बिज़नेस

क्या है 'Pradhanmantri Mudra Yojna', कैसे उठाएं इसका लाभ? जानिए...

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:22 AM GMT
क्या है Pradhanmantri Mudra Yojna, कैसे उठाएं इसका लाभ? जानिए...
x
देश की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन बुधवार एवं गुरुवार इसी योजना के अंतर्गत कई घोषणाएं की है। इनमें से एक घोषणा Pradhanmantri Mudra Yojna को

प्रधानमन्त्री ने Atmnirbhar Bharat Package के तहत 20 लाख करोड़ के माध्यम से देशवासियों को बड़ी राहत देने का ऐलान किया। इसके बाद देश की वित्तमंत्री निर्मला सीतारमन बुधवार एवं गुरुवार इसी योजना के अंतर्गत कई घोषणाएं की है। इनमें से एक घोषणा Pradhanmantri Mudra Yojna को लेकर भी है। वित्तमंत्री ने शिशु मुद्रा लोन पर दो फीसद की ब्याज छूट देने की घोषणा की है। ब्याज में इस छूट से लोन लेने वाले छोटे कारोबारियों को फायदा होगा। इस योजना में 50 हजार रुपये तक का लोन लिया जा सकता है। आइए जानते हैं कि Pradhanmantri Mudra Yojna क्या है और कैसे आप इसका लाभ उठा सकते हैं।

क्या है Pradhanmantri Mudra Yojna

Pradhanmantri Mudra Yojna (PMMY) आठ अप्रैल 2015 को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा लॉन्च की गई थी। इस योजना के तहत कारोबार करने वालों को 10 लाख रुपये तक का लोन उपलब्ध कराया जाता है। ये लोन वाणिज्यिक बैकों, आरआरबी, स्मॉल फाइनेंस बैंकों, एमएफआई और एनबीएफसी द्वारा दिये जाते हैं। इस योजना में बिना गारंटी के आसानी से लोन मिल जाता है।

प्रधानमंत्री को घरों और धर्मस्थलों से सोना निकलवाने की सलाह देना पूर्व मुख्यमंत्री को पड़ रहा भारी, बुरे फंसे

मिलते हैं तीन तरह के लोन

Pradhanmantri Mudra Yojna में तीन तरह के लोन बांटे जाते हैं। शिशु मुद्रा लोन, किशोर मुद्रा लोन और तरुण मुद्रा लोन। शिशु मुद्रा लोन मुख्यत: छोटे कारोबारियों के लिए है। इसमें 50,000 रुपये तक का लोन लिया जा सकता है। वहीं किशोर मुद्रा लोन में 50,000 से 5 लाख रुपये तक का लोन लिया जा सकता है। इसके अलाना तरुण मुद्रा लोन की बात करें, तो इसमें 5 लाख रुपये से 10 लाख रुपये तक का लोन मिलता है।

इस तरह मिलता है लोन

अगर आप कोई छोटा-मोटा व्यापार शुरू करना चाहते हैं और उसके लिए आपको रुपयों की आवश्यकता है, तो आप Pradhanmantri Mudra Yojna के तहत लोन ले सकते हैं। इसके लिए आपको अपने कारोबार से जुड़ी जानकारी और महत्वपूर्ण पहचान दस्तावेज लेकर नजदीकी बैंक ब्रांच में जाना होगा। वहां बैंक में आपसे आपके व्यापार के बारे में जानकारी ली जाएगी।

मस्जिदों पर लाउड स्पीकर से अजान पर रोंक लगाना सही, यह इस्लाम का हिस्सा नहीं : हाईकोर्ट

आपसे व्यापार से संबंधित प्रोजेक्ट रिपोर्ट बनाकर लाने के लिए भी कहा जा सकता है। इसके बाद आपके व्यापार के आधार पर आपका लोन मंजूर हो जाएगा। यहां बता दें कि इस योजना में भिन्न-भिन्न बैंकों द्वारा भिन्न-भिन्न ब्याज दर ली जाती है।

ब्याज में छूट से देनदारों के बचेंगे 1500 करोड़ रुपये

सरकार द्वारा गुरुवार को शिशु मुद्रा लोन पर ब्याज में दो फीसद की छूट की घोषणा की गई है। अर्थात अब यह रकम सरकार द्वारा दी जाएगी। इस समय शिशु मुद्रा लोन पर करीब 10 से 11 फीसद की दर से ब्याज बैंकों द्वारा लिया जा रहा है।

कश्मीर: Top-10 Most Wanted Terrorist की सूची तैयार, ये आतंकी टॉप पर

सरकार द्वारा यह छूट 12 महीने के लिए दी जाएगी। सरकार के अनुसार, इस राहत का लाभ करीब तीन करोड़ लोगों को मिलेगा। ब्याज में दो फीसद की छूट से लोन लेने वालों के 1500 करोड़ रुपये बचेंगे।

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: Facebook, Twitter, WhatsApp, Telegram, Google News, Instagram
Next Story
Share it