trs-rewa

SC/ST ACT : TRS COLLEGE के पूर्व प्राचार्य डॉ. रामलला के गुर्गे छात्र रामबदन को दे रहे धमकी, तंग आकर किया ये…| REWA NEWS

Rewa

रीवा : टीआरएस कॉलेज के छात्र रामबदन साकेत ने खुद को घर में कैद कर लिया है। वह बुरी तरह से डर गया है। टीआरएस कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. रामलला शुला के गुर्गे रास्ते में रोक कर उसे धमकियां दे रहे हैं। पुलिस एफआईआर के बाद भी शांत बैठी है। पुलिस की कार्यप्रणाली सवालों में है। यदि जल्द ही कार्रवाई नहीं हुई तो अनहोनी की आशंका है। गौरतलब है, टीआरएस कॉलेज में पढऩे वाले छात्र रिमारी निवासी रामबदन साकेत ने टीआरएस कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. रामलला शुला पर गंभीर आरोप लगाए थे। डॉ. शुला पर जातिसूचक अपशद कहने, मारपीट करने और प्रताडि़त किए जाने का आरोप लगाया था। इसकी शिकायत सबसे पहले एसपी रीवा से 2 अटूबर 2018 को की गई थी और प्राचार्य के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की मांग की गई थी। एसपी से की गई शिकायत पर कोई एशन नहीं हुआ। इसके बाद दूसरी शिकायत आईजी से की। आईजी से शिकायत पर भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। पीडि़त रामबदन ने सीएम हेल्पलाइन में भी शिकायत कर दी। शिकायत क्रमांक 6930279 के तहत गुहार लगाई गई। अंत में सीएम हेल्पलाइन की शिकायत काम कर गई। शासन के निर्देश पर डॉ. रामलला शुला पर एसटी-एससी एट के तहत मामला दर्ज कर लिया गया।

टाल रहे गिरतारी : अपराध किसी तरह पुलिस ने दर्ज तो कर लिया तो अब डॉ. रामलला की गिरतारी टाली जा रही है। पुलिस टालमटोल कर रही है। एफआईआर को 10 दिन से अधिक का समय गुजर चुका है, लेकिन डॉ. रामलला तक पुलिस नहीं पहुंच पाई है। वहीं, दूसरी तरफ पीडि़त को आरोपी के गुर्गों ने घर में ही कैद रहने को मजबूर कर दिया है। बुधवार से वह अपनी नौकरी पर भी नहीं जा रहा है। उसे बीच रास्ते में मारपीट किए जाने का डर सता रहा है। डर का आलम यह है कि वह सिरमौर चौराहा तक नहीं जा रहा। पुलिस से सुरक्षा मांगी : पीडि़त रामबदन साकेत ने एसपी को पत्र लिखकर डॉ. रामलला शुला के गुर्गों की हरकतों से वाकिफ कराया है। 16 जुलाई को दिए गए पत्र में उसने एसपी से सुरक्षा की मांग की है। उसका कहना है कि वह युवा स्वाभिमान योजना के तहत नगर निगम में डाटा इंट्री का काम करता है। 15 जुलाई को वह ननि जा रहा था, तभी सिरमौर चौराहा में उसे रोककर कुछ लोगों ने धमकाया और मामला वापस लेने के लिए कहा। धमकी के बाद से परिवार डरा हुआ है। पुलिस से सुरक्षा की मांग की, लेकिन नहीं मिली। मां ने काम पर जाने से रोक दिया है।

पूर्व प्राचार्य डॉ. सत्येन्द्र शर्मा पर भी आरोप : रामबदन ने टीआरएस कॉलेज के पूर्व प्राचार्य डॉ. रामलला शुला के साथ ही डॉ. सत्येन्द्र शर्मा पर भी गंभीर आरोप लगाए हैं। उसने कहा कि डॉ. सत्येन्द्र शर्मा ने उससे 2500 रुपए अतिरित फीस ली थी। पास होने के बाद भी पूरक किया गया था। डॉ. बीपी सिंह और डॉ. एसपी सिंह ने जातिसूचक गाली भी दी थी। शिकायत में रामबदन ने कहा कि डॉ. रामलला गाली देते थे और जान से मारने और मरवाने की धमकी देते थे।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •