प्रियंका का योगी सरकार पर हमला / मैं इंदिरा की पोती हूँ, भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं, हिम्मत है तो मुझ पर कार्रवाई करें

प्रियंका का योगी सरकार पर हमला / मैं इंदिरा की पोती हूँ, भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं, हिम्मत है तो मुझ पर कार्रवाई करें

उत्तर प्रदेश राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय लखनऊ

लखनऊ. कांग्रेस नेता प्रियंका गाँधी वाड्रा ने एक बार फिर से योगी सरकार पर हमला बोला है. प्रियंका ने कहा है कि ‘मैं इंदिरा की पोती हूँ, विपक्ष के कुछ नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं’. उन्होंने योगी सरकार को चुनौती दी है कि हिम्मत है तो मुझ पर कार्रवाई करें, पर वे जनता के सामने सच्चाई लाना जारी रखेंगी. 

बता दें प्रियंका गाँधी वाड्रा ने शुक्रवार को योगी सरकार पर हमला बोलते हुए दो ट्वीट किए. एक में उन्होंने लिखा की मैं जनता की सेवक हूँ, इस तौर पर मेरा कर्त्तव्य यूपी की जनता के प्रति है, और वह कर्त्तव्य सच्चाई को जनता के सामने रखना है. किसी सरकार प्रोपेगंडा को आगे रखना नहीं. सरकार अन्य विभागों द्वारा मुझे धमकियां दिलवाकर अपना समय व्यर्थ कर रही है.

देश का एक ऐसा गोपनीय रेजिमेंट, जो है बेहद खतरनाक, सेना नहीं, सीधे प्रधानमंत्री को करती है रिपोर्ट

दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा ‘वे (योगी सरकार) जो भी कार्रवाई करना चाहते हैं, बेशक करें. मैं सच्चाई सामने रखती हूँ, मैं इंदिरा की पोती हूँ, विपक्ष के कुछ नेताओं की तरह भाजपा की अघोषित प्रवक्ता नहीं’.

दरअसल हाल में ही प्रियंका गाँधी वाड्रा ने यूपी सरकार पर कोरोना संक्रमण को लेकर हमला बोला था. इसके पहले रविवार को उन्होंने एक ट्वीट में यूपी के कानपुर में शेल्टर होम मे कोरोना पॉजिटिव मिली लड़कियों के प्रेग्नेंट और एचआईवी पॉजिटिव मिलने के मामले को जोर-शोर उठाया था. साथ ही इसकी तुलना बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम केस से कर दी थी.

भारत को चीन से ख़तरा / यूरोप से हटाकर एशिया में सेना तैनात कर रहा है अमेरिका

इस पर राज्य के बाल अधिकार पैनल ने प्रियंका गाँधी वाड्रा को नोटिस जारी कर मामले पर गलत तुलना करने के लिए तीन दिन में जबाव प्रस्तुत करने के लिए कहा था. 

इसके अलावा प्रियंका ने 22 जून को ट्वीट किया था कि आगरा के एक अस्पताल में पिछले 48 घंटों में 28 कोरोना मरीजों की मौत हो गई. उन्होंने यह भी कहा था कि यूपी सरकार का आगरा मॉडल अब एक्सपोज हो गया है.

Indian Railway देने जा रहा लाखो लोगो को नौकरी, मध्यप्रदेश, उत्तरप्रदेश सहित इन राज्यों के लोगो को मिलेगा काम

उन्होंने ट्वीट के साथ एक न्यूज रिपोर्ट टैग की थी. इस पर आगरा के डीएम प्रभु नारायण सिंह ने मंगलवार को बयान जारी करते हुए प्रियंका के दावे को गलत बताया और उन्हें ट्वीट डिलीट करने के लिए कहा.

हालांकि, प्रियंका यहीं नहीं रुकीं और उन्होंने आगरा में उच्च मृत्यु दर पर मुख्यमंत्री आदित्यनाथ से 48 घंटे में जवाब देने की मांग रख दी.

CBSE Examination / 10th-12th की परीक्षाएं रद्द, अब तक हुए प्रश्न पत्रों के आधार पर मिलेंगे अंक

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments
Tagged