2021/06/47-Bhanupratappur_news.jpg

Chhattisgarh का एक ऐसा गाँव जहां बच्चो से लेकर बूढ़ो तक, हर रात सभी को जाना पड़ता है जेल

RewaRiyasat.Com
Sandeep Tiwari
16 Jun 2021

रायपुर / Raipur: छत्तीसगढ़ का एक ऐसा गांव है जहां रात के समय सभी गांव के लोगों को जेल जाना पड़ता है। दिन होने के बाद उन्हे बाहर कर दिया जाता है।

ऐसा एक दिन के लिए नही किया जाता है। बताया जाता है कि प्रतिदिन गांव के लोगों को ऐसा करना पड़ता है।

अब गांव के लोगो को इसकी आदत सी पड़ गई है। उन्हे प्रतिदिन रात के समय जेल जाना नही अखरता है।

वह खुशी-खुशी जेल जाते हैं। इस बारे में जब जानकारी मिडिया को हुई तो हाकीकत की तलाश में निकल पड़ा।

मीडिया का सामना जब गांव के लोगो से हुआ और जो कहानी निकलकर सामने आई वह काफी चैका देने वाली है।

350 आदमी और 25 हाथियों की मौत

बताया जाता है कि इस प्रतिदिन रात के समय जेल जाने के मामले में हाथियों का बडा रोल हैं। यह हाल है छत्तीसगढ़ के कांकेर जिले (Kanker District) के भानुप्रतापपुर (Bhanupratappur) गांव का।

जहां के ग्रामीणों को हर रात जेल में गुजारनी पड़ती हैं। गांव के लोग यह सब किसी सजा की वजह से नही अपने प्राणों की रक्षा के लिए करते हैं।

स्थानीय प्रशासन द्वारा ऐसी व्यवस्था दी गई है। बताया जाता है कि यहां हाथियो का बड़ा आतंक है। इस आतंक में 350 लोगों की जान जा चुकी हैं। वही 25 हांथियों ने भी जान गवा दी है।

रात में उत्पात मचाते हैं हांथी

मिली जानकारी के अनुसार भानुपरतापुर के कई गांवों के सैकड़ों आदिवासियों अपनी रात एक निर्माणाधीन जेल में बितानी पड़ रही है।

रात के समय 20 से अधिक हांथियों का झुंड गांव में आता है और सब कुछ नष्ट कर चला जाता है। बताया जाता है कि रात के समय हांथी उत्पात मचाते हैं तो वही दिन के समय सोते हैं।

ऐसे में ग्रामीणों की रक्षा के लिए यह व्यवस्था की गई है कि रात में गांव के लोग एक जगह रहें।

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER