बिलासपुर

आज से फिर बिगड़ेगा मौसम, 4 से 7 मार्च के बीच इन राज्‍यों में भारी बारिश की संभावना : MP NEWS

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:13 AM GMT
आज से फिर बिगड़ेगा मौसम, 4 से 7 मार्च के बीच इन राज्‍यों में भारी बारिश की संभावना : MP NEWS
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

मार्च के महीने की शुरुआत खराब मौसम के साथ हो रही है। आज यानी मंगलवार, 3 मार्च से कई राज्‍यों में मौसम बिगड़ना शुरू हो सकता है। इसके बाद 4 से 7 और 8 मार्च तक कई राज्‍य भारी बारिश, तेज आंधी व गरज-चमक की चपेट में आ सकते हैं। मौसम के जानकारों ने यह भी अनुमान जताया है कि अगले 24 घंटों में देश के कई शहर बेमौसम बारिश से प्रभावित हो सकते हैं। यहां देखें उन राज्‍यों व शहरों की सूची।

- अगले 24 घंटों के दौरान बारिश की शुरुआत हो सकती है। स्‍कायमेट वेदर का अनुमान है कि हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में एक-दो स्थानों पर बारिश होने की संभावना है। इसके अलावा, पूर्वोत्‍तर में असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, नागालैंड और मणिपुर में बारिश की गतिविधियों में इजाफा हो सकता है।

- मध्‍यप्रदेश और छत्‍तीसगढ़ में बारिश की वापसी हो रही है। अनुमान है कि पूर्वी मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और विदर्भ में फिर बेमौसम बारिश होगी। इसके अलावा, महाराष्‍ट्र के नागपुर, अकोला, मप्र के जबलपुर, सतना, उमरिया, दमोह, छत्‍तीसगढ़ के रायपुर, बिलासपुर, अंबिकापुर और दुर्ग में बारिश की आशंका है।

यह नया सप्ताह देश के लिए बारिश के लिहाज से सक्रिय रहेगा। इस सप्‍ताह में गुजरात और कर्नाटक को छोड़कर देश भर में तेज बारिश होने की संभावना है। 5 और 6 मार्च को बारिश चरम पर होगी।

- 3 मार्च को देश के अधिकांश हिस्सों में मौसम साफ एवं शांत होगा। हालांकि इसे तूफान से पहले की शांति भी कह सकते हैं, क्‍योंकि इसके बाद 4 मार्च से देश के कई इलाकों में मौसम बदलने जा रहा है। भारी बारिश का अनुमान जताया जा रहा है। 3 मार्च को पूर्वी और पूर्वोत्तर भारत में अच्छी बारिश देखी जा सकती है।

4 मार्च से देश के कई शहरों में मौसम बदल सकता है। उत्तर भारत में पहाड़ों से लेकर मैदानी इलाकों में Delhi तक भारी बारिश के आसार हैं। वहीं, पटना, रांची समेत पूर्वी राज्यों में भी भारी बारिश हो सकती है। इसके अलावा यहां ओले गिरने और तेज़ हवाएँ चलने की भी संभावना है।

बिहार में ओलावृष्टि हो सकती हे। यहां 4 मार्च से 8 मार्च के बीच तेज़ हवाओं के साथ काफी तेज़ बारिश और गरज के साथ छींटे पड़ सकते हैं। झारखंड और पश्चिम बंगाल भी बारिश से प्रभावित हो सकते हैं। 5 और 6 मार्च को मौसम का यह रूख चरम पर हो सकता है।

- एक और सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ 4 मार्च की शाम तक आने की संभावना है। इस प्रणाली के मद्देनजर, जम्मू-कश्‍मीर, लद्दाख और हिमाचल प्रदेश में 4 मार्च की रात तक छिटपुट बारिश शुरू हो सकती है।

दक्षिण भारत भी बदलते मौसम से अछूता नहीं रहेगा। संभावना है कि तामिलाडु, कर्नाटक के कुछ हिस्सों और केरल में भी अगले कुछ दिनों तक अलग-अलग हल्की बारिश जारी रह सकती है। 5 मार्च की शाम से वर्षा की गतिविधियाँ बढ़ने की संभावना है।

मार्च के यह हैं मायने

भारत में प्री-मॉनसून सीज़न 1 मार्च से शुरू होता है। यह वह समय है जब देश के उत्तर, पूर्वी, मध्य और दक्षिणी राज्यों में दिन का तापमान बढ़ता है। साथ ही गर्मी का पहला आगमन दक्षिण और मध्य भारत के राज्यों में देखा जाता है।

Next Story
Share it