टेक और गैजेट्स

Smart Phone Protection Tips: फोन में की गई ये गलतियां बना सकती आपको हैकर्स का शिकार

Ayush Anand
21 Nov 2021 1:13 PM GMT
Smart Phone Protection Tips
x
Smart Phone Protection Tips: फोन में की गई ये गलतियां बना सकती आपको हैकर्स का शिकार

टेक्नोलॉजी से घिरी इस दुनिया में हम सबसे आसानी से स्मार्टफोन के द्वारा जुड़े होते हैं। मगर तकनीक के विकास ने हैकर्स को भी अपराध करने के नए अवसर प्रदान किए हैं। इंटरनेट के इस्तेमाल से हमारी जिंदगी आसान तो बन गई है मगर इसी की वजह से लोग ऑनलाइन फ्रॉड के अपराध को अंजाम भी देते हैं इन्हीं खतरों से बचने के लिए हम आपके लिए कुछ ऐसे अभ्यास लाएं हैं जिससे आप अपने फोन को हैकर्स के पहुंच से दूर कर सकते हैं।

नियम और शर्तों को गंभीरता से पढ़ें

हमारी यह एक बुरी आदत है कि हम ऐप को इस्तेमाल करने की जल्दबाजी में उस ऐप की शर्तें बिना पढ़े एक्सेप्ट कर लेते हैं। ऐसा करने से ऐप्स आपकी इजाजत के साथ आपके फोन पर निगरानी रख सकता है जो बहुत खतरनाक है इसलिए आपको भी ऐप के नियम और शर्तों को ध्यान पूर्वक पढ़ना चाहिए।

बेवजह ब्लूटूथ जीपीएस वाईफाई ना रखें ऑन

हैकर्स आप से जुड़ने के लिए ब्लूटूथ, जीपीएस और वाईफाई इत्यादि की तलाश में रहते हैं और उसकी मदद से वह आपके स्मार्टफोन के डाटा को हैक कर सकते हैं इसलिए जब आवश्यक ना हो तो ब्लूटूथ, जीपीएस और लोकेशन इत्यादि को ऑन ना करें।

स्मार्टफोन को रखें अप टू डेट

कोई भी मोबाइल कंपनी अपने स्मार्टफोन को और बेहतर करने के लिए तथा थ्रेट प्रूफ बनाने के लिए नए अपडेट भेजती रहती है। अपडेट आपके स्मार्टफोन को साइबर थ्रेट से बचाने का पहला कदम है। सॉफ्टवेयर अपडेट के लिए फोन की सेटिंग के सॉफ्टवेयर अपडेट पर क्लिक करके नये अपडेट की जानकारी हासिल कर सकते हैं।

पासवर्ड से करें प्रोटेक्शन

स्मार्टफोन की सिक्योरिटी यूजर की सर्वप्रथम प्राथमिकता होती हैं और हैकर्स के चंगुल से बचने का यह सबसे अच्छा तरिका, पासवर्ड प्रोटेक्शन ऑन रखना है।फोन के लिए एक पैटर्न लॉक, पर्सनलाइज्ड पिन या एक अल्फाबेटिकल-न्यूमेरिक पासवर्ड चुन सकते हैं। एक स्मार्ट पासवर्ड चुनें जिसे आप आसानी से याद रख सकते हैं, जिसे हैकर्स की तरफ से अनुमान लगाना मुश्किल हो। आप अपने फ़ोन को लॉक होने में लगने वाले समय को भी सेटअप कर सकते हैं। इस बात का हमेशा ध्यान रखे।

पब्लिक वाई-फाई का इस्तमाल सावधानी से करें

पब्लिक वाई-फाई लोगों की सुविधा के लिए होती है, जिसकी मदद से लोग अपने कोन में इंटरनेट के बिना भी इंटरनेट की सुविधाएं ले सकते हैं। मगर यही सुविधा हमे खतरे मे डालती है क्योंकि हैकर्स के लिए यह एक ट्रिट की तरह होता है क्योंकी पब्लिक वाई फाई का इस्तमाल एक साथ कई लोग करते है जिससे हैकर्स को यूजर्स को खोजने में आसानी होती क्योंकी सारे एक ही वाई फाई से जुड़े होते हैं।

Next Story
Share it