बिज़नेस

Star link: Elon Musk का इंटरनेट कनेक्शन लेने के लिए कितना खर्चा आएगा, मिलेगी 150Mbps की स्पीड

Abhijeet Mishra
6 Dec 2021 11:12 AM GMT
Star link: Elon Musk का इंटरनेट कनेक्शन लेने के लिए कितना खर्चा आएगा, मिलेगी 150Mbps की स्पीड
x
Star link: एलोन मस्क की कंपनी स्टार लिंक ने अंतरिक्ष में 30 सेटेलाइट्स भेजी हैं जो बिना किसी टावर या वायर के सीधा आपके डिवाइस तक इंटरनेट पहुंचाएगी

Star link: दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलोन मस्क ने अपनी सेटेलाइट इंटरनेट प्रोवाइडर कंपनी स्टार लिंक के ज़रिये कई देशों के लोगों को इंटरनेट सेवा दे रहे हैं। भारत में भी जल्द स्टरलिंक की इंटरनेट सेवा बहाल हो जाएगी। स्टार लिंक ने स्पेस में अपनी 30 सेटेलाइट्स पिछले साल भेजी थीं उन्ही से लोगों को बिना किसी टावर या वायर के इंटरनेट चलाने को मिलेगा। लेकिन सबसे बड़ा सवाल यही है कि आखिर इंडिया के यूजर को सेटेलाइट इंटरनेट इस्तेमाल करने के लिए कितना खर्चा करना पड़ेगा।

स्टार लिंक के इंडिया हेड संजय भार्गव ने लिंकडिन में पोस्ट करते हुए बताया कि भारत में स्टार लिंक सर्विस के लिए ग्राहक को पहले साल करीब 1,58,000 रुपए देने पड़ेंगे।

Star Link Recharge Plan:

स्टार लिंक का इंटरनेट कनेक्शन लेने के लिए ग्राहक को क्लेक्टिविटी डिवाइस खरीदना होगा जो 499 डॉलर यानी के करीब 37,400 रुपए में आएगा। इसके बाद मंथली सब्सक्रिप्शन चार्ज 99 डॉलर मतलब 7,245 होगा। इसके अलावा 30% तक टैक्स भी देना होगा

इस तरह के ग्राहकों को पहले महीने 45 हज़ार रुपए चुकाने पड़ेगें। पहले साल स्टार लिंक की सर्विस लेने के लिए कुल 1,58,000 रुपए देने पड़ेगें। जबकि अगले साल खर्चा 1,15,000 खर्च हो जाएगा। दरअसल सरकार द्वारा टैक्स और अन्य दर लागु करने की वजह से स्टार लिंक की इंटरनेट सर्विस भारत में महंगी है। लेकिन स्कूल, हेल्थ केयर जैसी संस्थानों को सस्ती दर में कनेक्शन दिया जाएगा।

Star link Internet Speed:

स्टार लिंक का कहना है कि भारत में सेटेलाइट के ज़रिये ग्राहकों को 150MBPS की इंटरनेट स्पीड मिलेगी। इसका मतलब आप एक सेकेंड में 150 MB की डाउनलोडिंग कर सकेगें और कुछ ही सेकेण्ड में एक फिल्म डाउनलोड हो जाएगी।

भारत में Star Link की सर्विस कब से शुरू होने वाली है

कंपनी का अभी ऑफिशियल कमर्शियल लाइसेंस लेने का काम बाकी है। जिसे 31 जनवरी 2022 तक अप्लाई किया जा सकता है। कंपनी अप्रेल तक कमर्शियल सर्विस को रोलआउट कर सकती है। और साल 2022 के अंत तक भारत में 200k टर्मिनल की शुरुआत कर सकती है। केंद्रीय दूर संचार विभाग ने भारत में स्टार लिंक की सर्विस की प्री-बुकिंग पर रोक लगा दी थी बहरहाल लॉन्चिंग से पहले ही स्टार लिंक को इंटरनेट सर्विस देने के लिए भारत से हज़ारों प्री-बुकिंग मिल चुकी है



Next Story
Share it