अध्यात्म

यह कार्य दिलाते हैं मां सरस्वती का आर्शीवाद, धन और बुद्धि में होता है विकास

bank of baroda loan scheme
x
व्यक्ति जीवन में केवल धनवान नहीं बनना चाहता। उसकी सदैव चाहत रहती है वह सबसे ज्यादा अकलमंद हो।

व्यक्ति जीवन में केवल धनवान नहीं बनना चाहता। उसकी सदैव चाहत रहती है वह सबसे ज्यादा अकलमंद हो। क्योंकि जीवन में सम्मान प्राप्त करने के लिए केवल धन ही पर्याप्त नहीं है। इसके लिए व्यक्ति का बुद्धिमान होना भी आवश्यक है। इसके बताया गया है कि कुछ खास कार्यों को कर लिया जाए तो अवश्य ही धन और बुद्धि में विकास होगा। आइए जाने हमें माता सरस्वती का आर्शीवाद प्राप्त करने के लिए क्या करना चाहिए।

अवश्य करें पूजा

छात्र जीवन में हर दिन माता सरस्वती की अवश्य पूजा करनी चाहिए। खास तौर पर उन छात्रों को जो प्रतियोगी परीक्षाओं की तैयारी कर रहे , नौकरी के लिए तैयारी कर रहे छात्र अवश्य ही माता की पूजा करें।

गुरूजनों का करें सम्मान

सरस्वती माता की पूजा करना उत्तम बताया गया है। लेकिन छात्रों को सदैव ध्यान रखना चाहिए कि वह अपने गुरुजनों का सदैव सम्मान करें। ऐसा करने से माता सरस्वती प्रसन्न होती है। साथ ही बताया गया है कि बच्चों को अपने माता-पिता का सम्मान और उनका आज्ञा का पालन करना चाहिए। ऐसा करने से माता सरस्वती छात्रों पर अपनी कृपा दृष्टि बनाए रखती हैं।

बच्चों को दे उपहार

कहा गया है कि जब किसी दिन आप किसी इंटरव्यू के लिए जा हरे हो उस दिन छोटे बच्चों को पेन, पेंसिल, कॉपी, किताब तथा कुछ मीठा खाने के लिए टॉफी वगैरा दें। ऐसा करने से माता सरस्वती प्रसन्न होती है।

इस मंत्र का करें जाप

शास्त्रों में बताया गया है कि अगर आप शिक्षा ग्रहण करने के साथ ही कला के क्षेत्र में जैसे संगीत, चित्रकला, नृत्य भी सफलता चाहते हैं तो प्रतिदिन ओम ऐं ह््रीं क्लीं महासरस्वती देव्यै नमः मंत्र का जाप 108 बार अवश्य करें।

नोट-ः उक्त समाचार में दी गई जानकारी सूचना मात्र है। रीवा रियासत समाचार इसकी पुष्टि नहीं करता है। दी गई जानकारी प्रचलित मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है। ऐसे में किसी कार्य को शुरू करने के पूर्व विशेषज्ञ से जानकारी अवश्य प्राप्त कर लें।

Next Story