पढ़िए ! रीवा के सरकारी समाचार... 1

पढ़िए ! रीवा के सरकारी समाचार…

Rewa

प्लास्टिक प्रदूषणः कारण, प्रभाव और समाधान पर टी आर एस कॉलेज के भौतिक शास्त्र विभाग में हुआ विशेष व्याख्यान

आधुनिक समाज में प्लास्टिक मानव-शत्रु

समाज में फैले आतंकवाद से तो छुटकारा पाया जा सकता है, किंतु प्लास्टिक से छुटकारा पाना अत्यंत कठिन

रीवा । शासकीय ठाकुर रणमत सिंह महाविद्यालय रीवा के भौतिक शास्त्र विभाग द्वारा प्लास्टिक प्रदूषणः कारण, प्रभाव और समाधान विषय पर विशेष व्याख्यान का आयोजन प्राचार्य डॉ. रामलला शुक्ल की अध्यक्षता में आयोजित किया गया। मुख्य वक्ता के रूप में प्रोफेसर अखिलेश शुक्ल उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन एवं संयोजन भौतिक शास्त्र के विभागाध्यक्ष डाँ. अच्युत पाण्डेय के द्वारा किया गया। कार्यक्रम के प्रारंभ में मां सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण किया गया तथा मां सरस्वती के समक्ष दीप प्रज्जवलन किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहें प्राचार्य डाँ.रामलला शुक्ल ने कहा कि पर्यावरण को नुकसान पहुंचाने के लिए बहुत से कारण जिम्मेदार हैं जिनमें प्लास्टिक एक बहुत बड़ा खतरा बनकर उभरा है। दिन की शुरूआत से लेकर रात में बिस्तर में जाने तक अगर ध्यान से गौर किया जाए तो आप पाएंगे कि प्लास्टिक ने किसी न किसी रूप में आपके हर पल पर कब्जा कर रखा है। यह कहने में कोई अतिशयोक्ति नहीं है कि हम पॉलीथीन या प्लास्टिक के युग में रह रहे हैं। आधुनिक समाज में प्लास्टिक मानव-शत्रु के रूप में उभर रहा है। समाज में फैले आतंकवाद से तो छुटकारा पाया जा सकता है, किंतु प्लास्टिक से छुटकारा पाना अत्यंत कठिन है, क्योंकि आज यह हमारे दैनिक उपयोग की वस्तु बन गया है। हर कोई जानबूझकर पॉलीथीन की दुष्प्रभावों से अनजान हो जाता है जो कि एक प्रकार का जहर है जो अंततः पर्यावरण को नष्ट कर देगा। अगर हम भविष्य में प्लास्टिक से छुटकारा चाहते हैं तो इससे पहले कि बहुत देर हो जाए हमें सही कदम उठाने होगें।

कार्यक्रम के मुख्य वक्ता के रूप में प्रोफेसर अखिलेश शुक्ल ने अपने उद्बोधन मे कहा कि तमाम खूबियों वाला यही प्लास्टिक जब उपयोग के बाद फेंक दिया जाता है तो यह अन्य कचरों की तरह आसानी से नष्ट नहीं होता। एक लंबे समय तक अपघटित न होने के कारण यह लगातार एकत्रित होता जाता है और अनेक समस्याओं को जन्म देता है। जिन देशों में जितना अधिक प्लास्टिक का उपयोग होता है, वहां समस्या उतनी ही जटिल है। चिंता की बात तो यह है कि प्लास्टिक का उपयोग लगातार बढ़ता जा रहा है। गृहोपयोगी वस्तुओं से लेकर कृषि, चिकित्सा, भवन-निर्माण, विज्ञान सेना, शिक्षा, मनोरंजन, अंतरिक्ष, अंतरिक्ष कार्यक्रमों और सूचना प्रौद्योगिकी आदि में प्लास्टिक का उपयोग हो रहा प्लास्टिक से उत्पन्न कचरा पानी के स्त्रोतो जैसे कि, नदियो, समुद्रो तथा महासागरो में मिल जाता है और इन्हे बुरे तरीके से प्रभावित करता है। यही पानी हमारे उपयोग के लिये हम तक पहुंचाया जाता है, इससे कोई भी फर्क नही पड़ता कि हम इन्हे कितना भी छाने यह अपने वास्तविक अवस्था में कभी वापस नही आ सकता और इस पानी के उपयोग से हमारे स्वास्थ्य पर भी नकरात्मक प्रभाव पड़ता है।

