SC-ST एक्ट को लेकर सवर्णों का देशव्‍यापी प्रदर्शन, जानिए कहां-क्या रहा हाल1 min read

National

नई दिल्ली। अजा-अजजा अत्याचार निरोधक कानून (एससी-एसटी एक्ट) के अमल को लेकर सुप्रीम कोर्ट द्वारा तय गाइड लाइन को संसद में कानून बनाकर पलटने के खिलाफ गुरुवार को सवर्ण समाज सड़क पर उतरा। इस दौरान बंद बिहार, उत्तर प्रदेश व मध्य प्रदेश में जहां हिसंक होता दिखा, वहीं अन्य राज्यों में शांतिपूर्ण रहा। बिहार व मप्र में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें रोकीं। आगजनी भी की। मंत्रियों व विधायकों का घेराव किया। अफसरों पर हमला बोला।

अलबत्ता, राजस्थान, गुजरात, जम्मू-कश्मीर, हिमाचल प्रदेश, छत्तीसगढ़ व पंजाब समेत अन्य राज्यों में भारत बंद शांतिपूर्ण रहा। दुकानें, बाजार व व्यावसायिक संस्थान बंद रहे। कई राज्यों में स्कूल-कॉलेज भी बंद रहे। दिल्ली-एनसीआर में खास असर नहीं दिखा।

बिहार में भाजपा-जदयू कार्यालय पर प्रदर्शन-

बिहार में कुछ स्थानों पर बसें व ट्रेनें रोकी गईं। आरा में ट्रेनों के इंजनों पर कार्यकर्ता चढ़ गए और उन्हें बलपूर्वक रोका गया। पटना में भाजपा और जदयू कार्यालय पर प्रदर्शन किया।

फूट-फूटकर रोते हुए पप्पू यादव ने कहा- जाति पूछकर किया हमला-

उधर, बाहुबली नेता व सांसद पप्पू यादव पर मुजफ्फरपुर जिले के खबरा में बंद समर्थकों ने हमला कर दिया। बाद में यादव ने रोते हुए कहा कि उनकी जाति पूछकर उन पर हमला किया गया।

उप्र में तोड़फोड़, फायरिंग योगी बोले-बंद बेमतलब-

उत्तर प्रदेश के बलिया में उग्र भीड़ ने पुलिस जीप को क्षतिग्रस्त कर दिया। छह पुलिसकर्मी चोटिल हो गए। कई शहरों में सार्वजनिक संपत्तियों में तोड़फोड़ की गई जिस पर पुलिस को हवाई फायरिंग करनी पड़ी। उधर, मीरजापुर के गैपुरा क्षेत्र में बिरोही गाव के सामने सड़क जाम कर रहे प्रदर्शनकारियों से नाराज एक व्यक्ति ने हवाई फायरिंग कर दी। इससे वहां अफरा-तफरी मच गई। उधर, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि भारत बंद का कोई मतलब नहीं है।

मप्र में नौ जिलों में प्रदर्शनकारी बेकाबू-

मध्य प्रदेश में कुछ जगहों पर प्रदर्शनकारियों ने ट्रेनें रोकीं। जलते टायर फेंके। मंत्रियों व विधायकों के घरों का घेराव किया। एडीएम व एसडीएम के वाहन में तोड़फोड़ की गई। गुना, अशोकनगर, शहडोल, रीवा, सतना सहित नौ जिलों में घटनाएं हुईं। उधर, मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने कहा कि समस्या है तो शांतिपूर्ण तरीके से सामने रखें।

छत्तीसगढ़ में भी धधकी आंदोलन की आग-

आंदोलन की आग छत्तीसगढ़ में भी धधकने लगी है। गुरुवार को अंबिकापुर और बस्तर संभाग के कई इलाकों में भारत बंद का व्यापक असर दिखा। कई शहरों में रैली निकाली गई। सवर्णों ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद के नाम ज्ञापन सौंपा। उधर, रायपुर में सवर्ण समाज के प्रमुखों की बैठक हुई, जिसमें नौ सितंबर को दुर्ग से आंदोलन शुरू करने का फैसला लिया गया है।

राजस्थान में पुलिस और बंद समर्थकों में झड़प-

राजस्थान के ज्यादातर शहरों में बंद का असर दिखा। इस दौरान जयपुर में पुलिस और विरोध प्रदर्शन कर रहे लोगों के बीच झड़प हुई, जिसमें आधा दर्जन लोग घायल हो गए।

Facebook Comments