Sharad Purnima 2020 : शरद पूर्णिमा की रात भूलकर भी न करे ये काम, नहीं तो रूठ जाएंगी धन की देवी माँ लक्ष्मी..

अध्यात्म

आश्विन मास के शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा को शरद पूर्णिमा ( sharad purnima ) कहते है। साल भर आने वाली हर पूर्णिमा पर व्रत किया जाता है, परन्तु शरद पूर्णिमा का अलग ही महत्व है।

Karwachauth 2020 : कोरोना काल में इस बार ONLINE करिये करवाचौथ की शॉपिंग

Sharad Purnima 2020 : मान्यताएं एवं महत्त्व

ये ऐसी पूर्णिमा मानी गई है जब आकाश से अमृत की वर्षा होती है।

ज्योतिष शास्त्र के अनुसार साल भर की पूर्णिमा में शरद पूर्णिमा सबसे खाश मानी जाती है।

Sharad Purnima 2020 : इस साल कब गिरेगा आकाश से अमृत, जानिए शरद पूर्णिमा की तिथि और महत्व..

इस दिन चन्द्रमा 16 कलाओ से युक्त परिपूर्ण होता है। माना जाता है की इस दिन चन्द्रमा पृथ्वी के करीब आजाता है।

जिससे उसकी खूबशूरती और बढ़ जाती है।इस दिन समुद्र मंथन के दौरान माता लक्ष्मी हुईं थी प्रकट।

Sharad Purnima 2020 क्या न करें :

ऐसा माना जाता है की ( Sharad purnima ) की रात माता लक्ष्मी और विष्णु भगवान् गरुड़ में सवार हो कर पृथ्वी के ब्रामण के लिए आते है।

Sharad Purnima 2020 : शरद पूर्णिमा की रात भूलकर भी न करे ये काम, नहीं तो रूठ जाएंगी धन की देवी माँ लक्ष्मी..

ये भी मान्यताएं की माँ लक्ष्मी सबके घर-घर जा कर देती हैं वरदान।और जो सोया रहता है, माँ उसके दरवाजे से चलीं जाती हैं।

इसलिए शरद पूर्णिमा की रात सभी को जागरण करना चाहिए और माता के भजन करना चाहिए।

Sharad Purnima 2020 तिथि :

शरद पूर्णिमा तिथि प्रारंभ- 30 अक्टूबर को शाम 05 बजकर 45 मिनट से
शरद पूर्णिमा तिथि समाप्त- 31 अक्टूबर को रात 08 बजकर 18 मिनट पर

Sharad Purnima 2020 : इस साल कब गिरेगा आकाश से अमृत, जानिए शरद पूर्णिमा की तिथि और महत्व..

Karwachauth 2020 : पास आगया है करवाचौथ, जानें तारीख, पूजा विधि और शुभ मुहूर्त

इन बेस्ट प्रोडक्ट्स से आपने घर को नया लुक दीजिये, Amazon पर हैं अवेलेबल…

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें:

Facebook WhatsApp | Instagram | Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *