रीवा : पुलिस ने ही कर दी हेराफेरी, एफआईआर में थी साढ़े तीन तोले की चेन, लौटाई 4.60 ग्राम की चेन 1

रीवा : पुलिस ने ही कर दी हेराफेरी, एफआईआर में थी साढ़े तीन तोले की चेन, लौटाई 4.60 ग्राम की चेन

Rewa

रीवा। गुडवर्क के गुणा-भाग में जुटी रीवा पुलिस की हेराफेरी का मामला प्रकाश में आया है। जिले की विश्वविद्यालय थाना पुलिस एफआईआर लूटपाट में गए चेन का वजन तीन तोला और एक लॉकेट लिखती है, जबकि सिर्फ 4.60 ग्राम की चेन लौटाती है।

चेन की कीमत पहले पचास हजार रुपये लिखती है और जब चोर पकड़ा जाता है तो बरामदगी में भी उसकी कीमत 50,000 रुपये दिखाई जाती है। पुलिस अधिकारियों ने इस मामले में कई पुलिसकर्मियों को प्रशस्ति पत्र दिए थे, जबकि दो टर्न ऑफ प्रमोशन भी प्रस्तावित किया था। गौरतलब है, पुलिस ने आरोपी दीपक सोनी पिता गिरधारी लाल (24) निवासी टिकुरिया टोला सतना, शक्ति कुमार गुप्ता पिता कामता प्रसाद टिकुरिया टोला डाली बाबा रोड सतना को पकड़कर लगभग 12 सोने की चेन बरामद करने का दावा किया था। पकडऩे के बाद बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस कर पीडि़तों को बरामद की गई चेन लौटाई गई थीं। इतना ही नहीं इन आरोपियों के पकडऩे वाली पुलिस टीम को पुरस्कृत भी किया गया था, लेकिन एक पीडि़त को तीन तोले के बदले 4 ग्राम 60 सोना ही मिल पाया।

14 नवंबर को पुलिस कंट्रोल रूम में रीवा आईजी चंचल शेखर, डीआईजी अविनाश शर्मा, एसपी आबिद खान, एडिशनल एसपी शिवकुमार वर्मा, कई थाना प्रभारी की मौजूदगी में बड़ी चेन स्नैचिंग का खुलासा किया गया था। इस खुलासे में आरोपियों ने 12 वारदातों को कबूल करने और चोरी का मशरुका बरामद कराने की बात बताई गई थी। साथ ही पीडि़तों को उनके लुटे हुए चेन वापस किए गए थे। मामले का खुलासा तब हुआ जब ममता दुबे पति व्यास मुनि द्विवेदी (50) निवासी इंदिरा नगर की लूटी हुई तीन तोले से अधिक की चयन के बदले पुलिस ने 4 ग्राम 60 मिली वजन की चेन वापस की और इस चेन की कीमत भी पचास हजार बताई गई। पुलिस के द्वारा कंट्रोल रूम में जिस समय खुलासा हुआ और पीडि़तों को उनकी चेन वापस की। उस समय पीडि़ता उमरिया में थी, जिससे उनके परिजनों ने कंट्रोल रूम पहुंचकर चेन बरामद होने की जानकारी ली थी। पीडि़तों को उनके चोरी गए सामान के बदले चोरों से बरामद मशरुका देने का आदेश न्यायालय के द्वारा दिया गया और जब पीडि़ता को चेन वापस की गई तो पीडि़ता ने उसका वजन कराया तो वह 4 ग्राम 60 मिली की निकला।

पीडि़त महिला ने विश्वविद्यालय थाना पहुंचकर थाना प्रभारी से बताया कि साढ़े तीन तोले की चेन मेरी लूटी गई थी और मुझे 4 ग्राम 60 मिली की सोने की चेन वापस की जा रही है। जबकि न्यायालय ने मुझे एक लाख रुपए कीमत की चेन वापस करने का आदेश दिया है।

पीडि़ता की बात सुनकर थाना प्रभारी विश्वविद्यालय बौखला गए और उन्होंने महिला से कहा कि जो मिल रहा है वह ले लो वरना यह जिसकी है। उसे वापस कर दी जाएगी। पीडि़ता अब न्यायालय में पुन: बरामद चेन को पाने के लिए अपील करेगी। पकड़े गए आरोपियों की निशानदेही पर सतना से उक्त वारदातों का मशरूका बरामद किया गया है, जिसमें सुशीला सिंह निवासी खुटेही, राजकुमारी निवासी कैलाशपुरी, ममता दुबे निवासी इंदिरा नगर, शीलू पांडे निवासी गोलपार्क, ऊषा सिंह निवासी तुलसी नगर, सुनीता आर्य निवासी पारस नगर, सविता सिंह निवासी पारस नगर, मालती मिश्रा निवासी बरा, शशिकला तिवारी निवासी समान, सविता सिंह निवासी नेहरू नगर पुष्पा पांडे निवासी पडऱा थीं।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •