मप्र: शिकार करने गए थे दो भाई, एक की चलाई गोली से हुई दूसरे की मौत

क्राइम मध्यप्रदेश

नई दिल्लीः देवास जिले में शिकार करने गए दो भाइयों में से एक की गोली लगने से मौत हो गई. दरअसल, घटना देवास जिले के बागली पुलिस थाना क्षेत्र की है. जहां दो चचेरे भाई रात के समय खरगोश का शिकार करने निकले थे. इस दौरान दोनों भाइयों में से बड़े भाई ने शिकार करने के लिए बंदूक छोटे भाई को दे दी और खुद टॉर्च लेकर आगे-आगे चलने लगा. तभी बड़े भाई ने जब खरगोश देखा तो उसने छोटे भाई को इशारा किया. जिसके बाद छोटे भाई से हड़बड़ाहट में बंदूक का ट्रिगर दब गया और गोली खरगोश की जगह बड़े भाई को जा लगी और उसकी मौके पर ही मौत हो गई.

घबराहट के चलते दब गया बंदूक का ट्रिगर
बागली टीआई के मुताबिक कमलापुर क्षेत्र के भील आमला गांव के पास के जंगल में रात में भील आमला निवासी ओंकार पिता राजाराम भील 35 वर्ष और रामू पिता थावरसिंह भील 25 वर्ष खरगोश का शिकार करने निकले थे. भीलआमला गांव के नजदीक जंगल में भरमार बंदूक लेकर चल रहे रामू पिता थावरसिंह के आगे टार्च लेकर चल रहे भाई ओंकार ने जैसे ही खरगोश दिखाने के लिए टॉर्च जलाई वैसे ही वैसे ही रामू के हांथों से गलती से ट्रिगर दब गया और ओंकार पिता राजाराम की बंदूक से निकले छर्रे लगने से मौके पर ही उसकी मौत हो गई.

भाई को गोली लगने पर रामू ने डायल 100 को दी सूचना
अचानक हुई इस घटना के बाद आरोपी रामू ने तुरंत डायल 100 को सूचना दी और बताया कि उसके द्वारा गलती से बंदूक का ट्रिगर दब गया जिससे उसके चचेरे भाई की मौत हो गई. सूचना मिलते ही पुलिस तुरंत घटनास्थल पर पहुंची और आवश्यक कर्यवाई की. पुलिस ने आरोपी छोटे भाई रामू को गिरफ्तार कर उसके कब्जे से भरमार बंदूक जब्त की है. वहीं पुलिस ने रामू पर धारा 304(गैर इरादतन हत्या) और 27 आर्म्स एक्ट(अवैध बंदूक रखने) का केस दर्ज कर गिरफ्तार कर उसे पुलिस रिमांड पर लिया है. वहीं शव को पोस्टमार्टम के लिए बागली के सरकारी अस्पताल भेज दिया है.