बिज़नेस

Cryptocurrency: सिर्फ 9 साल की बहन और 14 साल के भाई ने क्रिप्टो से कमाए सवा करोड़ रुपए, जाने कैसे

Cryptocurrency: सिर्फ 9 साल की बहन और 14 साल के भाई ने क्रिप्टो से कमाए सवा करोड़ रुपए, जाने कैसे
x
Cryptocurrency: अमेरिका में रहने वाले ये दोनों भाई-बहन भारतीय मूल के हैं दोनों ने क्रिप्टो में इतना दिमाग दौड़ा दिया कि करोड़ों के मालिक बन गए

Cryptocurrency: अमेरिका में रहने वाले 2 भारतीय मूल के भाई-बहन इस समय ट्रेंडिंग टॉपिक बन गए हैं। इस टाइम वैसे भी क्रिप्टोकरेंसी को लेकर खूब चर्चा हो रही है और भारत में भी इसके लिए एक बिल आने वाला है जिसमे सरकार क्रिप्टो को एक मुद्रा के रूप में स्वीकार्य करने से इनकार करने की बात कह रही है। इसी बीच सिर्फ 9 साल की अनन्या और 14 साल के ईशान ने क्रिप्टो से 1.25 करोड़ रुपए की कमाई कर डाली है।

दोनों भाई बहन अपने पेरेंट्स के साथ अमेरिका के टेक्सास में रहते हैं भाई ईशान अभी हाई स्कूल में है तो छोटी बहन 4th में पढाई करती है। लेकिन दोनों ने मिल कर इतने पैसे जमा कर लिए है जो भविष्य में उनकी पढाई के खूब काम आएगी।

कैसे इतने पैसे कमा लिए

दोनों भाई बहन ने अपनी छुट्टियों में क्रिप्टो में इन्वेस्ट करना शुरू कर दिया , इस दौरान बिटकॉइन और एथेरियम जैसी क्रिप्टो करेंसी में दोनों ने थोड़े पैसों से इन्वेस्ट किया। पहले ही दिन उन्हें 223 रुपए की कमाई हुई, कुछ दिन तक ऐसे ही थोड़े-बहुत पैसे कमाने के बाद फिर एकाएक उनको प्रॉफिट होने लगा।

अब 14 साल के ईशान माइनिंग करने लगे हैं

अब ईशान ने अपने एलिनवेयर कंप्यूटर में हाई-लेवल ग्राफिक्स कार्ड को लगाते हुए उसमे ईथर माइनिंग शुरू कर दी है। उन्होंने क्रिप्टो की बड़ी साइट्स चलाने के लिहाज से ऐसा किया। ईशान ने क्रिप्टो का ज्ञान आर्टिकल्स पढ़ कर और यूट्यूब से लिया और इसी से उन्होंने इन्वेस्टमेंट करना सीखा। दोनों में मिलकर अप्रेल से क्रिप्टो में ट्रेडिंग करना शुरू किया और पहले महीने ही 74 हज़ार रुपए जुटा लिए। और धीरे-धीरे दिन की 223 रूपए की कमाई लाख और फिर 1.25 में बदल गई।

इधर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का कहना है कि क्रिप्टो युवा को तबाह कर देगा। उधर दुनिया के बड़े और ज़्यादा विकसित देशों में क्रिप्टो को एक करेंसी का दर्जा दे दिया गया है। लेकिन भारत सरकार इसे अपने कंट्रोल में लेने के लिए जो बिल लाने वाली है उसमे क्रिप्टो की एहमियत को कम कर दिया जाएगा और इसे करेंसी ना मान कर सिर्फ एक शेयर बांड की तरह रखा जाएगा।


Next Story