मध्यप्रदेश के विस चुनाव में दिखेगा 'गुजराती पैटर्न', 40 सीटों के एवज में कांग्रेस को समर्थन देंगे हार्दिक

मध्यप्रदेश विस चुनाव में दिखेगा ‘गुजराती पैटर्न’, 40 सीटों के एवज में कांग्रेस को समर्थन देंगे हार्दिक

मध्यप्रदेश राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

गुजरात विधानसभा चुनाव का पैटर्न मध्यप्रदेश में भी देखने को मिल सकता है। वहां राहुल गांधी व हार्दिक पटेल ने एक-दूसरे पर अंगुली उठाने के बजाय भाजपा के खिलाफ प्रचार, रैलियां की थीं। सालों बाद कांग्रेस का परफार्मेंस ग्राफ सुधरा था। कई सीटों पर तालमेल से उम्मीदवार तय हुए थे। मध्यप्रदेश में साल 2018 चुनावी साल है। हार्दिक पटेल की किसान क्रांति सेना ने प्रदेश की 230 में से 40 सीटों पर चुनाव लड़ना चाहती है, इसके एवज में भाजपा के खिलाफ माहौल बनाने में कांग्रेस को समर्थन देंगे। खास बात ये है कि क्रांति सेना ने पाटीदार व किसान बाहुल्य जिलों, सीटों पर काम करना शुरू कर दिया है। अब तक जो क्षेत्र चिन्हित किए हैं, उसमें मंदसौर, रतलाम समेत रीवा, सतना, सीधी, शहडोल, मंडला जैसे कुछ जिले शामिल किए हैं। खासकर मंदसौर विधानसभा सीट पर किसान क्रांति सेना के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र पाटीदार खुद चुनाव लड़ने के इच्छुक हैं।



मंदसौर सीट पर नजर के 4 बड़े कारण

  1. मंदसौर किसान आंदोलन से देशभर में चर्चा में है। ऐसे में कांग्रेस का समर्थन मिलने की दशा में क्रांति सेना भी सुर्खियों में आ जाएगी।
  2. दूसरी बड़ी वजह है मंदसौर कांग्रेस की लगातार हारी सीट है, साल 1990, 1993, 2003, 2008 और 2013 से यहां भाजपा जीत रही, पिछले 6 चुनाव में कांग्रेस केवल 1 बार 1998 में ही जीती।
  3. मंदसौर विधानसभा में पाटीदार समाज का खासा वर्चस्व है, इसी समाज के श्यामसुंदर पाटीदार 6 बार कांग्रेस से विधायक निर्वाचित हुए, बरसों तक मंत्री रहे। कुल 8 चुनाव लड़े थे। उनके बाद से प्रभावी नेतृत्व नहीं मिला।
  4. मंदसौर में ही किसान क्रांति सेना का प्रदेश कार्यालय भी है, राष्ट्रीय अध्यक्ष हार्दिक ने यहां नियमित दौरे करने की बात कही है।

कांग्रेस को इन शर्तों पर देंगे प्रचार में समर्थन

किसानों की संपूर्ण कर्जमाफी, फसलों के लाभकारी मूल्य, स्वामीनाथन आयोग की सिफारिशें लागू करने जैसी शर्तों के मानने पर किसान क्रांति सेना कांग्रेस को प्रचार में समर्थन देगी। प्रदेश में कांग्रेस के प्रत्याशियों का विरोध नहीं करेंगे, वहीं सेना के हिस्से वाली सीटों में कांग्रेस केवल भाजपा के विरोध पर फोकस करेगी।

प्रदेश की 40 सीटों पर उम्मीदवार उतारेंगे की योजना

अगर कांग्रेस किसानों से जुड़ी हमारी मांगों को भी घोषणा-पत्र में शामिल करेगी तो इस शर्त पर समर्थन देंगे। गुजरात में भी यही तरीका था। वहां कांग्रेस ने करीब 36 सीटों पर राय ली गई थी। नतीजे भी अच्छे रहे थे। प्रदेश की 230 में से 40 सीटों पर हम उम्मीदवार उतारेंगे। मंदसौर भी इसमें शामिल है। मेरे चुनाव लड़ने पर हार्दिक व राष्ट्रीय नेतृत्व निर्णय लेगा। -महेंद्र पाटीदार, प्रदेश- अध्यक्ष किसान क्रांति सेना