छत्तीसगढ़

Weather Update : आंधी-बारिश का कहर, 5 की मौत, आगे चक्रवात की आशंका

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:20 AM GMT
Weather Update : आंधी-बारिश का कहर, 5 की मौत, आगे चक्रवात की आशंका
x
Weather Update उत्तरप्रदेश समेत मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ राजस्थान में आंधी-बारिश के कारण पांच लोगों की मौत हो गई और आगे चक्रवात की आशंका

Weather Update : पश्चिमी विक्षोभ के कारण उत्तर प्रदेश समेत मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़ और राजस्थान में मौस में बदलाव देखा गया. आम जन को गर्मी से राहत मिली, लेकिन आंधी-बारिश, ओलावृष्टि और वज्रपात से किसान निराश नजर आए. गेहूं, दलहनी फसलें भीग जाने के कारण चौपट हो गईं जबकि आम के बौर गिर गए. वहीं उत्तर प्रदेश में आंधी-बारिश के कारण पांच लोगों की मौत हो गई और आगे चक्रवात की आशंका बनी हुई है.

मध्यप्रदेश: अगले 24 घंटे में बिगड़ सकता है मौसम, इन जिलों में ओलावृष्टि की चेतावनी

इस बीच, मौसम विभाग का कहना है कि दक्षिण अंडमान सागर पर कम दबाव का क्षेत्र बन रहा है, इससे अगले 48 घंटे में अंडमान-निकोबार द्वीप समूह और इसके आसपास के इलाके में चक्रवात आने की आशंका पैदा हो गई है. कई राज्यों में बारिश हो सकती है.

29 अप्रैल तक सामान्य नहीं रहेगा मौसम

मौसम विभाग का कहना है कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण हवा की दिशा में लगातार परिवर्तन हो रहा है. 29 अप्रैल तक मौसम सामान्य होने के आसार नहीं हैं. तेज आंधी और बारिश से उन्नाव में गेहूं और बिल्हौर में मक्का की कई एकड़ फसल चौपट हो गई है. कच्चे घरों की दीवारें ढहने से यूपी के उन्नाव के गांव टिकरिया में मलबे में दबकर दो महिलाओं व एक युवक की मौत हो गई, जबकि दो लोग घायल हो गए.

अंडमान सागर में बना कम दबाव का क्षेत्र, चक्रवात की आशंका

दक्षिण अंडमान सागर पर कम दबाव का क्षेत्र से चक्रवात की आशंका 30 अप्रैल से 3 मई तक बनी रहेगी और यह नजदीकी समुद्री तटों को प्रभावित कर सकती है. भारतीय मौसम विभाग दबाव की स्थिति पर लगातार नजर रखे हुए है और बदलावों के बारे में समुद्र के किनारे के राज्यों की सरकारों को सूचना दे रही है.

दूसरे राज्यों में फंसे लोगों की वापसी के लिए रीवा कलेक्टर ने गठित की टीम, देखें सूची…

मछुआरों से कहा गया है कि वे समुद्र में न जाएं. तटों पर बसे लोगों को भी सुरक्षित ठिकाने तलाश लेने के लिए कहा गया है. फिलहाल चक्रवात की तीव्रता कम ही रहने की आशंका है. लेकिन इस स्थिति में आने वाले समय में बदलाव भी हो सकता है.

Next Story
Share it