छत्तीसगढ़

छत्तीसगढ़ की लड़की की दिमागी हालत बिगड़ी, 20 लाख के इंजेक्शन हर माह लगेंगे, यूएस ने फ्री दिए 4.80 करोड़ के इंजेक्शन

Shashank Dwivedi
11 March 2021 4:26 PM GMT
छत्तीसगढ़ की लड़की की दिमागी हालत बिगड़ी, 20 लाख के इंजेक्शन हर माह लगेंगे, यूएस ने फ्री दिए 4.80 करोड़ के इंजेक्शन
x
छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh News)  : देशभर में कई ऐसे बच्चे है जो कई गंभीर बीमारी से जूझ रहे है. इस बीच कई बच्चो को सरकारी सुविधा मिल जाती है तो कई इस सुविधा के अभाव के बिना ही अपना दम तोड़ देते है. ऐसा ही एक मामला छत्तीसगढ़ के बिलासपुर संभाग के एक ग्रामीण की 15 साल की बच्ची बेहद रेयर बीमारी गाउचर टाइप-1 से पीडि़त है।

छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh News) : देशभर में कई ऐसे बच्चे है जो कई गंभीर बीमारी से जूझ रहे है. इस बीच कई बच्चो को सरकारी सुविधा मिल जाती है तो कई इस सुविधा के अभाव के बिना ही अपना दम तोड़ देते है. ऐसा ही एक मामला छत्तीसगढ़ के बिलासपुर संभाग के एक ग्रामीण की 15 साल की बच्ची बेहद रेयर बीमारी गाउचर टाइप-1 से पीडि़त है।

बच्ची के पिता गांव में छोटी सी किराना दुकान चलाते हैं। जिंदगी बचाने बच्ची को हर माह 20 लाख के इंजेक्शन की दो डोज लग रही है। बच्ची को अब तक 4 करोड़ 80 लाख के 48 इंजेक्शन मिल चुके हैं। इतने महंगे इलाज का खर्च उठाना बच्ची के परिवार वालों के संभव नहीं था। बच्ची के पिता ने बताया कि नवंबर-2018 में मेरी बेटी 15 साल की थी, तब अचानक एक दिन उसका पेट सख्त हो गया है। वह काफी दिन से कड़ापन महसूस कर रही थी, लेकिन पेट की खराबी सोचकर नहीं बताया।

इसी बीच उसकी दिमागी हालत बिगडऩे का अहसास हुआ। वह असामान्य हरकतें करने लगी। उसके सोचने समझने की शति कम होती गई। जब अस्पताल ले गए तो डॉक्टरों ने दिल्ली जाने की सलाह दी। दिल्ली में अस्पताल में बताया तो पता चला कि बेटी को गाउचर टाइप-1 बीमारी है।

डॉक्टरों ने बताया कि ये रेयर बीमारी है। इसका इलाज बहुत महंगा होगा। फिर डॉक्टरों ने पता लगाया कि अमेरिका की कुछ कंपनियां इस बीमारी के इंजेक्शन फ्री उपलब्ध कराती हैं। डॉक्टरों ने ही बच्ची की मेडिकल रिपोर्ट अमेरिका भेजी। पूरा परीक्षण करने के बाद कंपनी बच्ची के इलाज के लिए मदद करने को राजी हो गई।

दो साल हो गए वही कंपनी हर 15 दिन में बच्ची के लिए इंजेक्शन भेज रही है। एक इंजेक्शन 10 लाख का है। एक महीने में मेरी बेटी को 20 लाख का इंजेक्शन लग रहा है। साल में अब तक 48 इंजेक्शन लग चुके हैं।

Next Story
Share it