बड़ी खबर : IPL 2020 से चीनी कंपनी Vivo के हटने की आई रिपोर्ट, BCCI ने यह कहा...

IPL 2020 से चीनी कंपनी Vivo के हटने की आई रिपोर्ट, BCCI ने यह कहा…

खेल राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

IPL (Indian Premier League)  के 13वें सीजन में अभी 46 दिन बाकी हैं और आठ फ्रेंचाइजियों में से एक के मालिक ने बाकी सात को फोन कर यह बताया कि लीग का मुख्य प्रायोजक Vivo बाहर जा सकता है. उधर दूसरी तरफ एक रिपोर्ट के मुताबिक टाइटल स्पॉन्सर Vivo ने IPL-13 से अपना नाम पीछे खींच लिया है. BCCI ने हालांकि कहा है कि घबराने की कोई बात नहीं है.

मामले से संबंध रखने वाले एक BCCI सूत्र ने आईएएनएस से कहा है कि स्थिति में कोई बदलाव नहीं हुआ है और अगर किसी को वित्तीय संकट लगता भी है तो घबराने से हल नहीं निकलेगा.

सूत्र ने कहा, इस समय स्थिति में कोई बदलाव नहीं है. हम समझ सकते हैं कि इस समय किसी को वित्तीय संकट हो सकता है, लेकिन BCCI के नजरिए से, अगर किसी के लिए बाजार की स्थिति मुश्किल पैदा भी करती है तो भी अनुबंधित राशि में बदलाव करने का कोई निर्णय नहीं लिया गया है. यह सुप्रीम कोर्ट के फैसले के आधार पर है.

धोनी का नया लुक हुआ वायरल, फैंस को है अब धमाके का इंतजार, देखे धोनी का नया लुक

ये बाध्यकारी अनुबंध है

उन्होंने कहा, यह बाध्यकारी अनुबंध है और इसी के आधार पर दो पार्टियां बात करती हैं. देखिए BCCI जैसे संस्थान में रोज कई तरह की छोटी-छोटी चीजें होती हैं, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि हम घबरा जाएं. किसी ने कुछ बात सुनी और किसी तरह बिना सोच-समझे पैनिक बटन दबा दिया. ठीक है, इस तरह की चीजें आपको अनुभव देती हैं.

अधिकारी ने कहा, अंतिम बात यह है कि अभी तक किसी तरह का कोई बदलाव नहीं है. अगर स्थिति बदलती है तो हम देखेंगे. फ्रेंचाइजी के एक अधिकारी ने इस बात की पुष्टि करते हुए कहा कि मालिक के पास इस संबंध में एक फोन आया था.

उन्होंने कहा, हां, उनके BCCI के अधिकारियों से अच्छे संबंध हैं और उन्होंने मालिक को फोन किया था और बताया था कि Vivo अपने हाथ खींच सकता है. लेकिन मुझे लगता है कि फैसला अंतिम नहीं है. जो भी स्थिति होगी, हमें उम्मीद है कि स्थिति आती भी है तो, इस तरह के गंभीर मुद्दे को BCCI सभी फ्रेंचाइजियों के साथ आधिकारिक रूप से अपने हाथ में लेगी.

क्रिकेट की दुनिया के सबसे अमीर बोर्ड BCCI ने अपने स्टार खिलाड़ियों को 10 महीने में भुगतान नहीं किया…

टिकट रेवेन्यू का मुद्दा उठा था

वहीं मामले से संबंध रखने वाले एक सूत्र ने बताया कि इन्हीं शख्स ने फ्रेंचाइजियों और BCCI अधिकारी के बीच हुई बैठक टिकट रेवेन्यू की भरपाई का मुद्दा उठाया था. अधिकारी ने बताया था, उन्होंने टिकट रेवेन्यू की भरपाई का मुद्दा उठाया था, लेकिन बैठक में मौजूद सभी लोगों ने इस बात पर जोर दिया था कि टिकट रेवेन्यू का मुद्दा उनके लिए मायने नहीं रखता बल्कि सभी के लिए अहम है कि IPL का आयोजन इस साल सफलतापूर्वक हो.

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:  

FacebookTwitterWhatsAppTelegramGoogle NewsInstagram

Facebook Comments