रीवा : प्रधान आरक्षक के पुत्र की संदिग्ध मौत, गले में मिला फांसी का निशान

Rewa
  • 190
    Shares

रीवा। एसएएफ में पदस्थ प्रधान आरक्षक के पुत्र की बीती रात कमरे के अंदर संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई। मृतक के गले में फांसी के निशान मौत को संदेहास्पद बना रहे हंै। हालांकि परिजनों ने इस तरह की कोई आशंका जाहिर नहीं की है। मामला शहर के सिटी कोतवाली थाना के एसएएफ चौराहे की है।

जानकारी के मुताबिक एसएएफ चौराहा निवासी राजकुमार पाण्डेय एसएएफ में प्रधान आरक्षक के पद पर पदस्थ हैं। बताया गया कि उनका पुत्र संजू पाण्डेय 26 वर्ष बीती रात तकरीबन 10 बजे घर पहुंचा और खाना खाने के बाद सो गया। सुबह तकरीबन 3 बजे संजू की मां बाहर निकली और संजू के कमरे में देखा तो वह अव्यवस्थित बिस्तर पर पड़ा हुआ था। पास जाकर मां ने बेटे को जगाने का प्रयास किया, लेकिन जब उसने आंख नहीं खोली तो मां ने चीखना चिलाना शुरू कर दिया। मां के चीखने की आवाज सुनकर परिजन अपने-अपने कमरों से बाहर निकल आए और संजू को अचेत हालत में अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल पहुंचते ही चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। युवक की मौत कैसे और किन परिस्थितियों में हुई, इसका कारण अज्ञात है। बताया जा रहा है कि युवक के गले में फांसी के फंदे जैसा निशाना पाया गया है, जिससे उसकी मौत संदेहास्पद प्रतीत होती है। हालांकि घर में फंदा लटकता हुआ नहीं मिला है।

पुलिस ने आवश्यक कार्यवाही के उपरांत शव का पीएम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है और मर्ग कायम कर मामले को विवेचना में लिया गया है। युवक की मौत का सही कारण पीएम रिपोर्ट के बाद ही स्पष्ट होगा।

Facebook Comments
Please Share this Article, Follow and Like us:
  •  
    190
    Shares
  • 190
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •