रीवा: मोबाइल चोरी के विवाद में युवक की निर्दयतापूर्वक की हत्या, झाड़ियों में मिला शव, 3 गिरफ्तार 1

रीवा: मोबाइल चोरी के विवाद में युवक की निर्दयतापूर्वक की हत्या, झाड़ियों में मिला शव, 3 गिरफ्तार

Crime Rewa

रीवा। चोरहटा थाना क्षेत्र के बैजनाथ स्थित फैट्री की माइंस के पास एक मोटरसाइकिल खड़ी होने की जानकारी लगते ही आसपास सनसनी फैल गई। स्थानीय लोगों ने अनुमान लगाया कि माइंस में डूबकर किसी की मौत हो गई होगी। लोगों ने पुलिस को सूचना दी कि एक व्यक्ति माइंस में डूब गया है और उसकी मोटरसाइकिल माइंस के किनारे खड़ी है।

जानकारी मिलते ही मौके पर पुलिस पहुंची और मोटरसाइकिल नंबर के आधार पर युवक की पहचान की गई। मोटरसाइकिल की पहचान होते ही पता चला कि युवक की गुमशुदगी चोरहटा थाना में दर्ज है, वह पिछले 2 दिनों से लापता है। पुलिस द्वारा माइंस के आसपास युवक की तलाश की जा रही थी, तभी झाडिय़ों में एक शव मिला जिसकी पहचान गुम इंसान के रूप में हुई और पुलिस ने परिजनों को सूचना देकर मौके पर बुलाया। साथ ही एफएसएल टीम और एसपर्ट डॉग की मदद से साक्ष्य जुटाये गए। मृतक के परिजनों के बयान और साक्ष्यों के आधार पर पुलिस तीन आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। प्रथम दृष्ट्या हत्या कर शव फेंकने का मामला सामने आया है।

मिली जानकारी के अनुसार संजय शुला पिता शिवचरण शुला निवासी उमरी थाना चोरहटा 30 अटूबर से लापता था। परिवार वालों द्वारा थाना में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई गई थी। 1 नवंबर को सुबह स्थानीय लोगों ने माइंस के पास मोटरसाइकिल खड़ी होने की सूचना पुलिस को दी, जिसके बाद युवक का शव बरामद हुआ है।

दीपक को मरवाया था चांटा :
सूत्रों की मानें तो मृतक संजय शुला का विवाद बैजनाथ निवासी दीपक कोल से मोबाइल चोरी को लेकर हुआ था, जिसके चलते संजय ने अपने साथी वीरेस केवट को बुलाकर दीपक कोल को दो चांटे मरवाकर मोबाइल वापस करने को कहा था। इस मारपीट से नाराज दीपक कोल ने अपने दो अन्य साथियों अधिमल केवट और मुंशी कोल के साथ मिलकर हत्या की साजिश रची और संजय के साथ बैठकर सभी ने शराब पी। इसी दौरान गुप्ती मारकर संजय की हत्या कर दी। आरोपियों ने पुलिस को भ्रमित करने के लिये हत्या के बाद शव को पत्थर से कुचल दिया और मोटरसाइकिल घटना स्थल से डेढ़ किलोमीटर दूर माइंस के पास खड़ा कर दिया।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •