110 साल पुराना यह Rupee Co-operative Bank आज बंद हो जाएगा, वजह जानें
पुणे के रुपी सहकारी बैंक पर आज से ताला लग जाएगा. इसके साथ ही बैंक की सारी सेवाएं भी बंद हो जाएंगी.
रिजर्व बैंक के दिशा-निर्देशों का पालन नहीं करने की वजह से आरबीआई ने पिछले महीने ही इस बैंक का लाइसेंस कैंसिल कर दिया था.
आरबीआई का कहना था कि बैंक के पास पर्याप्त पूंजी और कमाई की संभावनाएं नहीं हैं.
सहकारी बैंक लिमिटेड का बैकिंग लाइसेंस 6 हफ्ते के बाद रद्द कर दिया जाएगा.
इसके बाद बैंक सभी ब्रांच बंद हो जाएंगे और ग्राहक अपने खाते से पैसे नहीं निकाल पाएंगे.
रुपी सहकारी बैंक लिमिटेड में जिन ग्राहकों के पैसे जमा हैं, उन्हें 5 लाख रुपये तक के डिपॉजिट पर इंश्योरेंस एंड क्रेडिट गारंटी कॉरपोरेशन की तरफ से बीमा कवर का लाभ मिलेगा.
DICGC की तरफ से बीमा कवर का लाभ मिलेगा. DICGC रिजर्व बैंक की एक सब्सिडियरी है. यह को-ऑपरेटिव बैंक के ग्राहकों को वित्तीय सेवाएं प्रदान करता है.
जिन लोगों का 5 लाख रुपये तक का फंड रुपी सहकारी बैंक में जमा है, उनके पैसे डूबने का कोई खतरा नहीं है, क्‍योंकि उन्‍हें DICGC की तरफ से पूरा क्लेम मिलेगा.
22 सितंबर से रिजर्व बैंक के आदेश प्रभावी हो जाएंगे और रुपी सहकारी बैंक का कामकाज बंद हो जाएगा.
Author : Akash dubey