Chhattisgarh Panchayat election 2020: उदयपुर जनपद उपाध्यक्ष हारे चुनाव, इनके हाथों मिली शिकस्त

अम्बिकापुर छत्तीसगढ़

अम्बिकापुर (Ambikapur)। सरगुजा (Sarguja) जिले के उदयपुर जनपद (Udaipur Zanpad) के निवृतमान उपाध्यक्ष राजीव प्रताप सिंह (गुड्डू बाबा) इस बार जनपद सदस्य का चुनाव हार गए हंै। उन्हें अपने ही दल कांग्रेस के कार्यकर्ता नीरज मिश्रा से जनपद सदस्य के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा है। पिछले कार्यकाल में जनपद अध्यक्ष रहे कांग्रेस समर्थित राजनाथ सिंह ने जिला पंचायत सदस्य का चुनाव जीत लिया है। वे 4000 से अधिक वोटों से आगे हैं। अभी अधिकृत घोषणा नहीं हुई है। यहां जिला पंचायत की दूसरी सीट से कांग्रेस समर्थित राधा रवि और वर्षा सोनवानी के बीच मुकाबला है। इनके मतगणना के परिणाम अभी नहीं आए हैं।

उदयपुर जनपद क्षेत्र में घटबर्रा के सरपंच चुनाव पर भी सबकी निगाहें थी। इस क्षेत्र में अडानी के कोल परियोजना विस्तार को लेकर लम्बे समय से ग्रामीण लामबंद होकर विरोध प्रदर्शन करते रहे है। लगभग 75 दिनों तक चले आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाने वाले जयनंदन नामके ग्रामीण ने निवृतमान सरपंच को करारी शिकस्त दी है।

बताया जा रहा है कि आंदोलन समर्थक रहे सरपंच प्रत्याशी को पराजित करने धनबल का भी भरपूर उपयोग किया गया जबकि जयनंदन के को पम्पलेट, पोस्टर के लिए भी जनसहयोग मिला और खदान प्रभावित घटबर्रा के ग्रामीणों ने नए प्रत्याशी पर भरोसा जताया।

उदयपुर में जनपद सदस्य के 13 सीट है। इसमें से तीन भाजपा समर्थित सदस्य जीत कर आए हंै। गोंगपा से जुड़े तीन सदस्यों के जनपद सदस्य निर्वाचित होने के बाद भाजपा यहां कांग्रेस को सत्ता से रोकने की रणनीति पर काम करना शुरू कर चुकी है।

गोंगपा को समर्थन देकर जनपद पर कब्जा की कोशिश की चर्चा शुरू हो चुकी है। पिछले चुनाव में उदयपुर क्षेत्र से जिला पंचायत सदस्य निर्वाचित हुई भोजवंती सिंह इस बार जनपद सदस्य का चुनाव जीत चुकी है। कांग्रेस समर्थित भोजवंती को जनपद अध्यक्ष का कांग्रेस की ओर से प्रत्याशी माना जा रहा है।

Facebook Comments