2019/Tata Memorial Directors advice, if necessary, do not get admitted in the hospital.jpg

New Delhi News : टाटा मेमोरियल डायरेक्टर की सलाह, जरूरी न हो तो अस्पताल में न हो भर्ती

RewaRiyasat.Com
Sandeep Tiwari
22 Apr 2021

नई दिल्ली (New Delhi News in Hindi) : कोरेाना देश में कहर ढा रहा है। लेकिन कोरोना संक्रमण के बाद ज्यादातर रोगी ठीक हो रहे हैं। वह भी घर पर रह कर ठीक हो जाते हैं। कोरोना महामारी के बीच टाटा मेमोरियल अस्पताल के डायरेक्टर ने लोगों को सलाह देते हुए कहा कि अगर जरूरी न हो तो अस्पताल में भर्ती होने के बाजाय घर पर रहकर दवाइयों का सेवन कर खानपान का ध्यान रखें। विशेष परिस्थियों में ही अस्पताल में भर्ती हों।
 

कब जाये अस्पताल

टाटा मेमोरियल हॉस्पिटल के निदेशक डॉ. सीएस प्रमेश का कहना है कि आरटी-पीसीआर टेस्ट में पॉजिटिव पाए जाने वाले मरीज घर पर ही ठीक हो रहे हैं। बसर्ते उन्हे ज्यादा दिक्कत न हो। समस्या बढ़ने पर फोन के माध्यम से डाक्टर से सलाह लेनी चाहिए और अस्पताल में भर्ती होना चाहिए।

देश में बढ़ रहा कोरोना संक्रमण

भारत में कोरोना वायरस का संक्रमण बढता जा रहा है। इस वजह से हालात गंभीर होते जा रहे हैं। लगातार बढ़ रही रोगियों की वजह से अस्पताल में बेड की भारी कमी है। डॉक्टर तथा पैरा मडिकल स्टाफ भी कोरोना की चपेट में आ रहे हैं। 

घर पर कैसे करें देखभाल

डॉ. सीएस प्रमेश का कहना है कि कोरोना रोगी को घर पर रहकर अच्छी देखभाल करनी चाहिए। कोरोना के सामान्य संक्रमण के दौरान रोगी को घर पर सबसे अलग रहना चाहिए। तरल पदार्थ लेना चाहिए, योग-प्राणायाम करने, कोविड-पॉजिटिव रोगियों को अपने बुखार और ऑक्सीजन के लेवल को चेक करते रहना चाहिए।

जांचते रहंे ऑक्सीजन लेवल

डॉ. सीएस प्रमेश ने कहा है अगर संक्रमित व्यक्ति में ऑक्सीजन लेवल 94 से ज्यादा है तो आपको अस्पताल में भर्ती होने की जरूरत नहीं है। घर पर रहकर भी रोगी रोग मुक्त हो सकता है। यह आवश्यक है कि रोगी स्वास्थ्य में किसी भी तरह का परिर्वन होने पर डाक्टर की सलाह लेनी चाहिए। 
 

SIGN UP FOR A NEWSLETTER