कार्यक्रम का संचालन कर रहें प्रो.अच्युत पाण्डेय ने कहा की  भारी मात्रा में प्लास्टिक से उत्पन्न होने वाले कचरे का लैंडफिलो में निस्तारण किया जाता है। इसके अलावा हवा द्वारा उड़ा लिये जाने पर प्लास्टिक के छोटे-छोटे टुकड़े एक स्थान से उड़कर दूसरे स्थान पर पहुंचा दिये जाते है और प्लास्टिक के यह टुकड़े हानिकारक रसायन उत्पन्न करते है जोकि मिट्टी के गुण तथा  उर्वरकता को नष्ट कर देता है। यह पेड़-पौधो के वृद्धि को भी प्रभावित करता है, इसके अलावा बेकार पड़े हुए प्लास्टिक से मच्छर और अन्य तरह के कीड़े उत्पन्न होते है जो कई तरह की बीमारिया फैलाते है। प्लास्टिक बैग और अन्य प्लास्टिक कचरे जो कि नदियो और समुद्रो में पहुंच जाते है। उसे समुद्री जीवो द्वारा भ्रमवश अपना भोजन समझकर खा लिया जाता है, जिससे वह बीमार पड़ जाते है।

      कार्यक्रम में मुख्य रूप से डाँ.ओंकार दीक्षित, वरिष्ठ वैज्ञानिक फोरन्सिक,भोपाल, डॉ.अनिल तिवारी, प्रो. अरूण शिखा पाण्डेय, प्रो.सौरभ पाण्डेय प्रो.कीर्ति मिश्रा, प्रो.आशीष तिवारी, प्रो.शिवम तिवारी, प्रो.राकेश तिवारी, प्रो.उमेश पाण्डेय आदि उपस्थित रहें।

                                       फोटो-1

———————–

लघुवेतन कर्मचारी संघ आज सौपेगा मुख्यमंत्री को ज्ञापन

      रीवा । मध्यप्रदेश लघु वेतन कर्मचारी संघ के संभागीय अध्यक्ष सूर्यबली बुनकर एवं जिला शाखा अध्यक्ष रोशनलाल तिवारी संयुक्त जारी विज्ञप्ति में बताया है कि लघु वेतन कर्मचारी संघ के द्वारा महासमिति भोपाल की बैठक में लिये गये निर्णय अनुसार लघु वेतन कर्मचारी संघ कर्मचारियों की समस्याओं का निराकरण हेतु छः चरणो में आन्दोलन करने का निर्णय लिया है। छः चरणों का आन्दोलन संभागीय अध्यक्ष के माध्यम से 13 सूत्रीय मांगों का ज्ञापन कमिश्नर महोदय के माध्यम से मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री महोदय एवं प्रमुख सचिव के नाम सौपा जावेगा। कर्मचारी नेताद्वय ने जिला मुख्यालय के समस्त चतुर्थ श्रेणी वर्ग के पदाधिकारी एवं सदस्यों ने अपील की है कि दिनांक 15 अक्टूबर 2019 को दोपहर 1.30 बजे कमिश्नर कार्यालय में उपस्थित होकर साथियों के साथ ज्ञापन सौपने में सहयोग प्रदान करें।

