कम स्पर्म काउंट की वजह से गर्भधारण करने में होती है परेशानी, देखें
पुरुषों में शुक्राणु की कमी की समस्या लगातार बढ़ रही है, कपल के गर्भधारण न कर पाने के लिए केवल महिलाएं ही नहीं बल्कि पुरूष भी बराबर के जिम्मेदार हैं।
40-45 प्रतिशत मामलों में पुरुष शुक्राणुओं में कमी पाई जाने के कारण गर्भधारण न कर पाने की शिकायत लेकर डॉक्टर के पास पहुंच रहे हैं।
कम शुक्राणुओं की संख्या का मतलब है कि एक संभोग के दौरान पुरुष के वीर्य में सामान्य से कम शुक्राणु होते हैं।
स्टडीज में पाया गया है कि आईटी इंडस्ट्री से जुड़े पुरूषों में शुक्राणुओं की कमी होती है।
पुरूषों के बहुत ज्यादा गर्म तापतान में काम करने या हॉट बाथ लेने से भी इंफर्टिलिटी की समस्या बढ़ सकती है।
मेल इंफर्टिलिटी का मुख्य लक्षण बच्चे को गर्भधारण करने में असमर्थता है।
जीवनशैली में बदलाव करके इस स्थिति में सुधार किया जा सकता है।
अच्छी डाइट लें
​अच्छी नींद लें
​धूम्रपान और शराब के सेवन से बचें
सेक्सुअल डिसफंक्शन की समस्या के लिए अश्वगंधा काफी फायदेमंद है।
Author : Akash dubey