2021/07/85-digvijay-singh-sonia-gandhi.jpg

दिग्विजय सिंह के खिलाफ कांग्रेस नेता ने खोला मोर्चा, सोनिया को चिट्ठी लिख कर कहा- 'ये हिन्दू विरोधी, इनकी जुबान पर लगाम लगाएं'

RewaRiyasat.Com
रीवा रियासत डिजिटल
14 Jul 2021

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं कांग्रेस से राज्यसभा सांसद दिग्विजय सिंह के खिलाफ AICC के सदस्य एवं महाराष्ट्र के वरिष्ठ कांग्रेस नेता विश्वबंधु राय ने मोर्चा खोल दिया है. उन्होंने कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यकारिणी अध्यक्ष सोनिया गांधी को चिट्ठी लिखा है. चिट्ठी में राय ने दिग्विजय सिंह की जुबान पर लगाम लगाने की बात कही है. 

दिग्विजय के अनर्गल बयानों से पिछड़ रही है कांग्रेस

राय ने सोनिया को लिखी चिट्ठी में कहा है कि दिग्विजय सिंह के अनर्गल बयानों के कारण कांग्रेस लगातार पिछड़ती जा रही है. वे अक्सर हिन्दुओं को अपमानित करने वाले बयान दे रहें हैं. जिसकी वजह से वो कांग्रेस पार्टी से दूर हो रहें हैं.

कमलनाथ सरकार गिराने में दिग्विजय की भूमिका 

राय ने चिट्ठी में यह भी कहा है कि दिग्विजय के जुबान पर लगाम लगाई जाय. मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार गिरने का भी आरोप उन्होंने दिग्विजय सिंह पर मढ़ा है. उन्होंने कहा है कि कमलनाथ सरकार को गिराने में दिग्विजय की भूमिका रही है. उनकी भूमिका की जांच कराई जाय. 

उन्होंने कहा कि दिग्विजय सिंह जहाँ-जहाँ रहें हैं उन्होंने पार्टी को बड़ा नुकसान पहुँचाया है. जिस राज्य में अभी हैं, वहां भी पार्टी को नुकसान पहुंचा रहें हैं. 

लगातार हिन्दू विरोधी बयान दे रहें हैं दिग्विजय 

मध्य प्रदेश कांग्रेस संगठन के लिए काम कर चुके राय ने कहा कि 2003 में जब से दिग्विजय सत्ता से बाहर हुए हैं. वे लगातार हिन्दू विरोधी बयान देते आ रहें हैं. दिग्विजय एक वर्ग विशेष को खुश करने की मंशा से हिन्दुओं के खिलाफ अनर्गल बयानबाजी करते हैं. पार्टी के कार्यकर्ता भी उनके बयानों को पार्टी का आधिकारिक बयान मान लेते हैं और कांग्रेस से नाराज हो जाते हैं. 

एक तरफ पार्टी से हिन्दू दूर हो रहें हैं, दूसरी तरफ दिग्विजय जिन्हे खुश करना चाहते हैं वे भी दूर हो रहें हैं. कश्मीर में अनुच्छेद 370, बाटला हाउस मुठभेड़ का मामला, आतंकी ओसामा के नाम में जी जोड़ना आदि कई मामले हैं.

राय ने आगे लिखा कि दिग्विजय को गोवा चुनाव का प्रभारी बनाया गया. लेकिन वहां कांग्रेस जीतकर भी सरकार न बना सकी. ये उन्हीं के गैर जिम्मेदाराना व्यवहार के कारण हुआ. सिंह के प्रभारी रहते तेलंगाना और आंध्र प्रदेश में भी कांग्रेस को नुकसान हुआ. राय ने उप्र में कांग्रेस की दुर्गति और मप्र में कमल नाथ सरकार जाने में भी दिग्विजय सिंह की भूमिका की समीक्षा की मांग की है.

Comments

Be the first to comment

Add Comment
Full Name
Email
Textarea
SIGN UP FOR A NEWSLETTER