—————————-

पर्यावरण संरक्षण को लेकर अमित निकलेगें साइकिल यात्रा पर आज

      रीवा । सिंगल यूज प्लास्टिक पूर्णतः प्रतिबंधित के जनजागरण अभियान एवं पर्यावरण संरक्षण को लेकर पर्यावरण विषय के शोधार्थी छात्र अमित तिवारी के द्वारा रीवा जिले में साइकल यात्रा चलाई जायेगी। अमित ने कहा कि देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के राष्ट्रव्यापी आह्वान पर सिंगल यूज प्लास्टिक पूर्णतः प्रतिबंधित हो चुका है इस कार्यक्रम को जन जागरुकता के माध्यम से आम जनमानस के बीच में प्लास्टिक के मानव शरीर पर होने बाले दुष्प्रभाव एवं पर्यावरण पर क्या प्रभाव पड़ रहा है साइकल यात्रा के माध्यम से अवगत कराया जायेगा। साइकल यात्रा का शुभारंभ 15 अक्टूबर अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय पर्यावरण जीव विज्ञान विभाग से प्रारम्भ होकर सिरमौर चौराहा, ढेकहा तिराहा तक रैली के रूप में रहेगी। उसके पश्चात अमित के द्वारा शाहपुर, बीणा, सेमरिया, सिरमौर, अतरैला, जबा, त्योथर, चाकघाट, कटरा, नईगढ़ी होते ुए हनुमना, मउगंज, देवतालाब, मनिगवां, रायपुर कर्चुलियान से पुनः रीवा पहुंचेगी। कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए मुख्य रूप से पर्यावरण विभाग के विभागाध्यक्ष डा.रहस्यमणि मिश्रा, समस्त प्राध्यापकगण, पर्यावरण विद् एवं छात्र-छात्राए शामिल होगें।

———————————

सेन समाज की जिला कार्यकारिणी की बैठक आज

      रीवा । संभागीय अध्यक्ष बृजेश कुमार सेन युवा प्रकोष्ठ अध्यक्ष दिलीप कुमार सेन के नेतृत्व में आज 15 अक्टूबर 2019 को विवेकानन्द पार्क कालेज चौराहा में समय 2 बजे दोपहर जिला कार्यकारिणी की विशेष बैठक का आयोजन किया जायेगा जिसमें 19 अक्टूबर 2019 को होने बाले सतना जिले के अमरपाटन ब्लाक में ‘‘राष्ट्रीय सामाजिक परिवर्तन सम्मेलन’’ के विषय पर विशेष चर्चा की जायेगी। जिलाध्यक्ष दीनानाथ सेन ने सभी सदस्यों से बैठक में उपस्थित होने की अपील की है।

———————————

कानपुर उपचुनाव कराने रीवा से एनएसयूआई टीम रवाना

छात्र नेता अभिषेक को बड़ी जिम्मेदारी बनाये गये प्रभारी

रीवा, ।उत्तरप्रदेश के कानपुर की गोविंदनगर विधानसभा में हो रहे उप चुनाव में कॉंग्रेस ने अपना  प्रत्याशी एनएसयूआई की राष्ट्रीय महासचिव करिश्मा ठाकुर को बनाया है , जिसको लेकर एनएसयूआई के पदाधिकारियों की भी ड्यूटी वही लगाई जा रही है, जिसको लेकर रीवा से एनएसयूआई के कार्यकर्ता एनएसयूआई के सम्भागीय समन्यवक अभिषेक तिवारी अभि के साथ कानपुर के लिए आनंदविहार से रवाना हुए,जिनमे से जिला सचिव व्यास दुबे,जिला समन्यवक शुभम तिवारी,सौरभ त्रिपाठी ,पुनीत पांडेय,आशीष उपाध्याय आदि।

एनएसयूआई को मिला है नेतृत्व तो जीत हासिल की हम सबकी जिम्मेदारीः अभिषेक

एनएसयूआई के सम्भागीय समन्यवक अभिषेक तिवारी अभि ने कहा कि कॉंग्रेस पार्टी ने जिस तरह एनएसयूआई को लगातार नेतृत्व व विधानसभा चुनावों में टिकट देती आ रही है तो हम सब एनएसयूआई कार्यकर्ताओ की यह जिम्मेदारी बनती है कि वहां से जीत हांसिल कर छात्र नेतृत्व को बढ़ावा मिल सके और छात्र राजनीति का जो स्तर गिरता जा रहा है उसको एक नया आयाम मिले। ज्ञात हो कि इसके पूर्व रीवा में हुए लोकसभा चुनाव में कॉंग्रेस से जब युवा प्रत्याशी को टिकट मिली तो छात्र युवाओ ने प्रत्याशी को जिताने में पूरा दमखम लगा दिया, और लोकसभा चुनाव में भी एनएसयूआई के सम्भागीय समन्यवक अभिषेक तिवारी’अभि’ को छात्र युवाओ की लीडरशिप व मीडिया विभाग की जिम्मेदारी का भी निर्वाहन किया।

फोटे-2

————————————-

लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल की प्रतिमा को यथा स्थान रखने सौपा ज्ञापन

      रीवा । सरदार सेना सामाजिक संगठन रीवा के पूर्व जिलाध्यक्ष एवं राष्ट्रीय कार्यपरिषद सदस्य उमेश पटेल ने आयुक्त रीवा संभाग को एक ज्ञापन सौपकर कर मांग किया है कि लौह पुरुष सरदार बल्लभ भाई पटेल की आदम कद प्रतिमा को ओव्हर ब्रिज बनने के कारण हटाया जा रहा है जिसको यथावत रखते हुए प्रतिमा स्थल का सौन्दर्यीकरण किया जाय वहीं देशी मदिरा की दुकान एवं आहाता को तत्काल हटाया जाय। ज्ञापन में कहा गया है कि मदिरा की दुकान होने के कारण शराब पीकर लोग लौह पुरुष की प्रतिमा पर शराब की खाली बाटल फेकते है और मदिरा की दुकान होने से अराजक तत्वों का जमाबड़ा लगा रहता है। समान थाना की पुलिस मूकदर्शक बनी बैठी रहती है। ज्ञापन में यह भी कहा गया कि यदि प्रशासन प्रतिमा की देख रेख एवं सुरक्षा नहीं करती तो सरदार सेना उग्र आन्दोलन करेगी। प्रतिनिधि मण्डल में शंकर पटेल, एड.राघवेन्द्र सिंह, रितुराज सिंह पटेल, डब्लू पटेल, उदयराज सिंह, पवन सिंह, राजाराम पटेल, भर्री कोरी, रामसुशील वर्मा, रामसखा कुशवाहा, सुरेश प्रजापति, राजकरण प्रजापति, राहुल सोधिया उपस्थित रहे।

फोटो-3

———————

आयुर्वेद की ज्ञान संपदा हमारी धरोहर है – कमिश्नर डॉ. भार्गव

आयुर्वेद महाविद्यालय में कमिश्नर ने किया प्रदर्शनी का शुभारंभ

      रीवा ।  शासकीय स्वशासी आयुर्वेद चिकित्सा महाविद्यालय रीवा में आयुर्वेद के जनक भगवान धनवंतरी जयंती के उपलक्ष्य में मनाए जा रहे पखवाड़े के अंतर्गत औषधीय पौधों की प्रदर्शनी लगाई गई जिसका कमिश्नर रीवा संभाग डॉ. अशोक कुमार भार्गव ने फीता काटकर शुभारंभ किया। यह प्रदर्शनी 14 अक्टूबर से 17 अक्टूबर तक प्रातः 10.30 बजे से सांय 5 बजे तक आमजनों के अवलोकन हेतु खुली रहेगी। प्रदर्शनी महाविद्यालय की अग्निवेश वाटिका में लगाई गई है। प्रदर्शनी के माध्यम से पौधों से मिलने वाली विभिन्न औषधियों की जानकारी दी जा रही है। साथ ही पर्यावरण संरक्षण का भी संदेश दिया जा रहा है। प्रदर्शनी में पेड़ लगाओ, देश बचाओ, जीवन बचाओ एक पेड़ एक जिंदगी जैसे वाक्यों के माध्यम से लोगों को औषधि महत्व के पौधों के साथ-साथ पर्यावरण का संरक्षण करने के लिए प्रेरित किया जा रहा है।

