रीवा: दम्पति की हत्या के बाद प्रशासन ने शव के साथ दिखाई अमानवीयता, जानिए कैसे 1

रीवा: दम्पति की हत्या के बाद प्रशासन ने शव के साथ दिखाई अमानवीयता, जानिए कैसे

Rewa Crime Madhya Pradesh

अधिकारियों के सामने हुआ यह कृत्य लेकिन सभी मूकदर्शक बनकर तमाशा देखते रहे
रीवा। वृद्ध दम्पति को मौत के घाट उतार दिया गया। रविवार को सामने आई यह रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना मऊगंज कस्बे के चक्रभाठी गांव की है। यहां रहने वाले राममिलन मिश्रा (90) व उनकी पत्नी जयमंती मिश्रा (85) की निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी गई। घटना की जानकारी रविवार की दोपहर उस समय हुई जब उनकी पुत्री गौरहा गांव से माता-पिता को देखने घर आई। पुत्री ने सामने तरफ से दरवाजा खटखटाया लेकिन वह नहीं खुला। महिला जब पीछे तरफ से घर के अंदर जाने लगी तो बाहर पिता का क्षतविक्षत अवस्था में शव देखकर उसके होश उड़ गये। घर के बाहर ही बाड़ी के पास ही पिता का शव पड़ा था। उसने कमरे के अंदर जाकर देखा तो कमरे में वृद्ध मां का शव पड़ा था। घटना से पूरे नगर में सनाका खिंच गया।

सूचना मिलते ही तत्काल पुलिस मौके पर पहुंच गई। दोनों के शव घटनास्थल पर क्षतविक्षत अवस्था में पड़े हुए थे। उनकी हत्या कैसे की गई है यह पूरी तरह साफ नहीं हो पाया है। पुलिस ने शवों को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भिजवा दिया। इस घटना की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक आबिद खान भी मौके पर पहुंचे।

पढ़ें : रीवा: माता-पिता से मिलने पहुंची बेटी, घर में पड़ा मिला दोनों का शव, वृद्ध दम्पत्ति की हत्या

शर्मसार हुई मानवता, कचरा वाहन से ले जाया गया शव
इस घटना के बाद एक बार फिर प्रशासनिक लापरवाही के चलते मानवता शर्मसार हो गई। घटना के बाद वृद्ध दम्पति के शव को ले जाने के लिए पुलिस को शव वाहन नसीब नहीं हुआ। पुलिस ने नगर पालिका को सूचना दी तो उन्होंने वार्डों में कचरा ढोने वाले वाहन को घटनास्थल भेज दिया। जिस वाहन से कचरा ढोया जाता था उस वाहन से वृद्ध दम्पति के शव को पोस्टमार्टम के लिए मर्चुरी ले जाया गया। हैरानी की बात तो यह है कि अधिकारियों के सामने यह कृत्य हुआ लेकिन सभी मूकदर्शक बनकर तमाशा देखते रहे। कस्बे में शव वाहन न होने से आये दिन इस तरह के नजारे देखने को मिल जाते है।

सप्ताह भर पूर्व मौत की आशंका
वृद्ध दम्पत्ति के शव क्षतविक्षत अवस्था में थे। शवों में कीड़े लग गये थे और उनमें सडऩ शुरू हो गई थी। आशंका जताई जा रही है कि करीब सप्ताह भर पूर्व उनकी हत्या हुई है और इतनी अवधि तक उनके शव घर में ही पड़े रहे। हालांकि मौत का सही समय पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिलने के बाद ही सामने आ पायेगा।

अकेले रहते थे दम्पत्ति
घर में वृद्ध दम्पत्ति अकेले रहते थे। घर में वे छोटी सी किराने की दुकान भी चलाते थे। दरअसल उनके तीन पुत्र थे जिसमें दो पुत्र काम के सिलसिले में बाहर रहते थे। एक पुत्र मऊगंज में ही घर से अलग रहता था जिसका हिस्साबांट को लेकर माता-पिता से विवाद चल रहा था। वृद्ध के भाई घर से कुछ दूरी पर रहते थे जो भी यदाकदा ही उनसे मिलने के लिए आते थे। दम्पति घर में रहकर खेती का काम भी देखते थे। मऊगंज में उनकी काफी जमीन थी जिसमें वे अधिया से खेती करवाते थे।

लूटपाट के इरादे से हत्या की आशंका
प्रथम दृष्ट्या लूटपाट के इरादे से वृद्ध दम्पति की हत्या की आशंका जताई जा रही है। दोनों घर में अकेले रहते थे। आशंका जताई जा रही है कि लूटपाट के इरादे से बदमाश घर में घुसे थे उनकी पहचान हो जाने पर वृद्धा की हत्या कर दी। हालांकि पुलिस इस बात से इंकार कर रही है। घर का सारा सामान व्यवस्थित रखा हुआ था।

दो दिन के अंदर अपराधी नहीं पकड़े तो आंदोलन
यदि इस घटना के अपराधियों को दो दिन के अंदर गिरफ्तार नहीं किया गया तो उग्र आंदोलन किया जाएगा। यह चेतावनी पुलिस को मौके पर पहुंचे स्थानीय विधायक प्रदीप पटेल ने दी है। उन्होंने इस घटना की निंदा करते हुए कहा कि कांग्रेस की सरकार में अपराध दिनोंदिन बढ़ रहा है। इसको भाजपा बर्दाश्त नहीं करेगी।

जांच के बाद ही पूरा मामला सामने आयेगा
आबिद खान, एसपी रीवा ने बताया कि वृद्ध दम्पति का उनके घर में शव बरामद हुआ है। प्रथम दृष्ट्या हत्या की बात सामने आ रही है। घटनास्थल का निरीक्षण किया गया है। जो साक्ष्य मिले हैं उसके आधार पर घटना की जांच की जा रही है। जांच के बाद ही पूरा मामला सामने आयेगा।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •