रीवा : गर्लफ्रेण्ड पर आंच आई तो कर दिया सरेण्डर1 min read

Rewa

रीवा :   कहते है इंसान के जीवन में रिश्ते बहुत मायने रखते हैं, लेकिन अपराधियों पर रिश्तों का भी बहुत फर्क नहीं पड़ता है। रिश्तों से जुड़ा कुछ ऐसा ही मामला उस वक्त प्रकाश में आया, जब शहर में हुई हत्या के मामले में फरार चल रहे मुय आरोपी पर दबाव बनाने के लिये पुलिस ने उसके पिता व भाई को थाने में बैठा लिया। वृद्ध पिता और समाज में पेश इमाम के ओहदे से पहचाने जाने वाले ााई को थाने में बैठाने पर आरोपी का दिल नहीं पसीजा, लेकिन जब पुलिस ने आरोपी की गर्लफे्रण्ड पर शिंकजा कसना शुरू किया तो वह दौड़ते चला आया और पुलिस के सामने सरेण्डर कर दिया। आरोपी के इस निर्णय से यह तो सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है कि उसके लिये पिता और ााई जैसे रिश्ते मायने नहीं रखते। उसके लिए पिता और ााई से बढ़कर प्रेमिका है, जिस पर पुलिस की कार्यवाही की आंच पहुंचते ही वह तिलमिला उठा और खुद को सरेण्डर कर दिया। यह मामला शहर के बहुचर्चित महाकाल ाोजनालय के संचालक संजू सिंह की हत्या से जुड़ा हुआ है। गौरतलब है, अमहिया निवासी आरोपी रिज्जू उर्फ रिजवान अंसारी ने 22 नवबर को अपने साथियों के साथ मिलकर संजय सिंह उर्फ संजू के साथ मारपीट व गोली चालन की घटना को अंजाम दिया था। घटना के दो दिन बाद ही संजू सिंह की उपचार के दौरान मौत हो गई और पुलिस ने हत्या के प्रयास मामले में हत्या की धारा 302 को बढ़ा दिया।

घटना के बाद मुय आरोपी रिजवानी सहित अन्य सभी आरोपी फरार हो गए थे। पुलिस की अपराध नियंत्रण टीम ने वारदात में शामिल तीन आरोपियों को गिरतार कर लिया, लेकिन मुय आरोपी हाथ नहीं लगा। पुलिस ने आरोपी रिजवान को पकडऩे व उस पर दबाव बनाने के लिये उसके पिता सहित अन्य परिजनों को थाने में बैठाए रखा। घटना के बाद तकरीबन चार दिनों तक आरोपी के पिता को थाने में रहना पड़ा। यहां तक कि उसके ााई को भी पुलिस थाने ले गई। इन सब परिस्थितियों के बावजूद आरोपी चुपचाप रहा। लेकिन पुलिस ने जैसे ही उसकी गर्लफ्रेण्ड पर शिकंजा कसना शुरू किया तो उसने गुरुवार को अपराध नियंत्रण टीम के सामने घुटने टेक दिये। पुलिस ने आरोपी को गिरतार कर लिया है, जिसे शुक्रवार को न्यायालय में पेश कर पूछताछ के लिये रिमाण्ड में लिया जाएगा।

रिजवान ने किया वारदात का खुलासा पुलिस सूत्रों की मानें तो आरोपी रिजवान ने पूछताछ में वारदात का खुलासा करते हुये बताया कि वह घटना दिनांक को रात तकरीबन 10 बजे अपने तीन साथी रफीक सिंधी व जानू के साथ भोजनालय पहुंचा था। आरोपियों ने अपने साथ शराब की बॉटल राी थी और वहां पहुंचने के बाद संजू से पूछकर बैठकर शराब पी रहे थे। उसी रात संजू ने अपने बच्चों के लिये विशेष पकवान बनवाए थे, जिसे लेकर उसे घर जाना था। संजू के घर से बार-बार फोन आ रहा था, इसलिए संजू ने होटल बंद करने की बात करते हुये उन्हें बाहर जाने को कहा। इस बात को लेकर संजू व आरोपी रिजवान के बीच कहासुनी हो गई और रिजवान साथियों के साथ वापस चला गया। होटल से निकलने के बाद रिजवान मानस भवन के समीप स्थित ग्राउण्ड में पहुंचा और वहां एक बार फिर सभी ने साथ में बैठकर शराब पी। मानस ावन के पास रिजवान के कई अन्य साथी ाी पहुंच गए।

शराब पीने के बाद रात तकरीबन 11 बजे रिजवान सहित पांच लोग वर्ना कार में सवार होकर संजू के होटल पहुंचे। उसके पीछे उसके अन्य साथी भी बुलेट, बाइक व स्कूटी से पहुंचे। तब तक होटल बंद हो चुका था और संजू घर निकलने की तैयारी में था। सभी होटल पहुंचते ही संजू पर टूट पड़े और जमकर मारपीट की। घटना के बाद रिजवान पैदल ाागते हुये मानस भवन पहुंचा, जहां खड़ी बुलेट लेकर अपने घर गया और बुलेट को घर में खड़ा करने के बाद गर्लफ्रेण्ड के घर में शरण ले लिया।

Facebook Comments