प्रदर्शनी के शुभारंभ अवसर पर कमिश्नर डॉ. भार्गव ने कहा कि आयुर्वेद की ज्ञान संपदा हमारी धरोहर है जिस पर प्रत्येक भारतवासी को गर्व होना चाहिए और आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति के प्रचार-प्रसार, विस्तार तथा सामाजिक चेतना जागृत करने के लिए प्रतिबद्ध होना चाहिए। आज के बदले हुए परिवेश में प्रत्येक व्यक्ति अपनी बीमारी से तत्काल निजात पाना चाहता है जिसे एलोपैथिक दवाओं से राहत तो मिल सकती है किंतु बीमारी का कारण समाप्त नहीं होता है। आयुर्वेद चिकित्सा पद्धति में बीमारी के कारणों को प्राथमिकता देते हुए इलाज किया जाता है ताकि भविष्य में वह बीमारी जड़ से समाप्त हो जाये। आज आवश्यकता इस बात की है कि हमारे विद्यार्थी जो आयुर्वेद के ज्ञान और औषधियों से परिचित नहीं है उन्हें आयुर्वेद औषधियों की जानकारी प्रदर्शनी के माध्यम से अवगत कराना है। इस महाविद्यालय के विद्यार्थियों द्वारा प्रदर्शनी में बड़ी लगन, मेहनत और उत्साह से काम किया गया है। इनके प्रयासों की कमिश्नर डॉ. भार्गव ने सराहना की। उन्होंने जिला शिक्षा अधिकारी को निर्देश दिए हैं वह स्कूली छात्र-छात्राओं को प्रदर्शनी का आवलोकन करायें ताकि उनका ज्ञानवर्धन हो सके।

      कमिश्नर डॉ. भार्गव ने प्रदर्शनी में छात्र-छात्राओं से चर्चा कर औषधीय महत्व के पौधों के बारे में जानकारी ली और उन्हें इसी तरह रचनात्मक कार्य करते रहने के लिए प्रेरित किया। प्रदर्शनी के शुभारंभ के बाद कमिश्नर डॉ. भार्गव ने आयुर्वेद महाविद्यालय में औषधीय प्रयोगशाला, औषधीय भंडार कक्ष, संहिता सिद्धांत विभाग, स्वस्थ वृत विभाग एवं कक्षाओं का निरीक्षण कर छात्र-छात्राओं से चर्चा की। उन्होंने छात्र-छात्राओं को स्वस्थ रहने योग करने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने महाविद्यालय के प्राचार्य से महाविद्यालय में विभिन्न व्यवस्थाओं के सुधार के संबंध में विचार-विमर्श किया। कमिश्नर डॉ. भार्गव ने स्वच्छ भारत अभियान के अंतर्गत महाविद्यालय के प्राध्यापकगणों एवं अन्य स्टाफ को पॉलीथीन मुक्ति का संदेश देने हेतु कपड़े के थैलों का वितरण किया।

इस अवसर पर महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. दीपक कुलश्रेष्ठ ने बताया कि धनवंतरी पखवाड़े के अंतर्गत 16 अक्टूबर को मैराथन दौड़ का आयोजन किया जायेगा एवं 18 अक्टूबर को आयुर्वेद के प्रति जन जागरूकता पैदा करने के उद्देश्य से महाविद्यालय से एक रैली निकाली जायेगी जो शहर के पद्मधर पार्क पर जाकर समाप्त होगी। महाविद्यालय के प्रचार्य द्वारा आमजनों, छात्र-छात्राओं, गणमान्य नागरिकों, प्रशासनिक अधिकारियों, कर्मचारियों, जनप्रतिनिधियों आदि सभी से प्रदर्शनी का अवलोकन करने एवं मैराथन दौड़ तथा रैली में भाग लेने की अपील की गई है। प्रदर्शनी के शुभारंभ अवसर पर अधीक्षक आयुर्वेद चिकित्सालय डॉ. निधि मिश्रा, महाविद्यालय के प्राध्यापक डॉ. ओपी द्विवेदी, डॉ. पवन किरार, डॉ. एसएन त्रिपाठी, डॉ. प्रभंजन आचार्य, डॉ. विकास खरे, डॉ. श्रीराम द्विवेदी सहित अन्य प्राध्यापकगण व स्टाफ मौजूद था।

फोटो-4

———————–

कमिश्नर की अध्यक्षता में विकासखण्ड स्तरीय दो दिवसीय समीक्षा बैठक का आयोजन आज से

शिक्षकों से संवाद स्थापित करेंगे कमिश्नर डॉ. भार्गव

      रीवा । संभाग में शैक्षणिक गुणवत्ता में सुधार के उद्देश्य से रीवा संभाग के कमिश्नर डॉ. अशोक कुमार भार्गव द्वारा संभाग के सभी विकासखण्डों में बैठकों का आयोजन किया जा रहा है। कमिश्नर डॉ. भार्गव द्वारा पूर्व में शून्य से 30 प्रतिशत परीक्षा परिणाम वाले विद्यालयों की समीक्षा की गई थी। द्वितीय चरण में तिमाही परीक्षा के बाद शिक्षा के स्तर में गुणवत्ता लाने के लिए शिक्षकों से संवाद स्थापित कर उन्हें उचित मार्गदर्शन कमिश्नर द्वारा दिया जायेगा। इसी कड़ी में 15 एवं 16 अक्टूबर को सतना जिले के विद्यालयीन शिक्षकों से कमिश्नर डॉ. भार्गव संवाद स्थापित करेंगे।

      संयुक्त संचालक लोक शिक्षण अंजनी कुमार त्रिपाठी ने बताया कि 15 अक्टूबर को शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मझगवां एवं 16 अक्टूबर को शासकीय उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय मैहर में समस्त हाईस्कूल/हायर सेकण्डरी स्कूल के प्राचार्यों, एक शाला एक परिसर के संस्था प्रमुख, माध्यमिक शाला/प्राथमिक शाला के प्रधानाध्यापक/शिक्षक तथा स्वतंत्र शाला के प्रमुख अनिवार्यतः उपस्थित रहेंगे। बैठक में परीक्षा परिणाम उन्नयन हेतु किए गए प्रयास, ब्रिज कोर्स, दक्षता उन्ननयन, निदानात्मक कक्षाओं का संचालन, तिमाही परीक्षा परिणाम विश्लेषण एवं प्रायोगिक कार्यों की स्थिति की समीक्षा की जायेगी। साथ ही प्राथमिक कक्षाओं में स्लेट बत्ती का उपयोग तथा इमला (श्रुति लेख), सुलेख के नियमित अभ्यास एवं पीटीएम बैठक पर भी चर्चा की जायेगी। उपस्थित शिक्षकों से गणवेश वितरण, भवन, मध्यान्ह भोजन एवं पाठ्य पुस्तक वितरण की भी जानकारी अपने साथ रखने के निर्देश दिए गए हैं। बैठक के दिनों में कोई भी शाला बंद न रहे इस बात की सुनिश्चिता करने के निर्देश संयुक्त संचालक ने संस्था प्रमुखों को दिए हैं।

—————————

विश्व हाथ धुलाई दिवस आज

      रीवा । रीवा जिले की सभी शालाओं में आज 15 अक्टूबर को विश्व हाथ धुलाई दिवस मनाया जायेगा। इस वर्ष ““सभी के लिए स्वच्छ हाथ““ की थीम पर विश्व हाथ धुलाई दिवस आयोजित किया जा रहा है। इस दिन सभी शालाओं में मध्यान्ह भोजन से पहले सभी विद्यार्थियों के हाथ साबुन से धुलवाये जायेंगे साथ ही बच्चों को प्रतिदिन भोजन से पहले साबुन से हाथ धोने की सीख दी जायेगी।

