रीवा : पहले दुकानदार से की लूट, फिर जो हुआ चौका देने वाला था, पढिये1 min read

Rewa

रीवा. दिन में हार्डवेयर संचालक के साथ हुए विवाद के बाद देर रात बदमाश उनके घर में डकैती डालने पहुंच गए। बदमाश वारदात को अंजाम देने की साजिश रच रहे थे लेकिन पुलिस ने घेराबंदी करके पकड़ लिया। बदमाशों के कब्जे से असलहा बरामद हुआ है।

भागने के चक्कर में छूटा मोबाइल
मनगवां थाना के मनिकवार स्थित हार्डवेयर संचालक पुष्पेन्द्र सिंह पर शुक्रवार दोपहर तीन बजे अमित सिंह ने साथियों के साथ हमला किया था। स्थानीय लोगों ने घेर लिया तो भागने के चक्कर में उसका कट्टा व मोबाइल घटनास्थल पर ही छूट गया था। इस घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों की पुलिस तलाश कर रही थी। शुक्रवार रात पुलिस को बेलहई मोड़ मनिकवार के समीप जीप में कुछ बदमाशों के बैठे होने की सूचना मिली। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक आशुतोष गुप्ता के निर्देश पर थाना प्रभारी वीसी विश्वास ने दो टीम बनाकर बदमाशों को घेर लिया। पुलिस ने जीप में सवार चार बदमाशों को पकड़ा। पकड़े गए आरोपियों के पास से लोडेड कट्टा, तलवार, बका व चाकू बरामद किया है। आरोपियों को गिरफ्तार कर पुलिस थाने ले आई जिनसे पूछताछ की जा रही है। पकड़े गए आरोपियों में दोपहर हुई घटना में नामजद आरोपी का पुत्र भी शामिल है। दोपहर वारदात असफल होने पर बदमाश पीडि़त के घर में डकैती डालने हथियारों से लैश होकर पहुंचे थे। यदि पुलिस ने सतर्कता नहीं दिखाई होती तो आरोपी बड़ी वारदात को अंजाम दे सकते थे।

चार गिरफ्तार
मामले में पुलिस ने दो पुलिसकर्मी के बेटों सहित चार लोगों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों में राहिल सिंह पिता राजेश सिंह निवासी अहिरगांव, शिवम मिश्रा पिता शंभू प्रसाद मिश्रा निवासी दुबहाई हाल मुकाम पुलिस लाइन, शिवम उर्फ मोनू मिश्रा पिता लालजी मिश्रा निवासी करौंदहा बैकुंठपुर हाल मुकाम कोष्ठा, शिवम विश्वकर्मा पित उमाशंकर निवासी पुलिस लाइन को गिरफ्तार किया है जिनके खिलाफ धारा 309, 402, 25/27 आम्र्स एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

कर रहे थे साजिश

आशुतोष गुप्ता, एएसपी रीवा ने बताया कि डकैती की साजिश रचते चार बदमाशों को बेलहई मोड़ के समीप पकड़ा गया है जिनके कब्जे से हथियार बरामद हुए है। आरोपी फोरह्वीलर वाहन से वारदात को अंजाम देने आये थे। आरोपियों में दो पुलिसकर्मियों के पुत्र भी है

Facebook Comments