3 महिलाओं से शादी कर ऐंठे रुपए, ऑनलाइन यू-ट्यूब न्यूज चैनल का मालिक गिरफ्तार

इंदौर क्राइम मध्यप्रदेश

इंदौर। बैंक मैनेजर से शादी कर रुपए लेकर भागने वाला ऑनलाइन न्यूज चैनल के मालिक और प्रेमिका को नोएडा पुलिस ने गुरुवार रात गिरफ्तार कर लिया है। दोनों की गिरफ्तारी पर 25-25 हजार रुपए का इनाम घोषित था। चार राज्यों की पुलिस उनकी तलाश कर रही थी। भाई-बहन बनकर दोनों मेट्रोमोनियल साइट के जरिए युवतियों से संपर्क करते थे।

शादी के बाद इन्वेस्टमेंट, सस्ते दाम में सामान दिलाने सहित कई तरह के झांसा देकर पीड़ितों से रुपए लेकर फरार हो जाते थे। नोएडा पुलिस ने इंदौर पुलिस को दोनों की गिरफ्तारी की सूचना दे दी थी। इसके बाद भी पुलिस झांसेबाजों से पूछताछ के लिए नहीं गई।

सराफा पुलिस ने 4 जून 2018 को नरसिंहपुर निवासी 33 वर्षीय महिला की शिकायत पर तरुण (35) पिता रामचंद्र शर्मा निवासी भोपाल और दुर्गा उर्फ गुड़िया उर्फ दुर्गांशु पिता इंद्रपाल निवासी देहरादून के खिलाफ धोखाधड़ी का केस दर्ज किया था। पीड़िता ने पुलिस को बताया था कि वह सराफा थाना क्षेत्र स्थित निजी बैंक में मैनेजर है। शादी डॉट कॉम के जरिए उसका आरोपित से संपर्क हुआ था। 26 नवंबर 2017 को दोनों की मुलाकात हुई थी। जनवरी 2018 में नरसिंहपुर जाकर दोनों ने शादी कर ली। शादी के बाद उसका ट्रांसफर भोपाल की ब्रांच में हो गया था।

आरोपित तरुण की बहन के साथ तीनों वहां रहने लगे थे। आरोपित उससे ऑनलाइन यू-ट्यूब न्यूज चैनल का मालिक बनकर मिला था। जिसे उसने अपनी बहन बनाकर मिलाया था वह उसकी प्रेमिका थी। आरोपित ने प्रॉपर्टी में निवेश के नाम पर दो किस्तों में आठ लाख रुपए खाते में जमा करवाए और फरार हो गया था।

नोएडा से दोनों जालसाज गिरफ्तार

ग्रेटर नोएडा के सेक्टर 24 थाना पुलिस ने गुरुवार रात दोनों को सेक्टर 71 से गिरफ्तार कर लिया था। एसआई अरुण कुमार ने बताया कि दोनों आरोपितों के खिलाफ चंडीगढ़, मेरठ (यूपी), गाजियाबाद (यूपी), इंदौर (मप्र) और नोएडा (यूपी) और वाराणसी (यूपी) के थानों में केस दर्ज हैं। एसआई ने बताया कि आरोपित चंडीगढ़ में अपनी गर्लफ्रेंड को झांसा देकर 8 लाख रुपए, मेरठ में शादी समारोह से 10 लाख रुपए कीमत के जेवर और नकदी, नोएडा की नर्स से शादी करने के बाद 35 लाख नकद और 5 लाख के जेवर लेकर भाग गया था।

आरोपित ने पूछताछ में बताया कि उसने भोपाल में न्यूज चैनल का ऑफिस खोला था। जिसमें उसने लाखों रुपए निवेश किए थे। धोखाधड़ी करने के बाद वह बनारस भाग गया था। जहां उसने भोपाल में काम करने वाली कर्मचारी से संपर्क किया और उससे शादी कर ली थी।

नौ स्कॉर्पियो का दिया था ऑर्डर

पुलिस को पता चला है कि आरोपित कुछ समय तक लखनऊ में भी रहा था। यहां उसने एक शोरूम में नौ स्कॉर्पियो गाड़ी का ऑर्डर दिया था। इसके एवज में शोरूम संचालक को एक करोड़ रुपए से अधिक का चेक दिया था। खाते में रुपए नहीं होने से चेक बाउंस हो गया था। आरोपित धोखाधड़ी कर वहां से फरार हो गया था। आरोपित ने दिल्ली की नर्स शिखा, कर्मचारी कल्याणी और बैंक मैनेजर से शादी की थी। तीनों को झांसा देकर लाखों रुपए लेकर फरार हो गया था। फरारी के दौरान दोनों केरल, नागपुर, मुंबई सहित कई बड़े शहरों में छिपकर रहे थे।

प्रेमिका दोस्त की बहन

पुलिस के मुताबिक, आरोपित की प्रेमिका दुर्गा उसके दोस्त की बहन है। जिसे वह कई साल पहले देहरादून से भगा लाया था। इसके बाद से दोनों साथ में रहने लगे थे। प्रेमिका उसकी बहन बनकर युवतियों से मिलती थी। खुद को ब्रेन ट्यूमर का मरीज बताकर युवतियों के परिवार पर जल्दी शादी करने का दबाव बनाती थी। शादी के पहले स्टॉम्प पेपर पर दोनों दहेज नहीं लेने का झांसा देते थे। इस वहज से पीड़ित परिवार दोनों पर विश्वास करने लगते थे। आरोपित हत्या के जुर्म में जेल भी जा चुका है। एसआई ने बताया कि दोनों की गिरफ्तारी के बाद सराफा पुलिस को सूचना दे दी गई थी। लेकिन उसके बाद भी पुलिस पूछताछ के लिए नहीं आई। दोनों को कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया।