कार्बन उत्सर्जन कम करने कोयले की सप्लाई घटी, चीन में बिजली की भारी कमी, हीटिंग सिस्टम को बंद करने सरकार के निर्देश

कार्बन उत्सर्जन कम करने कोयले की सप्लाई घटी, चीन में बिजली की भारी कमी, हीटिंग सिस्टम को बंद करने सरकार के निर्देश

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

कार्बन उत्सर्जन कम करने कोयले की सप्लाई घटी, चीन में बिजली की भारी कमी, हीटिंग सिस्टम को बंद करने सरकार के निर्देश

नई दिल्ली। देश में बढते वायू प्रदूषण को कम करने हर देश प्रयास में लगे हुए है। लेकिन इस पर इतनी जल्दी नियंत्रण नही पाया जा सकता। चीन ने कार्बन उत्सर्जन कम करने के उद्देश्य से हर तीन दिन में बिजली उत्पादन करने वाली कम्पनियों 24 घंटे के लिए बंद करने का आदेश दिया गया है।

कार्बन उत्सर्जन कम करने कोयले की सप्लाई घटी, चीन में बिजली की भारी कमी, हीटिंग सिस्टम को बंद करने सरकार के निर्देश

इसका सबसे बड़ा कारण यह माना जा रहा है कि चीन ने 2060 तक कार्बन न्यूट्रल बनाने यानी कार्बन उत्सर्जन बिल्कुल रोक देने की महत्त्वाकांक्षी योजना पर अमल शुरू कर दिया है। इसी के तहत लोगांे को बिजली की कमी को ध्यान में रखते हुए इसके उपयोग पर कई प्रतिबंध लगाये गये हैं।

बिजली की खपत कम करे के लिए अधिकारियों ने चेतावनी जारी करते हुए कहा है कि सुबह और दोपहर जब बिजली की खपत सबसे ज्यादा होती है उस सयम कटौती हो सकती है। चीन सरकार का मानना है कि उद्योग तथा लोगांें को घरों में बिजली की खपत बहुत ज्यादा है।

की मांग को ध्यान में रखते हुए उत्पादन भी ज्यादा करने की आवश्यकता होती हैं। लेकिन इस दौरान बढने वाले कार्बन उत्सर्जन से मानवता पर खतरा भी तो बढता जा रहा है। सरकार का कहना है कि हम मानव समाज को बचा कर ही विकास की ओर अग्रसर होना चाहते हैं। इसके लिए इस तरह के निर्यणय लेने पडेंगे।

किसानों को कृषि बिल समझाने भाजपा लगाएगी गांव के खेतों में चैपाल

किसान आंदोलन : ट्रैक्टर मार्च के बाद, 14 से भूख हड़ताल करेंगे किसान

किसानों का रास्ता रोकने सीमांओं में बढे पुलिसबल, जाम के हवाले हुए पूरा शहर

आक्रोशित हुए किसानों आंदोलन ने किया कटनी मैहर हाइवे जाम, मौके पर पहुंचे अधिकारी

कोरोना सक्रमण को रोकने प्रशासन हुआ सख्त, इस तरह के उठाए जाएगे कदम

आंदोलन संगठनों ने कहा, बात नहीं मानी तो 8 को पूरा भारत बंद

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: 

Facebook WhatsApp Instagram Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *