vindhyacoronabulletin/shahdol  (2).jpg

SHAHDOL : कोरोना तांडव के बाद शासन-प्रशासन की टूटी तंद्रा, मंत्री ने बैठक लेकर दिये कई निर्देश

RewaRiyasat.Com
Saroj Kumar Tiwari
19 Apr 2021

शहडोल। जिले में कोरोना संक्रमण में तांडव मचाकर रख दिया है। अचानक कई मरीजों की सांसें थमने के बाद प्रदेश भर में हड़कम्प मच गया जिसके बाद शासन-प्रशासन की तंद्रा टूटी और आनन-फानन में कोरोना प्रभारी मंत्री बिसाहूलाल सिंह रविवार को मेडिकल काॅलेज पहुंचे जहां मेडिकल कॉलेज के डीन डॉ मिलिंद शिरालकर, अधीक्षक डॉ नागेंद्र सिंह सहित तमाम चिकित्सकीय अमले के साथ बैठक की। प्रभारी मंत्री के साथ विधायक जय सिंह मरावी एवं विधायक मनीषा सिंह भी मौजूद रहीं। प्रभारी मंत्री ने डीन से पूरे हालात को लेकर चर्चा की।

इस दौरान प्रभारी मंत्री ने डीन को निर्देश दिए कि नियमानुसार नर्सिंग स्टाफ की भर्ती करें और यहां की व्यवस्थाओं को पटरी पर लाने का प्रयास करें। मंत्री ने कहा कि किसी भी मरीज की अव्यवस्थाओं के कारण मौत नहीं होना चाहिए। बैठक में अब तक के हालातों का जायजा लिया और एक -एक बिंदु पर बात की। कोरोना से जूझ रहे मरीजों को राहत पहुंचाने के उद्देश्य से जयसिंहनगर विधायक जय सिंह मरावी और जैतपुर विधायक मनीषा सिंह ने अपने विधायक मद से 25-25 लाख रुपए मेडिकल कॉलेज को प्रदान किए हैं।

मरीजों की मौत पर कलेक्टर ने कहा

कलेक्टर डॉ. सतेंद्र सिंह ने एक वीडियो बनाकर अपना पक्ष इंटरनेट मीडिया में रखा। कलेक्टर डॉ सत्येंद्र सिंह ने कहा है कि सुबह साढे बजे उनके पास मेडिकल कॉलेज से फोन आया था कि टैंकर की कमी है और आक्सीजन का प्रेसर नहीं बन रहा है इससे ऑक्सीजन सप्लाई में थोडी सी दिक्कतें आ रही हैं। कलेक्टर ने कहा कि मैंने तत्काल उनको कहा कि जिला अस्पताल में जनरल सिलेंडर उपलब्ध हैं।

कलेक्टर ने कहा कि सवा पांच बजे के आसपास सिलेंडर पहुंच भी गए थे । कलेक्टर ने बताया कि ऑक्सीजन लेकर आ रहा टैंकर दमोह और शहडोल के रास्ते में है जो जल्दी पहुंच जाएगा। उन्होंने कहा कि इस संबंध में मेडिकल कॉलेज के अधीक्षक डॉ नागेंद्र सिंह से बात हुई है उन्होंने बताया कि शनिवार की रात 6 मरीजों की मौत हुई है और यह मरीज क्रिटिकल थे।

SIGN UP FOR A NEWSLETTER