      इस संबंध में जारी निर्देशों के अनुसार हाथ धुलाई के लिए सभी स्कूलों में उचित व्यवस्था की बात कही गयी है। सभी स्कूलों में हाथ धुलाई के लिए पर्याप्त पानी, साबुन तथा पर्याप्त संख्या में बाल्टी, जग आदि की व्यवस्था की जाये। हैण्डपंप के ऊपर हाथ धुलाई न करायें। सभी स्कूलों एवं छात्रावासों में शौचालयों के नियमित साफ-सफाई कराने के निर्देश दिये गये हैं। हाथ धुलाई के लिए स्कूलों तथा छात्रावासों में व्यवस्था आकस्मिक निधि से करें। सभी स्कूलों तथा छात्रावासों में साबुन बैंक की स्थापना करायें। इसमें शिक्षक तथा विद्यार्थी अपने जन्म दिन पर हाथ धुलाई के लिए साबुन का उपहार दें। इससे स्वच्छता अभियान में उनकी भागीदारी बढ़ेगी। हाथ धुलाई निर्धारित प्रक्रिया के साथ करायें। हाथ धुलाई का शालावार प्रतिवेदन अनिवार्य रूप से प्रस्तुत करें।

—————————

जिला परियोजना प्रबंधन इकाई की बैठक संपन्न

      रीवा । कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव की अध्यक्षता एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत रीवा के आयोजकत्व में जिला परियोजना प्रबंधन इकाई (डीपीएमयू) की बैठक आज संपन्न हुई। बैठक में कलेक्टर ने शासकीय प्राथमिक विद्यालय चौरा टोला अमिलकी के शिक्षकों द्वारा किये गये प्रंशसनीय कार्य के लिए प्रशंसा पत्र प्रदान करने को कहा। उल्लेखनीय है कि इस विद्यालय में अधिकारियों के निरीक्षण के दौरान 40 छात्रों में से 35 छात्र उपस्थित मिले थे और इसमें से 80 प्रतिशत छात्र उमंग समूह के थे। कक्षा दो के छात्र 17 तक का पहाड़ा सुना लेते हैं और कहानी का वाचन भी कर लेते हैं। नामांकन और उपस्थिति बढ़ाने के लिये स्वयं के व्यय पर गांव की एक महिला को बच्चों को विद्यालय लाने और ले जाने के लिये नियुक्त किया गया है जो कि एक सराहनीय प्रयास है। इस स्कूल में दो शिक्षिकाएं पदस्थ हैं। कलेक्टर ने इस तरह से प्रशंसनीय कार्य करने वाले शिक्षकों के कार्यों को प्रचारित-प्रसारित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने शिक्षा विभाग के अधिकारियों को स्कूलों का लक्ष्य के अनुरूप गुणवत्तायुक्त निरीक्षण करने के निर्देश दिए। कलेक्टर ने सायकल एवं गणवेश वितरण में आ रही कठिनाइयों का त्वरित निराकरण कराकर बच्चों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए।

 बैठक में मुख्य कार्यपालन अधिकारी ने स्कूलों के संचालन से संबंधित आ रही कठिनाइयों को व्हाट्सएप पर तत्काल अवगत कराने के निर्देश संबंधितों को दिया। उन्होंने शैक्षणिक गुणवत्ता उन्नयन में आ रही कठिनाइयों पर अधिकारियों से विशेष चर्चा की तथा उनका निदान भी किया। बैठक में इससे पहले जिला शिक्षा अधिकारी डॉ. आरएन पटेल द्वारा गत माह संपन्न डीपीएमयू की बैठक का पालन प्रतिवेदन एवं वर्तमान बैठक के एजेण्डे पर विस्तार से जानकारी दी गई। डीपीसी सुधीर वाण्डा द्वारा पावर प्रजेंटेशन के माध्यम से दक्षता मूल्यांकन मिडलाइन, शाला मित्र द्वारा सत्यापन कार्य, शाला दर्पण निरीक्षण, नामांकन की स्थिति सहित अन्य विषयों पर विस्तृत प्रकाश डाला गया। बैठक में संयुक्त संचालक अंजनी त्रिपाठी, प्राचार्य शिक्षा महाविद्यालय प्रफुल्ल शुक्ल, प्राचार्य जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण संस्थान श्यामनारायण शर्मा, सहायक संचालक एवं नोडल अधिकारी उत्कृष्ट/माडल स्कूल रीवा केपी तिवारी, शैक्षणिक गुणवत्ता उन्नयन परियोजना की संयोजक भारती श्रीवास्तव, एडीपीसी रमसा डॉ. प्रेमलाल मिश्रा, एपीसी रमसा अजय निगम, जिले के विकासखण्ड शिक्षा अधिकारी, विकासखण्ड स्रोत समन्वयक, शिव प्रताप सिंह एवं ज्ञानपुंज टीम के सदस्य उपस्थित थे।

——————————–

सिरमौर विधानसभा क्षेत्र के लिए 24 बीएलओ पर्यवेक्षक तैनात

      रीवा । भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के अनुसार जिले के सभी विधानसभा क्षेत्रों की फोटोयुक्त मतदाता सूची का संक्षिप्त पुनरीक्षण किया जा रहा है। इसकी निगरानी के लिए कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने सिरमौर विधानसभा क्षेत्र में 24 बीएलओ पर्यवेक्षक तैनात किये हैं। इन अधिकारियों को अपने विभागीय कार्य के साथ मतदाता सूची के संक्षिप्त पुनरीक्षण की निगरानी के निर्देश दिये गये हैं। प्रत्येक पर्यवेक्षक को 10 मतदान केन्द्रों में यह कार्य करना है। सभी पर्यवेक्षक मतदान केन्द्रों तथा बीएलओ के संबंध में जानकारी संबंधित तहसीलदार से प्राप्त करें।

      जारी आदेश के अनुसार मतदान केन्द्र क्र. 01 से 10 तक उपयंत्री विमलकांत गौतम, म. के. क्र. 11 से 20 तक उपयंत्री राजेश साकेत, म. के. क्र. 21 से 30 तक उपयंत्री एनके डौमने, म. के. क्र.  31 से 40 तक उपयंत्री अंशुल पटेल, म. के. क्र. 41 से 50 तक जयशंकर पटेल सीएफटी, म. के. क्र. 51 से 60 तक परियोजना अधिकारी श्रीमती मालती पाण्डेय तथा म. के. क्र. 61 से 70 तक सहायक यंत्री जीतेन्द्र अहिरवार को तैनात किया गया है। म. के. क्र. 71 से 80 तक प्रमोद द्विवेदी बीआरसी म. के. क्र. 81 से 90 तक सुधीर कुमार शुक्ला एसडीओ, म. के. क्र. 91 से 100 तक आर.के. सिंह सहायक यंत्री, 101 से 110 तक दयाशंकर मिश्रा सीएमओ म. के. क्र. 111 से 120 तक निखिल मिश्रा सहायक यंत्री म. के. क्र. 121 से 130 तक रमेश मिश्रा उपयंत्री तथा म. के. क्र. 131 से 140 तक भोला प्रसाद पटेल उपयंत्री को तैनात किया गया है। 

      इसी तरह म. के. क्र. 141 से 150 तक के.पी. मिश्रा सीईओ जनपद जवा म. के. क्र. 161 से 170 तक संजीव मरकाम उपयंत्री म. के. क्र. 171 से 180 तक राजेश पाण्डेय उपयंत्री म. के. क्र. 181 से 190 तक, राजीव मरावी उपयंत्री म. के. क्र. 191 से 200 तक , ज्ञानेन्द्र द्विवेदी उपयंत्री म. के. क्र. 201 से 210 तक राहुल मिश्रा उपयंत्री म. के. क्र. 211 से 220 तक राजनारायण मिश्रा उपयंत्री म. के. क्र. 221 से 230 तक परियोजना अधिकारी श्रीमती प्रतिभा श्रीवास्तव तथा मतदान केन्द्र क्रमांक 231 से 243 तक बी.पी. सिंह एसएडीओ को तैनात किया गया है।

—————————-

 

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •