताल पहुंचने पर डाक्टरो ंने उसे मृत घोषित कर दिया।

आंगन से पानी निकाल रहा था युवक

जानकारी के अनुसार लखनपुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत मुटकी में यह ह्दय विदाकर घटना हुई। बताया जाता है कि दोपहर के समय बारिश हुई।

आंगन से पानी नहीं निकल रहा था। जिससे किशून राम राजवाड़े 35 वर्ष आंगन में भरे पानी को निकाल रहा था। इसी दौरान आकाशीय बिजली गिर पड़ी। चपेट में आने से वह गंभीर रूप से झुलस गया।

ग्रामीणों ने गोबर में गाड़ा

बताया जाता है कि किशून आकाशीय बिजली की चपेट में आ जाने से बुरी तरह झूलस गया। ऐसे में गा्रमीणों ने उसे पुराने टोटके के हिसाब से गोबर में गाड़ दिया। बाद में अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

गोबर में रखने से इंफेक्शन का खतरा

सूचना के बाद पहुंची एंबुलेंस में किशून केा उदयपुर अस्पताल ले जाया गया। जहां डाक्टरों ने उसे जांच के बाद मृत घोषित कर दिया। वही डक्टर ने किशून के साथ आये लागों को समझाइस देते हुए गोबर में गाडने की प्रथा बंद करने के लिए कहा।

डक्टर का कहना था कि गोबर में रखने से बैक्टीरिया से इन्फेक्शन का खतरा होता है। इस तरक कतई नहीं करना चाहिए।

Next Story
Share it