उत्तरप्रदेश

एक विवाह ऐसा भी! घरवालों के इनकार के बाद भी नेत्रहीन लड़की से शादी करने अकेले पहुंचा दूल्हा, कहा- हमेशा रखूंगा ख्याल

एक विवाह ऐसा भी! घरवालों के इनकार के बाद भी नेत्रहीन लड़की से शादी करने अकेले पहुंचा दूल्हा, कहा- हमेशा रखूंगा ख्याल
x
Lalitpur Viral Marriage: बैंडबाजा लेकर शादी करने जब दुल्हन के घर दुल्हा अकेले पहुचा तो वहां मौजूद लोग यह कहने से अपने आप को नही रोक पाये कि यह अस्ली हीरो है। दरअसल मोहब्बत का एक अनोखा मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ललितपुर (Lalitpur) से सामने आया है। जहां एक युवक नेत्रहीन लड़की को देखते ही उससे प्यार कर बैठा और फिर वह अकेले ही बारात लेकर युवती के दरवाजे पर पहुंच गया।

Lalitpur Viral Marriage: बैंडबाजा लेकर शादी करने जब दुल्हन के घर दुल्हा अकेले पहुचा तो वहां मौजूद लोग यह कहने से अपने आप को नही रोक पाये कि यह अस्ली हीरो है।दरअसल मोहब्बत का एक अनोखा मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के ललितपुर (Lalitpur) से सामने आया है। जहां एक युवक नेत्रहीन लड़की को देखते ही उससे प्यार कर बैठा और फिर वह अकेले ही बारात लेकर युवती के दरवाजे पर पहुंच गया।

घर वाले नही थे तैयार

बताया जा रहा है कि युवक ने अपने परिजनों से नेत्रहीन लड़की से शादी करने की बात की तो उन्होंने मना कर दिया. लेकिन युवक ने अपने घर वालों की बात नहीं मानी और अकेला ही बैंड-बाजे के साथ बारात लेकर दुल्हन के घर पहुंच गया। जंहा लड़की वालों ने धूमधाम से उसका विवाह कर दिया।

जन्म से नेत्रहीन है वंदना

ललितपुर के मदनपुर कस्बे में रहने वाले बब्बू रायकवार की बेटी वंदना जन्म से ही नेत्रहीन है। बब्बू ने कभी नहीं सोचा था कि उसकी बेटी की शादी होगी। एमपी के सागर जिले के रहने वाले पेशे से मिस्त्री मोहन रायकवार को पहली नजर में ही वंदना से प्यार हो गया। उसने वंदना को ही अपना जीवन साथी बनाने के लिये अड़ गया।
मोहन का कहना है कि वंदना को अच्छे से अच्छे डॉक्टर को दिखाएगा और उसकी आंखों की रोशनी लाने की कोशिश करेगा. अगर ऐसा नहीं हो पाता तो भी वह उसे खुश रखेगा।

इलाके में दुल्हे की हो रही तरीफ

गौरतलब है कि ये अनोखी शादी इस वक्त पूरे इलाके में चर्चा का विषय बनी हुई है। नेत्रहीन का हाथ थामने के लिए लोग मोहन की खूब तारीफ कर रहे हैं. लोग मोहन को हीरो कह रहे हैं, जो वंदना जैसी दिव्यांग के लिए सहारा बन गया।

Next Story