बिज़नेस

फंस गए हैं Credit Card के कर्ज के बोझ तले तो अपनाएं ये टिप्स

Credit Card
x
Credit Card Tips: जैसे जैसे समय बदल रहा है बैंकिंग में भी बहुत से बदलाव हो रहे हैं। Debit card हो या Credit card दोनों का इस्तेमाल पिछले कुछ वर्षों से बहुत ज्यादा किया जा रहा है।

Credit Card Tips: जैसे जैसे समय बदल रहा है बैंकिंग में भी बहुत से बदलाव हो रहे हैं। Debit card हो या Credit card दोनों का इस्तेमाल पिछले कुछ वर्षों से बहुत ज्यादा किया जा रहा है। आज हम इस आर्टिकल में आपसे बात करेंगे क्रेडिट कार्ड के संदर्भ में जिससे लोग पहले शॉपिंग कर लेते हैं और फिर कर्ज के बोझ के तले दब जाते हैं।

कभी-कभी तुम लोग क्रेडिट कार्ड का इतना ज्यादा इस्तेमाल कर लेते हैं कि बाद में बिल चुकाने के समय उन्हें बहुत दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। अगर credit card के बिल का पेमेंट समय पर ना किया जाए तो क्रेडिट स्कोर खराब होने का डर भी बना रहता है। एक बार अगर क्रेडिट स्कोर खराब हो जाए तो लोन लेने में काफी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

भरना पड़ सकता है जुर्माना

अगर कोई ग्राहक क्रेडिट कार्ड का बिल चुकाने में असमर्थ होता है तो उसे भारी जुर्माना देना पड़ सकता है। ज्यादातर कंपनी बिल न चुकाने पर 40% तक जुर्माना लगाती है। यह कर्ज का बोझ इतना पड़ जाता है कि क्रेडिट कार्ड धारक को बहुत सी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। तो चलिए जानते हैं कि कैसे क्रेडिट कार्ड के कर्ज के बोझ से बचा जा सकता है;

बिल को चुकाए EMI में

अगर आप भी क्रेडिट कार्ड के बोझ के तले दब गए हैं तो सबसे पहले पूरी जमा करने वाली राशि को EMI में बदलें। इससे आप आसानी से किस्तों के रूप में अपना बिल जमा कर सकते हैं और आप पर अतिरिक्त कोई बोझ नहीं पड़ेगा। इतना ही नहीं इस पर ब्याज भी बहुत कम लगता है।

ले कम ब्याज पर पर्सनल लोन

अगर आप का क्रेडिट कार्ड का बिल बहुत ज्यादा बढ़ गया है तो इस कर्ज को चुकाने के लिए आप चाहे तो कंपयाज पर पर्सनल लोन ले सकते हैं। Personal loan पर ब्याज 11% का होता है जबकि क्रेडिट कार्ड के बिल का ब्याज होता है 40% तो आप पर्सनल लोन लेकर पहले क्रेडिट कार्ड का कर्ज चुका दे फिर पर्सनल लोन को अदा करते रहें।

इस तरह से आप आसानी से अपने क्रेडिट कार्ड का बिल चुका सकते हैं और आपको कोई भी समस्या नहीं होगी।

Next Story