इस भारतीय खिलाड़ी ने लिया क्रिकेट के सभी फॉरमेट से सन्यास

खेल राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

टीम इंडिया में मध्यक्रम के बल्लेबाज़ मोहम्मद कैफ ने क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास लेने का ऐलान कर दिया हैं. कैफ ने वर्ष 2006 में भारत के लिए आखिरी अंतराष्ट्रीय मैच खेला था.

कैफ ने बीसीसीआई के कार्यकारी अध्यक्ष सीके खन्ना और कार्यकारी सचिव अमिताभ चौधरी को मेल द्वारा संन्यास की सूचना देते हुए कहा, “मैं आज क्रिकेट के सभी फॉर्मेट से संन्यास के ऐलान कर रहा हूँ.”

वर्ष 2003 में ने दक्षिण अफ्रीका में खेले आईसीसी वर्ल्डकप में फाइनल में जगह बनायीं, इस दौरान कैफ टीम इंडिया का हिस्सा थे. इससे पहले वर्ष 2000 में मोहम्मद कैफ ने बतौर कप्तान भारत को अंडर19 विश्वकप भी जितवाया था. जिसके बाद वह रातो रात स्टार बन गए थे.

मेल में कैफ ने लिखा, “मैं आज संन्यास ले रहा हूँ, उस ऐतिहासिक नेटवेस्ट ट्राफी को 16 वर्ष बीत चुके हैं, जिसका मैं भी हिस्सा था. भारत के लिए खेलना मेरे लिए गर्व की बात है.”

आज के दिन वर्ष 2002 में नेटवेस्ट ट्राफी के फाइनल में मोहम्मद कैफ ने 87 रनों की अद्भुत पारी खेलकर टीम इंडिया को जीत दिलाई थी. जिसके बाद से वह इंडिया के चर्चित बल्लेबाज़ बन गए थे. इस मैच के बाद गांगुली ने लॉर्ड्स के बालकनी से अपनी टी-शर्ट उतार हवा में लहराई थी.
“मैंने भारत के लिए 125 वनडे और 13 टेस्ट खेले. इस अवसर के लिए बीसीसीआई का आभारी हूँ.”

मोहम्मद कैफ का अंतराष्ट्रीय करियर

37 वर्षीय बल्लेबाज़ मोहम्मद कैफ ने वर्ष 2000 में टेस्ट क्रिकेट से अंतराष्ट्रीय क्रिकेट में डेब्यू किया था. जिसके बाद से उन्होंने अपने करियर के दौरान 13 टेस्ट मैचो की 22 पारियों में 32.84 की औसत से 624 रन बनायें. इस दौरान कैफ ने एक शतक और 3 अर्धशतक भी लगायें.

वनडे करियर के दौरान कैफ ने 125 मैचो की 110 पारियों में 32.01 की औसत और 72.03 की स्ट्राइक रेट से 2753 रन बनायें. कैफ ने अपने अंतराष्ट्रीय करियर के दौरान 2 शतक और 17 अर्धशतक भी लगायें.