ऐसे खामोश हुई विन्ध्य की ललकार, कल बड़े नेता होने अंतिम संस्कार में शामिल 1

ऐसे खामोश हुई विन्ध्य की ललकार, कल बड़े नेता होने अंतिम संस्कार में शामिल

Rewa

रीवा. विंध्य की धरा की बुलंद आवाज आज खामोश हो गई। कांग्रेस के दिग्गज नेता पूर्व सांसद सुंदरलाल तिवारी का सोमवार की सुबह दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। निधन की खबर से पूरे विंध्य क्षेत्र का माहौल गमनीय है। तिवारी के पार्थिव शरीर को श्रद्धांजलि देने के लिए अमहिया स्थित आवास पर भाजपा सहित कांग्रेस के हजारों नेताओं का तांता लगा हुआ है। सुंदर भैया के नाम से मशहूर कांग्रेस के कद्दावर नेता विंध्य की आवाज को विधानसभा से लेकर लोकसभा तक बुलंद किया। वे यहां की जनता और क्षेत्र के विकास के लिए हमेशा मुखर रहते थे। अपनी ललकारभरी आवाज से सभी को झुकने पर मजबूर कर देते।

सीएम सहित अन्य बड़े नेताओं ने जताया शोक
वे रीवा के अमहिया स्थित आवास पर थे, सीने में दर्द की शिकायत हुई तो संजय गांधी अस्पताल ले जाया गया, जहां पर चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। सुंदरलाल तिवारी बेहद बेबाक नेता थे, उन्होंने कभी अपने को कमजोर साबित नहीं होने दिया। गुढ़ से विधानसभा चुनाव हारने के बाद भी वे जनता से जुड़े रहे। उनके निधन पर मुख्यमंत्री कमलनाथ सहित पार्टी के तमाम बड़े नेताओं ने शोक जताया है। रीवा के अमहिया में उनका पार्थिव शरीर रखा गया है। जहां पर रीवा सहित आसपास के जिलों से लोग श्रद्धांजलि देने पहुंचे। पुत्र सिद्धार्थ तिवारी दिल्ली में थे, इसलिए अंतिम संस्कार गृहग्राम तिवनी में मंगलवार 12 मार्च को दोपहर किया जाएगा। अंतिम संस्कार में मुख्यमंत्री कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह एवं पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजय सिंह शामिल होंगे।

कार्यकर्ताओं को बड़ा झटका
पूर्व विधानसभा अध्यक्ष श्रीनिवास तिवारी के पुत्र सुंदरलाल 1999 में रीवा लोकसभा से सांसद के बाद वर्ष 2013 में गुढ़ से विधायक चुने गए थे। इसके अलावा पार्टी के अन्य कई महत्वपूर्ण पदों पर रहे हैं। इस बार भी लोकसभा चुनाव के लिए रीवा से उनकी प्रबल दावेदारी मानी जा रही थी। अचानक हुए निधन के बाद पार्टी को चुनाव से ठीक पहले बड़ा झटका लगा है। पार्टी कार्यकर्ताओं में भी हताशा देखी गई है।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •