भोपाल

उड़ता पंजाब की राह में विंध्य के रीवा-सतना, गांजे से लेकर नशीली कफ सीरप तक की जोरो से पैकारी, भोपाल से लेकर दिल्ली तक हड़कंप..

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 6:29 AM GMT
उड़ता पंजाब की राह में विंध्य के रीवा-सतना, गांजे से लेकर नशीली कफ सीरप तक की जोरो से पैकारी, भोपाल से लेकर दिल्ली तक हड़कंप..
x
उड़ता पंजाब की राह में विंध्य के रीवा-सतना, गांजे से लेकर नशीली कफ सीरप तक की जोरो से पैकारी, भोपाल से लेकर दिल्ली तक हड़कंप..रीवा मध्यप्रदेश

उड़ता पंजाब की राह में विंध्य के रीवा-सतना, गांजे से लेकर नशीली कफ सीरप तक की जोरो से पैकारी, भोपाल से लेकर दिल्ली तक हड़कंप..

रीवा (शशांक द्विवेदी) : मध्यप्रदेश के दो जिले रीवा और सतना जिसने भोपाल से लेकर दिल्ली तक हड़कंप मचा कर रख दिया। आपको बता दे की केंद्र सरकार द्वारा एक सर्वे कराया गया था जिसके अनुसार मध्यप्रदेश का सतना और रीवा जिला सबसे बड़ा गांजा नेटवर्क बनकर तैयार हो गया है. केंद्र सरकार के इस सर्वे से खुद मध्यप्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान भी सकते में आ गए है.
केंद्र सरकार ने 739 जिलों में सर्वे कराया और पाया की यहाँ की अधिकारी और कर्मचारी भी गांजे के कारोबार के अपराधियो के साथ अपराध में लिप्त है जिनके कारण क्राइम तेजी से बढ़ रहा है. अपराधियों को संरक्षण और उनके परिवहन के आवागमन में पूरा सहयोग भी बड़े अधिकारी और कुछ पुलिसकर्मी कर रहे है.

उपचुनाव के पहले सीएम शिवराज ने किसानों को बड़ा तोहफा देते हुए कहा- किसान संकट में हो, तो मैं चैन से नहीं बैठ सकता हूं

जानकारी के मुताबिक गांजे की पैकारी में सतना और रीवा ने सरकार की तैयार की गई लिस्ट में जगह बनाई। यहाँ तक की केंद्र सरकार के गृह मंत्रालय ने रीवा और सतना को उड़ता पंजाब नाम दे दिया।
12 अगस्त को हुई बैठक में सरकार ने निर्णय लिया की जो जिले नशे से ग्रसित है वहां नशा मुक्त अभियान चलाया जाएगा. बताया जा रहा है कि रीवा और सतना में, पूरे देश में प्रतिबंधित गांजे का बड़ा नेटवर्क तैयार हो गया है। ओडीसा से लेकर रीवा व सतना तक प्रतिबंधित गांजे का परिवहन व बिक्री बेखौफ हो रहा है। बता दें कि रीवा व सतना में प्रतिबंधित गांजे की बिक्री करने वाले लोग गांजे के शौकीनों को चिलम तक उपलब्ध कराते हैं।
आईजी रीवा चंचल शेखर ने बताया कि लगातार दो वर्षों में रीवा जिले में अब तक कुल 54 क्विंटल गांजा जब्त किया जा चुका है जबकि सतना में 84 क्विंटल गांजा जब्त किया गया है। इसी तरह रीवा व सतना में मिलाकर तकरीबन 745 लोगों को नशीली कफ सीरप का कारोबार करने के आरोप पर मुकदमा दर्ज कर उन्हें जेल भेजा जा चुका है। बावजूद इसके अभी भी प्रतिबंधित गांजा व नशीली कफ सीरप का कारोबार चल रहा है।

मध्यप्रदेश में जीएसटी की क्षतिपूर्ति राशि जल्द मिलेगी, पढ़िए पूरी खबर

[signoff]
Next Story