किसानों के हाथ से निकला आंदोलन ,माओवादी और नक्सल ताकतों ने किया ‘Hijack’- केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

राष्ट्रीय/अंतर्राष्ट्रीय

किसानो के हाथ से निकला आंदोलन ,माओवादी और नक्सल ताकतों ने किया ‘Hijack’- केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल ने शनिवार को प्रेस वार्ता में कहा भारत सरकार के द्वार 24 घंटे किसानों के लिए खुले हैं। उन्होंने कहा अगर ये किसान आंदोलन माओवादी और नक्सल ताकतों से मुक्त हो जाए, तो हमारे किसान भाई-बहन जरूर समझेंगे कि किसान के ये बिल उनके और देशहित के लिए हैं। पियूष गोयल ने कहा किसान के कुछ नेताओं ने इस आंदोलन को हाइजैक कर लिया है। नक्सल-माओवादी ताक़तें जो वहां हावी हो गई हैं…ऐसे में किसानों को समझना पड़ेगा कि ये आंदोलन उनके हाथ से निकल कर इन माओवादी और नक्सल लोगों के हाथ में चला गया है।

 किसानों के हाथ से निकला आंदोलन ,माओवादी और नक्सल ताकतों ने किया 'Hijack'- केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल

केंद्रीय मंत्री पियूष गोयल ने कहा कि विपक्ष के 18 दलों ने मिलकर कोशिश कर ली पर भारत नहीं बंद हुआ। भारत चलेगा, भारत और तेज़ चलेगा, दौड़ेगा। ये विश्वास आज देश में है। देशभर में किसान खुश हैं उन्हें दिख रहा है कि नया निवेश आएगा, इंफ्रास्ट्रक्चर विकसित होगा, रोज़गार के नए अवसर बनेंगे। इन सब अवसरों से माओवादी ताक़तें किसानों को वंचित रखना चाहती हैं।

उन्होंने कहा की वे सभी पॉलिटिकल पार्टियों से डिमांड करता हूं कि उन्हें किसानों को भ्रमित कर उनके कंधों पर एक आंदोलन के रास्ते को प्रोपागेट करने की बजाय इन माओवादी-नक्सल ताक़तों से देश को भली भांति अवगत करवाना चाहिएकेंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा हमने उनकी पुरानी बातों में से निचोड़ निकालकर जो उनके संदेह नज़र आए उस पर एक बहुत अच्छा प्रपोजल दिया लेकिन उस पर भी कोई चर्चा करने को तैयार नहीं है। बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि माओवादी और नक्सल उन्हें चर्चा से रोक रहे हैं।

किसान आंदोलन : ट्रैक्टर मार्च के बाद, 14 से भूख हड़ताल करेंगे किसान

किसानों का रास्ता रोकने सीमांओं में बढे पुलिसबल, जाम के हवाले हुए पूरा शहर

आक्रोशित हुए किसानों आंदोलन ने किया कटनी मैहर हाइवे जाम, मौके पर पहुंचे अधिकारी

कोरोना सक्रमण को रोकने प्रशासन हुआ सख्त, इस तरह के उठाए जाएगे कदम

आंदोलन संगठनों ने कहा, बात नहीं मानी तो 8 को पूरा भारत बंद

ख़बरों की अपडेट्स पाने के लिए हमसे सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर भी जुड़ें: 

Facebook WhatsApp Instagram Twitter | Telegram | Google News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *