राष्ट्रीय

ईद पर अनंतनाग में पत्थरबाजी, पुलवामा हिंसा में पत्थरबाज की मौत व 9 घायल

Aaryan Dwivedi
16 Feb 2021 5:54 AM GMT
ईद पर अनंतनाग में पत्थरबाजी, पुलवामा हिंसा में पत्थरबाज की मौत व 9 घायल
x
Get Latest Hindi News, हिंदी न्यूज़, Hindi Samachar, Today News in Hindi, Breaking News, Hindi News - Rewa Riyasat

श्रीनगर। आज ईद है और कश्मीर में भी ईद की खुशियां फैली हुई हैं। लेकिन आतंकियों के समर्थक इस मुबारक मौके पर भी हिंसा करने से बाज नहीं आ रहे। शनिवार को अनंतनाग में ईद की नमाज के बाद एक-दूसरे को मुबारक बात देने की बजाय पत्थरबाज सड़क पर उतर आए और पथराव करने लगे।

वहीं इससे पहले दक्षिण कश्मीर के पुलवामा में शुक्रवार को हिसक भीड़ ने सुरक्षाबलों को घेरकर हाथापाई करने के साथ जमकर पथराव किया। सुरक्षाबलों ने बलप्रयोग कर भीड़ को खदेड़ा। इस दौरान गोली लगने से एक पत्थरबाज की मौत और एक युवती समेत दो अन्य जख्मी हो गए। इसके बाद हिसक झड़पें शुरू हो गई, जिसमें दो सुरक्षाकर्मियों समेत सात लोग घायल हो गए। देर शाम तक पुलिस ने हिसा पर काबू पा लिया, लेकिन पूरे इलाके में तनाव बरकरार था।

जानकारी के अनुसार, सेना की 55 आरआर का एक दल नौपुरा पायीन इलाके से नियमित गश्त पर गुजर रहा था कि अचानक शरारती तत्वों की भीड़ ने उसे घेर लिया। भीड़ में शामिल शरारती तत्वों ने भड़काऊ नारेबाजी करते हुए जवानों पर पथराव शुरू कर दिया। जवानों ने पहले संयम बनाए रखा, लेकिन जब पथराव नहीं रुका और कुछ युवकों ने उनके वाहनों को चारों तरफ से घेर लिया तो उन्होंने भी बल प्रयोग किया।

इसी दौरान कुछ युवकों ने जवानों के साथ हाथापाई का प्रयास किया। स्थिति को पूरी तरह बेकाबू होते देख जवानों ने चेतावनी देते हुए हवा में गोलियां चलाई। बताया जा रहा है कि इस दौरान गोली लगने से युवती समेत तीन लोग जख्मी हो गए और फिर पूरे इलाके में हिसा भड़क उठी, जिसपर काबू पाने के लिए पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ी।

इस बीच, गोली से जख्मी हुए तीनों लोगों को जिला अस्पताल पुलवामा ले जाया गया, जहां डॉक्टरों ने वकास अहमद राथर नामक घायल को श्रीनगर रेफर कर दिया। वकास की श्रीनगर अस्पताल पहुंचने से पहले ही रास्ते मे मौत हो गई। पुलवामा अस्पताल में अन्य दो घायलों में शामिल युवती का नाम रुकैया जान बताया जाता है। उसकी टांग में गोली लगी है।

एसएपी पुलवामा मोहम्मद असलम चौधरी ने नौपुरा पायीन में सुरक्षाबलों की ओर से हिसक भीड़ पर गोली चलाने से एक युवक की मौत की पुष्टि की। उन्होंने कहा कि गोली क्यों चली, इसकी छानबीन की जा रही है।

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि सेना के जवानों का एक गश्तीदल नौपुरा पायीन से गुजर रहा था। वहां सड़क पर कुछ वाहन खड़े थे, जिससे सड़क बंद हो गई थी। सेना के जवान ने सड़क पर खड़े वाहनों के मालिकों से आग्रह कर अपना वाहन निकालने का प्रयास किया।

वहीं पास में आबिद मंजूर मागरे नामक एक ग्रामीण का मकान है। कुछ ही देर में वहां लोगों की नारेबाजी करती भीड़ जमा हो गई। इन लोगों ने जवानों पर पथराव शुरू कर दिया। जवानों ने इन लोगों को खदेड़ने के लिए चेतावनी देते हुए हवा में गोली चलाई। जवानों ने किसी ग्रामीण के साथ कोई मारपीट या किसी ग्रामीण के घर में घुसकर तोड़फोड़ नहीं की है।

Next Story
Share it