kidnapping

रीवा: घर के बाहर खेल रहे ढाई वर्षीय मासूम का अपहरण, दहशत में शहर1 min read

Rewa

रीवा. घर के बाहर खेल रहे ढाई वर्षीय मासूम का सोमवार की सुबह अपहरण हो गया। रहस्यमय ढंग से लापता हुए मासूम का अभी तक कोई सुराग नहीं लग पाया है। उधर परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी है जिस पर पुलिस ने सभी थानों को सूचना भिजवाई है। घटना से पूरे गांव में सनाका खिंचा हुआ है। नईगढ़ी थाना शंकरपुर निवासी राजेश यादव का ढाई वर्षीय पुत्र सनी यादव सोमवार की सुबह घर के बाहर से गायब हो गया।

पिता सूरत में रहकर मजदूरी करता है
सुबह बाबा इंद्रजीत यादव बहू के घर से करीब दो किमी दूर स्थित अपने घर जाने लगा। उसी दौरान ढाई वर्षीय मासूम उसके साथ चलने की जिद कर बैठा। बाबा बच्चे को अपने साथ घर लेकर आये और घर के बाहर ही दूसरे बच्चों के साथ खेलने के लिए छोड़ दिये। कुछ देर तक तो बच्चा वहीं खेलता रहा। इस बीच बाबा नहाने के लिए चले गये। जब वे लौटकर आये तो बच्चा गायब था। घटना से पूरे गांव में हड़कंप मच गया। परिजनों सहित स्थानीय लोगों ने बच्चे को पूरे गांव में खोजा लेकिन उसका पता नहीं चला। परिजनों ने घटना की सूचना पुलिस को दी जिस पर पुलिस मौके पर पहुंच गई। आशंका जताई जा रही है कि बच्चे का किसी ने अपहरण कर लिया है। पुलिस ने स्थानीय लोगों से पूछताछ की लेकिन बच्चे को ले जाते किसी ने नहीं देखा। फिलहाल पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर लिया है। बच्चे का पिता सूरत में रहकर मजदूरी करता है और यहां वह अपनी मां के साथ रहता था।

रोते हुए गया था घर तरफ
अपहृत के साथ खेल रहे बच्चों ने बताया कि वह कुछ देर उनके साथ खेला है और फिर मां के पास जाने की जिद करने के लिए रोने लगा। वह रोते हुए घर तरफ चला गया है। घर तरफ जाने वाले पूरे रास्ते पर परिजनों ने उसकी तलाश की है लेकिन उसका पता नहीं चल पाया है। बच्चे के इस तरह गायब होने से पूरा परिवार सकते में है।

सालभर बाद भी बच्ची का नहीं लगा सुराग
करीब साल भर पूर्व मऊगंज थाने के ढेरा गांव से पांच वर्षीय मासूम बच्ची का अपहरण हो चुका है। साल भर बाद भी उसका कोई पता नहीं चला है। वह अपने भाई के साथ स्कूल गई थी। स्कूल से ही वह रहस्यमय ढंग से गायब हो गई थी। उक्त बच्ची का भी बदमाशों ने अपहरण किया था जिनका एक साल बाद भी कोई निशान नहीं मिला है।

Facebook Comments