रीवा : बलात्कार पीडि़ता युवती का मेडिकल करवाने जा रही महिला आरक्षक के साथ युवको ने कुछ ऐसा जो चौका देगा 1

रीवा : बलात्कार पीडि़ता युवती का मेडिकल करवाने जा रही महिला आरक्षक के साथ युवको ने कुछ ऐसा जो चौका देगा

Rewa

रीवा. बलात्कार पीडि़ता युवती का मेडिकल करवाने रीवा आ रही महिला आरक्षक से बाइक सवार नकाबपोश युवकों ने दस्तावेज छीन लिये। आरक्षक द्वारा शोर मचाने पर युवक कागज फेंक कर फरार हो गए। डरी सहमी महिला आरक्षक पीडि़ता को लेकर अस्पताल पहुंची। घटना से थाने में हड़कंप मचा हुआ है। घटना लौर थाने के सामने की बताई जा रही है। हनुमना थाने में पदस्थ महिला आरक्षक आराधना त्रिपाठी गुरुवार को बलात्कार की शिकार युवती का मेडिकल करवाने के लिए बस से रीवा रही थी। युवती के साथ उसके घर की दो महिलाएं भी थी। लौर थाने के समीप बस रुकी तो महिला आरक्षक पानी पीने के लिए नीचे उतर गई। उसी दौरान पीछे से बाइक में सवार होकर दो की संख्या में नकाबपोश युवक पहुंचे और महिला आरक्षक से युवती के मेडिकल के दस्तावेज छीन लिये। युवकों के मंसूबों को भापकर युवती ने शोर मचाया जिसे सुनकर स्थानीय लोग दौड़ पड़े। युवक कागज फेंक कर मौके से फरार हो गए। घटना से अफरातफरी का माहौल निर्मित हो गया। महिला आरक्षक तुरंत बस में सवार हो गई और किसी तरह पीडि़ता को रीवा लेकर आई। डरी सहमी महिला आरक्षक ने अस्पताल चौकी पहुंचकर पुलिसकर्मियों को घटना की जानकारी दी और अपने थाने के मुंशी को घटना से अवगत कराया है। सरेराह इस घटना से हड़कंप मचा हुआ है। आशंका जताई जा रही है कि युवक हनुमना से ही महिला आरक्षक का पीछा कर रहे थे और मौका देख कर उनसे दस्तावेज छीनने का प्रयास किया।

आरोपी के रिश्तेदार थे युवक
इस घटना को अंजाम देने वाले युवक बलात्कार के मामले में गिरफ्तार हुए आरोपी के रिश्तेदार थे। बलात्कार के मामले का आरोपी पहले ही गिरफ्तार हो चुका है और युवती को मेडिकल परीक्षण के लिए रीवा भेजा था। युवक दस्तावेज छीनकर पीडि़ता का मेडिकल परीक्षण रुकवाना चाह रहे थे।

शादी का झांसा देकर किया बलात्कार
पीडि़ता करीब 4 माह पूर्व लापता हुई थी जिसे आरोपी शादी का प्रलोभन देकर अपने साथ भगा ले गया था। वह युवती के साथ लगातार बलात्कार करता रहा। पुलिस में जब युवती को बरामद किया तो उसके बयान के आधार पर आरोपी के खिलाफ मामला दर्ज किया और उसे गिरफ्तार कर लिया गया।

मामले को दबाने का प्रयास करती है थाने के पुलिस
इस पूरे मामले को थाने के पुलिस दबाने का प्रयास करती रही। महिला आरक्षक ने जब थाने को घटना की जानकारी दी तो मुंशी द्वारा वरिष्ठ अधिकारियों को जानकारी नहीं देने की हिदायत दी गई। इस मामले में थाने की पुलिस की लापरवाही सामने आई है जिन्होंने महिला आरक्षक को रात में अकेले बलात्कार पीडि़ता का मेडिकल करवाने भेज दिया और किसी दूसरे स्टाफ को नहीं भेजा।

युवक आरोपी के रिश्तेदार
आबिद खान, एसपी रीवा ने बताया कि देवतालाब महिला आरक्षक से मेडिकल का कागज छीनने का प्रयास किया है। युवक आरोपी के रिश्तेदार बताए जा रहे हैं जिनकी तलाश की जा रही है।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •